बेटे-दामाद के चक्कर में, अहमद पटेल फंसे ईडी के ट्रैप में

संदेसरा घोटाला, पीएनबी घोटाले से भी बड़ा है। स्टर्लिंग बॉयोटेक कंपनी लिमिटेड और संदेसरा ग्रुप के तीनों प्रमोटरों, नितिन संदेसरा, चेतन संदेसरा और दीप्ति संदेसरा ने पहले तो फर्जी कंपनियां बनाईं फिर कई बैंकों को करीब 14,500 करोड़ का चूना लगाया।

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता अहमद पटेल पूछताछ करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम उनके घर पहुंची। संदेसरा घोटाला मामले में से ईडी ने अहमद पटेल से चेतन संदेसरा के बारे में पूछताछ की, जो उनके बेटे फैसल पटेल और दामाद इरफान सिद्दीकी का करीबी बताया जाता है।

पूछताछ के पहले दिन अहमद पटेल, ईडी के सामने पेश हुए थे। हालांकि, यह पेशी उनके घर पर ही हुई थी। ईडी के अधिकारी अहमद पटेल के जवाब से संतुष्ट नहीं दिखे थे। अब ईडी के अधिकारी संदेसरा केस के गवाहों और कुछ संदिग्धों के बयान के आधार पर अहमद पटेल से पूछताछ करेंगे।

अहमद पटेल ने ईडी अफसरों को नरेंद्र मोदी और अमित शाह का मेहमान कहा था

बता दें कि संदेसरा बंधुओं के खिलाफ पीएमएलए केस में शनिवार को सीनियर कांग्रेसी नेता अहमद पटेल के आवास पूछताछ के लिए ईडी का दस्ता पहुंचा। घंटों पूछताछ के बाद जब टीम वहां से शाम को लौटी, तो पटेल ने तंज कसते हुए पत्रकारों से कहा कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह के मेहमान (ईडी अफसर) आए थे।

ये भी देखें: WR-V एसयूवी २ : आ रही है जल्द, जानिये इसके कमाल के फीचर्स के बारे में यहां

संदेसरा घोटाला

जानकारी के मुताबिक, संदेसरा घोटाला, पीएनबी घोटाले से भी बड़ा है। स्टर्लिंग बॉयोटेक कंपनी लिमिटेड और संदेसरा ग्रुप के तीनों प्रमोटरों, नितिन संदेसरा, चेतन संदेसरा और दीप्ति संदेसरा ने पहले तो फर्जी कंपनियां बनाईं फिर कई बैंकों को करीब 14,500 करोड़ का चूना लगाया।

ईडी को क्यों जाना पड़ा अहमद पटेल के घर पूछ-ताछ के लिए

संदेसरा घोटाले में अहमद पटेल की पूछताछ उनके घर पर हो रही है। दरअसल, अहमद पटेल ने कहा था कि मेरी उमर 60 के पार हो गई है। उन्होंने पूछताछ के लिए ईडी कार्यालय जाने में असमर्थता व्यक्त की थी। इस कारण ईडी को चल कर उनके दरवाजे पर दस्तक देनी पड़ी है।

ये भी देखें: महिला की इस हालत में मिली लाश, सबने कहा बेहद शर्मनाक

हवाला की 400 करोड़ से ज्यादा की रकम कांग्रेस के खातों में भी आई थी

इससे पहले अहमद पटेल को आयकर विभाग ने 400 करोड़ रुपये के हवाला ट्रांजेक्शन मामले में समन जारी किया था। उन पर पर आरोप है कि हवाला की 400 करोड़ से ज्यादा की रकम कांग्रेस के खातों में भी आई थी। फिलहाल आयकर विभाग के अफसर पूरे मामले की जांच कर रहे हैं।