सोलन: इमारत गिरने से 6 सेना के जवान समेत 13 की मौत, जांच के आदेश जारी

बताया जा रहा है कि बिल्डिंग में ढाबा चल रहा था, जहां 34 जवान खाना खाने के लिए रूके हुए थे। घायल जवान सुरजीत ने बताया कि वह ढाबा में खाना खा रहे थे तो आचानक धरती हिली ओर एकदम से पूरी इमारत गिर गई।

सोलन: इमारत गिरने से 6 सेना के जवान समेत 8 की मौत, जांच के आदेश जारी

Himachal Pradesh Solan Guest House Building Falls 35 Army Soldiers Stuck Debris

सोलन: हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के कुम्हारहट्टी-नाहन मार्ग पर एक बहुमंजिला इमारत गिर गई। बिल्डिंग के नीचे सेना के करीब 35 जवान मौजूद थे, जिनमें से 17 को बचा लिया गया है। अभी तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें छह सैनिक भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट आज चाइल्ड रेप मुद्दे पर फिर करेगा सुनवाई, ये राज्य है सबसे सेफ

अभी भी इमारत के मलबे में सेना के कई जवान फंसे हुए हैं। राहत कार्य अभी भी जारी है। बता दें, घटना की सूचना मिलते ही प्रशासन और बचाव दल मौके के लिए रवाना हो गए। घटनास्थल पर पहुंचकर राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जायजा लिया। साथ ही, इस घटना की जांच के भी आदेश दे दिए हैं।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दिए जांच के आदेश

ट्वीट कर मुख्यमंत्री ने बताया कि राहत कार्य में सेना, पुलिस के अलावा एनडीआरएफ की टीमें जुटी हैं। मुख्य सचिव बीके अग्रवाल ने स्थिति से निपटने के लिए एनडीआरएफ से संपर्क साधा और एक टीम को पंचकूला से मौके पर पहुंचने के लिए रवाना किया गया।

यह भी पढ़ें: साक्षी मिश्रा की ये तस्वीरें दे रही उनकें स्वतंत्र होने की गवाही

घटनास्थल पर तत्काल राहत सामग्री पहुंचाने के लिए सुन्नी में मौजूद एनडीआरएफ के तीन जवानों को जरूरी उपकरणों के साथ हेलीकॉप्टर से एयर लिफ्ट कर पहुंचाया गया। इसके बाद हेलीकॉप्टर को आगे भी जरूरी मदद के लिए स्टैंडबाय पर रखा गया।

यह भी पढ़ें: तकनीकी खामी के कारण टला चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण, जल्द होगा नई तारीख का ऐलान

इसके अलावा मानसून सीजन के चलते सुन्नी में तैनात की गई एनडीआएफ की टीम से 29 और जवानों को सड़क मार्ग से घटनास्थल के लिए रवाना किया गया। सोलन के समीप कुमारहट्टी में एक निजी होटल ढहने की अति दुःखद सूचना मिली है। इसमें 40 के करीब लोगों के दबे होने की आशंका है।

बिल्डिंग में चल रहा था ढाबा

बताया जा रहा है कि बिल्डिंग में ढाबा चल रहा था, जहां 34 जवान खाना खाने के लिए रूके हुए थे। घायल जवान सुरजीत ने बताया कि वह ढाबा में खाना खा रहे थे तो आचानक धरती हिली ओर एकदम से पूरी इमारत गिर गई।

यह भी पढ़ें: विंबलडन: फेडरर को हराकर 5वीं बार चैंपियन बने नोवाक जोकोविच

इसके बाद उन्हें कोई पता नहीं चला। उन्होंने बताया कि उनके साथ 30 आर्मी के जूनियर ऑफिसर व चार आर्मी जवान शामिल थे। सभी डगशाई बटालियन के जवान हैं और रविवार का दिन होने के कारण सभी ने लंच बाहर करने का प्लान बनाया था।

हादसे में बाल -बाल बचे बच्चे

बताया जा रहा है कि बिल्डिंग के मालिक साहिल कुमार का परिवार भी यहीं रहता था। गनीमत रही कि हादसे के वक्त बच्चे बाहर खेल रहे थे लेकिन साहिल की पत्नी मलबे में दब गई थी जिसे गंभीर हालत में बाहर निकाला गया।

यह भी पढ़ें: CWC19 Final: बेन स्टोक्स और ‘बाउंड्री’ के दम पर इंग्लैंड बना वर्ल्ड चैंपियन

मुख्य सचिव बीके अग्रवाल ने इस घटना के बाद कहा कि हम जिंदगियां बचाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। राहत कार्य के लिए पंचकूला से एनडीआरएफ की टीम पहुंच गई है। सेना और पुलिस के जवान पहुंच चुके हैं। उन्होंने रविवार शाम को कहा कि दस लोगों को बचाया जा चुका है। हेलीकॉप्टर को मदद के लिए स्टैंडबाई रखा गया है।