Top

गुजरात में संघ का तीन दिवसीय सम्मेलन आज से, भागवत-नड्डा लेंगे हिस्सा

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 5 Jan 2021 4:51 AM GMT

गुजरात में संघ का तीन दिवसीय सम्मेलन आज से, भागवत-नड्डा लेंगे हिस्सा
X
इस बैठक में मोहन भागवत और नड्डा के अलावा संघ के सरकार्यवाहक  सुरेश भैयाजी जोशी, अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद समेत कई अन्य संगठनों के प्रतिनिधि भी हिस्सा लेंगे।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गांधीनगर: गुजरात के गांधीनगर में पांच जनवरी से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और उसके जुड़े विभिन्न संगठनों की राष्ट्रीय बैठक शुरू हो रही है। ये बैठक सात जनवरी तक चलेगी। जिसमें संघ प्रमुख मोहन भागवत और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद रहेंगे।

ये जानकारी संघ अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार ने दी। उन्होंने बताया कि तीन दिवसीय सम्मेलन में संघ से जुड़े 25 संगठनों के करीब 150 प्रतिनिधि हिस्सा होंगे।

ये सभी लोग अपने अनुभव, फीडबैक और जानकारी एक दूसरे के साथ शेयर करेंगे। उन्होंने बताया कि यह सम्मेलन गांधीनगर में कर्णावती यूनिवर्सिटी परिसर में आयोजित हो रहा है।

Mohan Bhagwat गुजरात में संघ का तीन दिवसीय सम्मेलन आज से, भागवत-नड्डा लेंगे हिस्सा(फोटो:सोशल मीडिया)

किसान आंदोलन: 26 जनवरी को किसानों का ट्रैक्टर परेड, बेटी-बहुएं होंगी शामिल

भागवत और नड्डा के अलावा ये लोग भी बैठक में होंगे शामिल

इस बैठक में मोहन भागवत और नड्डा के अलावा संघ के सरकार्यवाहक सुरेश भैयाजी जोशी, अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, भारतीय मजदूर संघ, राष्ट्र सेविका समिति, स्वदेशी जागरण मंच, विश्व हिंदू परिषद समेत अन्य संगठनों के शीर्ष पदाधिकारी समन्वय बैठक में उपस्थित रहेंगे।

उन्होंने कहा कि महंत नृत्य गोपाल दास की इच्छा पर अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर के लिए घर घर जाकर चंदा जुटाने समेत मौजूदा कई मुद्दों पर भी चर्चा होगी।

जबरदस्त रेल हादसा: पटरी से उतरे 17 डिब्बे, इंजनों का हुआ ये हाल, अधिकारी मौके पर

Mohan Bhagwat गुजरात में संघ का तीन दिवसीय सम्मेलन आज से, भागवत-नड्डा लेंगे हिस्सा(फोटो:सोशल मीडिया)

अनुभव, फीडबैक और जानकारियां एक दूसरे से साझा करेंगे

आमतौर पर बड़े स्तर पर सितंबर में और छोटे समूह में जनवरी में बैठक होती है। लेकिन कोरोना वायरस महामारी के चलते पिछले साल सितंबर में हुई बैठक सीमित स्तर पर हुई थी।

यह बैठक कोई फैसला लेने का मंच नहीं है। सभी संबंधित संगठन स्वतंत्र, स्वायत्त हैं और सबका कार्य क्षेत्र अलग-अलग है। सभी लोग अपने अनुभव, फीडबैक और जानकारियां एक दूसरे से साझा करेंगे ताकि लोगों को फायदा हो सके। उन्होंने बताया कि समन्वय बैठक हर साल दो बार होती है।

बारिश और बर्फबारी का अलर्ट: इन राज्यों में गिरेगा पानी, पड़ेगी कंपाने वाली ठंड

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story