प्रिया वर्मा पर बवाल: जानें क्या है पूरा मामला, जिसपर गरमाई MP की सियासत

मध्य प्रदेश में सीएए के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के बीच हुए विवाद से राज्य की सियासत गरमा गयी है।

Published by Shivani Awasthi Published: January 20, 2020 | 1:26 pm
Modified: January 20, 2020 | 1:40 pm

भोपाल: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर विवाद कम नहीं हो रहा। मध्य प्रदेश में सीएए के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं और डिप्टी कलेक्टर (Deputy Collector) प्रिया वर्मा (Priya Verma) के बीच धक्का मुक्की और छोटी खींचने के मामलें में अब सियासत गरमा गयी है। प्रदर्शन में शामिल 650 लोगों पर केस दर्ज हुआ है, वहीं महिला अफसर की चोटी खींचने वाले दो भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफईआर दर्ज हुई है। वहीं पूर्व सीएम और भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान ने मामले में कलेक्टर पर आरोप लगाते हुए इसे हिटलरशाही बताया।

क्या है मामला:

दरअसल, मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में रविवार को प्रदर्शन कर रहे थे। आरोप है कि राजगढ़ डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा ने उन्हें रोक दिया। इसपर भाजपा कार्यकर्ताओं और महिला अधिकारी के बीच धक्कामुक्की शुरू हो गयी। वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि अधिकारी ने एक कार्यकर्ता को थप्पड़ मारे, जिसपर बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने उन्हें घेर लिया। बताया गया कि कार्यकर्ताओं ने महिला अधिकारी की चोटी खींच ली।

ये भी पढ़ें:BJP कार्यकर्ता ने सरेआम खींच ली महिला डेप्युटी कलेक्टर की चोटी, देखें ये Video

650 भाजपा कार्यकर्ताओं में केस दर्ज:

राजगढ़ की महिला डिप्टी कलेक्टर ने घटना के बाद धक्का देने और उनके बाल खींचने के आरोप में भाजपा के दो लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। वहीं पुलिस ने इस मामले में वीडियोग्राफी के आधार 650 लोगों के खिलाफ धारा 144 के उल्‍लंघन को लेकर भी मामला दर्ज किया है। जानकारी के मुताबिक, इसमें 150 लोगों की पहचान हो चुकी है और बाक़ी 500 आरोपियों की अभी तक पहचान नहीं हो सकी है।

शिवराज सिंह चौहान ने उठाये सवाल:

वहीं पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले में डिप्टी कलेक्टर पर आरोप लगाते हुए सवाल किया, ‘क्या वह (डेप्युटी कलेक्टर प्रिया वर्मा) पार्टी की गुलाम हैं? पार्टी के नेताओं के इशारे पर इस तरह का काम करेंगी? वह ध्यान रखें कि वह जनता की सेवक हैं। सत्ता के मद में चूर होकर जिस तरह की घटना उन्होंने की है, उसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।’

ये भी पढ़ें:दु:खी हैं शिवपाल! छलका दर्द कहा- नेता जी के कहने पर बनायी थी पार्टी

इतना ही नहीं शिवराज सिंह चौहान ने डिप्टी कलेक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि अगर उनकी एफआईआर दर्ज नहीं होती है तो वह कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे।

ये भी पढ़ें: भारत का ‘सबसे धनी’ ऑफिसर: इनकी सैलरी और सुविधा, आपको कर देगी हैरान

कांग्रेस का पलटवार:

मामले में कांग्रेस नेता का भी बयान जारी हुआ है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘मध्य प्रदेश के राजगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की गुंडागर्दी सामने आ गई। महिला जिला कलेक्टर और महिला एसडीएम अधिकारियों को पीटा गया, बाल खींचे गए। महिला अधिकारियों की बहादुरी पर हमें गर्व है।’

ये भी पढ़ें:पाकिस्तान की नीच हरकत! भारत-चीन में टकराव के लिए रची ये साजिश

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App