स्पाइसजेट बना जेट कर्मचारियों का सहारा, 100 पायलटों समेत 500 को दी नौकरी

एयरलाइन स्पाइसजेट ने कहा है कि उसने पहले ही जेट एयरवेज के 100 पायलट सहित 500 से अधिक कर्मचारियों को नौकरी पर रख लिया है। कंपनी ने कहा है कि वह आगे और भी कर्मचारियों को शामिल करने के लिए तैयार है।

फ़ाइल फोटो

फ़ाइल फोटो

नई दिल्ली: एयरलाइन स्पाइसजेट ने कहा है कि उसने पहले ही जेट एयरवेज के 100 पायलट सहित 500 से अधिक कर्मचारियों को नौकरी पर रख लिया है। कंपनी ने कहा है कि वह आगे और भी कर्मचारियों को शामिल करने के लिए तैयार है। कंपनी आने वाले समय में अधिक संख्या में विमान और नये मार्गों पर सेवायें देने जा रही है।

ये भी पढ़ें…जेट एयरवेज संकट: नरेश गोयल का बोर्ड और चेयरमैन पद से इस्तीफा

गुरुग्राम स्थित इस विमानन कंपनी ने पहले ही अपने बेड़े में 27 और विमानों (22 बोइंग 737 और पांच टर्बोप्रॉप बॉम्बार्डियर क्यू400एस) को शामिल करने की घोषणा की हुई है। कंपनी ने कहा है कि जेट एयरवेज द्वारा अस्थायी रूप से अपनी घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय सेवाओं को बंद करने से पैदा हुई क्षमता की कमी को दूर करने के लिए यह किया गया है।

स्पाइसजेट के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि उनकी एयरलाइन भर्ती में जेट एयरवेज के कर्मचारियों को “पहली प्राथमिकता” दे रहा है।

ये भी पढ़ें…नरेश गोयल ने कर्ज के लिए जेट एयरवेज में अपनी 26 प्रतिशत हिस्सेदारी गिरवी रखी

सिंह ने कहा, “जैसे-जैसे हम विस्तार और विकास कर रहे हैं, हम उन लोगों को पहली वरीयता दे रहे हैं, जिन्होंने जेट एयरवेज के दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से बंद के कारण नौकरी खो दी है।” उन्होंने कहा कि स्पाइसजेट ने हाल ही में 200 से अधिक केबिन क्रू और 200 से अधिक तकनीकी व हवाई अड्डा कर्मचारियों को तथा 100 से अधिक पायलटों को नौकरी पर रखा है।

सिंह ने कहा, “हम और अधिक प्रयास करेंगे। हम अपने बेड़े में जल्द ही बड़ी संख्या में विमानों को शामिल करेंगे।” एयरलाइन ने बृहस्पतिवार को मुंबई और दिल्ली को जोड़ने वाली 24 नई उड़ानें शुरू करने की घोषणा की जिसमें 16 सेवाएं मुंबई और चार दिल्ली को जोड़ने वाली हैं जबकि शेष चार दो महानगरों को जोड़ने वाली थीं। ये उड़ानें 26 अप्रैल से 2 मई के बीच शुरू की जानी हैं।

इस हफ्ते की शुरुआत में, वाहक ने कहा कि यह मुंबई को हांगकांग, जेद्दा, दुबई, कोलंबो, ढाका, रियाद, बैंकाक और काठमांडू जैसे अंतरराष्ट्रीय गंतव्यों के साथ सीधी नॉन-स्टॉप उड़ानों के जरिये जोड़ेगा, जो काम मई-अंत से शुरू होगा। सिंह ने कहा, “स्पाइसजेट यात्रियों की असुविधाओं को कम करने और भारतीय ग्राहकों को बेहतर सेवायें प्रदान करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।”

ये भी पढ़ें…राजश्री पाथी ने जेट एयरवेज के स्वतंत्र निदेशक पद से इस्तीफा दिया

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App