सुशांत की बहनों पर FIR: CBI ने कही ये बड़ी बात, फंसी रिया चक्रवर्ती

सुशांत की बहन प्रियंका और मीतू सिंह ने बॉम्बे हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की है और उन्होंने इस एफआईआर को रद्द करने की मांग की है। कोर्ट में सीबीआई ने बुधवार को इसी मामले में अपना पक्ष रखा है।

Sushant Case

सुशांत की बहनों पर FIR: CBI ने कही ये बड़ी बात, फंसी रिया चक्रवर्ती (फोटो: सोशल मीडिया)

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत की आत्म हत्या मामले की जांच सीबीआई कर रही है। रिया चक्रवती ने सुशांत की बहनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है। सीबीआई ने सुशांत की बहनों पर रिया चक्रवर्ती के आरोपों को काल्पनिक बताया है। बॉम्बे हाईकोर्ट में बुधवार को इस मामले सुनवाई है।

सीबीआई ने इस दौरान कहा कि रिया के आरोप अधिकतर काल्पनिक हैं। जांच एजेंसी ने कोर्ट से कहा कि ऐसी काल्पनिक बातों के आधार पर एफआईआर नहीं दर्ज की जा सकती है। बता दें कि सुशांत की बहनों प्रियंका और मीतू सिंह के खिलाफ रिया चक्रवर्ती ने मुंबई पुलिस से शिकायत की थी। रिया के आरोपों के आधार पर मुंबई पुलिस ने सुशांत की बहनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी।

प्रियंका और मीतू सिंह ने बॉम्बे हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की है और उन्होंने इस एफआईआर को रद्द करने की मांग की है। कोर्ट में सीबीआई ने बुधवार को इसी मामले में अपना पक्ष रखा है।

ये भी पढ़ें…मैथमेटिक्स गुरु में गणित की ऐसी दीवानगी, 10 से भी ज्यादा तरीकों से बना सकते हैं एक साल

Rhea Chakraborty

रिया की शिकायत पर पुलिस ने दर्ज किया केस

बता दें कि रिया चक्रवर्ती ने अपने आरोप में कहा था एक फर्जी डॉक्टरी पर्चे के आधार पर सुशांत सिंह राजपूत के लिए बैन दवाओं की खरीदा जाता था। इन आरोपों ने सीबीआई ने कहा है कि सुशांत की बहनों पर दर्ज की गई एफआईआर में रिया के आरोप काल्पनिक हैं। सीबीआई ने कोर्ट को बताया कि वह सुशांत के पिता के रिया और उसके परिवार के खिलाफ की गई शिकायत के आधार पर जांच कर रही है।

ये भी पढ़ें…यूपी की फिल्म सिटीः फिल्में तो बनेंगी, पैसा कैसे निकलेगा ये है बड़ा सवाल

मुंबई पुलिस ने नहीं की प्राथमिक जांच

सुशांत की बहनों ने कोर्ट में 6 अक्टूबर को याचिका दायर की थी। सीबीआई का कहना है कि मुंबई पुलिस को केस दर्ज करने से पहले कम से कम प्राथमिक जांच तो करनी चाहिए थी। सीबीआई ने कहा कि ऐसा कानून है कि एक ही मामले के लिए दो एफआईआर नहीं हो सकती हैं। सीबीआई सुशांत की मौत से संबंधित अन्य पहलुओं कोजांच कर रही है। इस कारण इस मामले में रजिस्टर एफआईआर गैरकानूनी है।

ये भी पढ़ें…पीएम मोदी का दूसरा चुनावी दौरा: तेजस्वी पर हमला, मगर चिराग पर फिर साधी चुप्पी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App