बिहार लौटे मजदूरों की हालत ऐसी: छोड़ रहे गृह राज्य, ये है वजह

बिहार लौटे मजदूर अब अपने ही गृह राज्य से पलायन कर रहे हैं। मजदूरों ने दिल्ली-पंजाब और बेंगलुरु की बसें पकड़कर रवानगी शुरू कर दी है।

पटना: कोरोना वायरस के संकट के बीच लॉकडाउन घोषित होने के बाद प्रवासी मजदूरों के अपने गृह राज्यों में वापसी की होड़ मच गयी थी। जिसके बाद श्रमिक पैदल, साइकिल से, बसों-ट्रकों के बुरी तरीके से लद कर संघर्ष करते हुए घर पहुंचे। लेकिन अब इन्ही मजदूरों की अपने गृह राज्यों से दूसरे प्रदेशों की तरफ रवानगी शुरू हो गयी है। ऐसा नजारा बिहार में देखने को मिला।

दूसरे राज्य जा रहे बिहार के मजदूर

दरअसल, बिहार लौटे मजदूर अब अपने ही गृह राज्य से पलायन कर रहे हैं। मजदूरों ने दिल्ली-पंजाब और बेंगलुरु की बसें पकड़कर रवानगी शुरू कर दी है। राज्य के जिन क्षेत्रों से अधिक संख्या में मजदूरों की वापसी शुरू हुई हैं, उनमे कोसी इलाके, सीमांचल और पटना से सटे भोजपुर समेत शाहाबाद जिले शामिल हैं। वहीं आरा, बक्सर, भोजपुर और रोहतास के मजदूर के मजदूर भी दिल्ली की ओर रुख कर रहे हैं।

ये भी पढ़ेंःखतरे में ये महिला सांसद: देश छोड़ने की मिली धमकी, घर पर हुआ हमला

इस वजह से मजदूरों की बिहार से वापसी

मजदूरों और कामगारों की वापसी की वजह उन्हें स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध न कराना है। हलांकि इस सच्चाई से अलग मजदूरों के रोजगार दिए जाने के सरकारी दावे किये जा रहे है। जिन ट्रेनों से मजदूर घर वापस आये थे, उन्ही पर स्वर हो वह पुनः दूसरे राज्य रवाना हो रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः बर्थडे स्पेशल: लालू सत्ता से आउट मगर सियासत से नहीं, विरोधी भी नहीं कर पाते खारिज

गौरतलब है कि गृह मंत्रालय के आदेश के बाद 1 मई को पूरे देश में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की शुरूआत की गई थी। जिसके जरीए केवल एक महीने के भीतर तकरीबन 15 लाख प्रवासी मजदूर बिहार लौटे हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।