RSS का संविधान! अब दो बच्चों के कानून पर संघ बना रहा प्लान

सीएए और आर्टिकल 370 और तीन तलाक के बाद अब सरकार दो बच्चों का कानून ला सकती है। दरअसल, स्वयं सेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत ने इस बात का ऐलान किया है।

Mohan bhagwat

मुरादाबाद: सीएए और आर्टिकल 370 और तीन तलाक के बाद अब सरकार दो बच्चों का कानून ला सकती है। दरअसल, स्वयं सेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत ने इस बात का ऐलान किया है। आरएसएस का अगला एजेंडा भारत में दो बच्चों के कानून से जुड़ा है। वहीं आरएसएस प्रमुख की तस्वीर के साथ ‘भारत का नया संविधान’ नाम से बुकलेट भी जारी हुआ है। हालाँकि आरएसएस ने इसे उनकी छवि को धुलित करने का प्रयास बताते हुए अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज करवाया है।

दो बच्चों का कानून लाने की तैयारी में संघ:

मुरादाबाद में चार दिवसीय प्रवास के दौरान आरएसएस के प्रमुख मोहन भागवत गुरुवार को एक कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने संघ के नए एजेंडे के बारे में जानकारी दी। भागवत ने कहा कि दो बच्चों का कानून संघ की आगामी योजना है। इसपर सरकार को फैसला लेना है।

ये भी पढ़ें: दिल्ली चुनाव: बीजेपी-कांग्रेस पर सबकी निगाहें, उम्मीदवारों के नामों का ऐलान आज

काशी-मथुरा संघ के एजेंडे में नहीं :

वहीं उन्होंने राम मंदिर मुद्दे पर कहा कि संघ की भूमिका इस प्रकरण में सिर्फ ट्रस्ट निर्माण होने तक है। इसके बाद संघ खुद को इससे अलग कर लेगा। एक प्रश्न के उत्तर में संघ प्रमुख ने कहा कि काशी-मथुरा संघ के एजेंडे में न तो कभी थे और न ही कभी होंगे।

सीएए और आर्टिकल 370 पर संघ सरकार के साथ:

हाल में लागू नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में भागवत ने कहा कि सीएए पर पीछे हटने का प्रश्न ही नहीं है। उन्होंने कहा कि चाहे अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला हो या फिर सीएए लागू करने का, इन सभी पर संघ पूरी तरह सरकार के फैसले के साथ खड़ा है।

ये भी पढ़ें: RSS की बुलाई कांफ्रेंस में जमकर हंगामा, CAA का विरोध कर रहे लोगों का हुआ ये हाल

संघ के नाम पर नया भारतीय संविधान वायरल:

गौरतलब है कि इस दिनों आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की तस्वीर के साथ ‘नया भारतीय संविधान’ नाम से एक विवादित बुकलेट सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

‘नया भारतीय संविधान’ के शीर्षक वाली 16 पेज की इस बुकलेट में कही गई बातें संविधान के खिलाफ हैं। हालाँकि मामले में संघ ने लखनऊ के गोमती नगर और हजरतगंज थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

ये भी पढ़ें: दो दुश्मन देशों में हुई दोस्ती, जानिए क्या होगा भारत पर असर