आरक्षण खत्म करने की मांग पर मोहन भागवत ने दिया ये बड़ा बयान

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण पर एक बार फिर बयान दिया है। आरक्षण को खत्म करने की मांग पर आरएसएस प्रमुख ने कहा कि झगड़ की बात क्यों करते हो। सर संघचालक मोहन भागवत अखिल भारतीय समन्वय और प्रतिनिधिमंडल बैठक के लिए राजस्थान के पुष्कर में थे।

नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण पर एक बार फिर बयान दिया है। आरक्षण को खत्म करने की मांग पर आरएसएस प्रमुख ने कहा कि झगड़ की बात क्यों करते हो। सर संघचालक मोहन भागवत अखिल भारतीय समन्वय और प्रतिनिधिमंडल बैठक के लिए राजस्थान के पुष्कर में थे। यहां उनके सामने एक बार फिर आरक्षण का मुद्दा उठा।

यह भी पढ़ें…बड़ा बम धमाका! 50 लोगों की जान जोखिम में, हिल गया पूरा पंजाब

इस बार भागवत के सामने पुष्कर के पुरोहितों ने आरक्षण का मुद्दा उठाया। आरक्षण पर पहले दिए बयानों पर मचे सियासी हंगामे को देखते हुए संघ प्रमुख मोहन भागवत ने इस मामले पर किसी तरह की चर्चा से इंकार कर दिया। उन्होंने पुजारियों से कहा पूजापाठ के समय झगड़े की बात क्यों करते हो?

बता दें कि 18 अगस्त को नई दिल्ली में प्रतियोगी छात्रों के एक सम्मेलन में संघ प्रमुख ने सौहार्दपूर्ण माहौल में आरक्षण पर चर्चा की बात कही थी तो बाद में बीजेपी के विरोधी दलों ने इसे आरक्षण खत्म करने की साजिश बताया था। साथ ही विपक्ष ने हंगामा खड़ा कर दिया था।

यह भी पढ़ें…हुड्डा से झगड़े में छिनी तंवर की कुर्सी, शैलजा के सिर सजा कांटों का ताज

माना जा रहा है कि मामले की नजाकत को भांपते हुए संघ प्रमुख अब आरक्षण पर किसी तरह की चर्चा से बचना चाहते हैं।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तीन दिवसीय अखिल भारतीय समन्वय बैठक 7 सितंबर से शुरू होगी। यह बैठक मोहन भागवत की अध्यक्षता में होगी जिसमें बीजेपी के प्रमुख नेताओं सहित संघ के सभी 36 अनुषांगिक संगठनों के पदाधिकारी भी भाग लेंगे। बैठक में शामिल होने के लिए संघ प्रमुख मंगलवार की शाम ही पुष्कर पहुंचे हैं।