शरजील पर बड़ा खुलासा: पटना से लेकर दिल्ली जा रही पुलिस, खुलेंगे कई राज

जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र शरजील इमाम को बिहार के जहानाबाद से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। शरजील इमाम पर देशद्रोह का आरोप है।

नई दिल्ली: जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र शरजील इमाम को बिहार के जहानाबाद से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। शरजील इमाम पर देशद्रोह का आरोप है। बिहार के जहानाबाद से शरजील को दिल्ली और बिहार की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आज शरजील इमाम को दिल्ली लाया जाएगा। गिरफ्तारी के बाद जहानाबाद कोर्ट से मंगलवार को दिल्ली पुलिस ने शरजील को ट्रांजिट रिमांड पर लिया था, लेकिन प्रक्रिया में देरी के कारण से उसे दिल्ली नहीं लाया जा सका। देर रात उसे पटना के महिला थाने में रखा गया था। शरजील को लेकर दिल्ली पुलिस बुधवार सुबह पटना एयरपोर्ट पहुंची है।

ये भी पढ़ें:केजरीवाल को ‘AAP’ के इस विधायक ने दिया धोखा, चुनाव से पहले कर दिया ये काम

जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने शरजील इमाम के छोटे भाई से पूछताछ की थी, जिसके बाद उससे मिली जानकारी के आधार पर शरजील इमाम को बिहार और दिल्ली पुलिस के संयुक्त ऑपरेशन में धर दबोचा गया। उसकी गिरफ्तारी मंगलवार दोपहर को हुई है।

शरजील की गिरफ्तारी के बाद उसे कोर्ट में ले जाया गया था, जिसके बाद कोर्ट ने शरजील इमाम को दिल्ली पुलिस की ट्रांजिट रिमांड में 36 घंटे के लिए भेज दिया।

‘जांच में करेंगे सहयोग’

ऐसा बताया जा रहा है कि शरजील इमाम शहीन बाग में CAA के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन के मुख्य संयोजकों में से एक है। गिरफ्तारी के बाद शरजील इमाम ने कहा कि मैंने दिल्ली पुलिस के सामने 28 जनवरी 2020 को दोपहर 3 बजे सरेंडर कर दिया। मैं पहले भी जांच में सहयोग करना चाहता था। मुझे न्याय व्यवस्था में भरोसा है। मेरी सुरक्षा अब दिल्ली पुलिस के हाथ में है। शांति बने रहने दें।

शरजील इमाम की वकील मीशिका सिंह ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखकर कहा है कि हम जांच प्रक्रिया में सहयोग करना चाहते हैं।

मुजम्मिल इमाम से पूछताछ के बाद हुई गिरफ्तारी

ये भी पढ़ें:IND v NZ 3rd T-20: आत्मविश्वास के साथ इतिहास रचने के लिए उतरेगा भारत

खास बात है कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच शरजील के पैतृक आवास काको में सोमवार की रात छापेमारी कर उसके भाई मुजम्मिल इमाम को हिरासत में लिया था और उसकी निशानदेही पर लगातार छापेमारी कर रही थी। शरजील की तलाश में कई और जिलों में दबिश डाली जा रही थी।

पटना हवाईअड्डे के साथ ही राज्य के प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर निगरानी बढ़ा दी गई थी। बिहार और नेपाल सीमा पर भी पुलिस को भी चौंकन्ना रहने का निर्देश दिया गया था। शरजील के नेपाल भागने की भी आशंका जताई जा रही थी। खास बात तो ये है कि शरजील के खिलाफ अरुणाचल, असम, उत्तर प्रदेश और दिल्ली पुलिस ने देशद्रोह सहित कई धाराओं में केस दर्ज किए थे, तभी से शरजील फरार चल रहा था।