एक हफ्ते का लॉकडाउन: बंद हुए सभी रास्ते, सिर्फ पुलिसकर्मियों की आवाजाही

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जानकारी देते हुए बताया गया कि ये ट्रिपल लॉकडाउन है। इसमें पहले के मुकाबले ज्यादा सख्ती बरती जाएगी।

देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है। देश में आए दिन कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। जिसको लेकर एक बार फिर सरकार के माथए पर चिंता की लकीरें ज़ाहिर होने लगी हैं। ऐसे में केरल में कोरोना के मामलों को बढ़ता देख राज्य सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए तिरूवनंतपुरम में कल सुबह 6 बजे से सख्त से सख्त लॉकडाउन लगाने की घोषणा कर दी है। ये लॉकडाउन एक हफ्ते के लिए रहेगा।

तिरूवनंतपुरम में सख्त लॉकडाउन

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जानकारी देते हुए बताया गया कि ये ट्रिपल लॉकडाउन है। इसमें पहले के मुकाबले ज्यादा सख्ती बरती जाएगी। बता दें तिरूवनंतपुरम में कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या अभी 109 है। जबकि 25 जून को यह संख्या 77 थी। जिले में 13,513 लोगों को निगरानी में रखा गया है। इससे पहले केरल के पर्यटन मंत्री के सुरेंद्रन ने कहा था कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों के साथ तिरूवनंतपुरम जिला ‘सक्रिय ज्वालामुखी पर बैठा है’ और इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि संक्रमण का सामुदायिक प्रसार नहीं होगा। मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने संक्रमण की रोकथाम के लिये और अधिक एंटीजन जांच कराने का निर्णय किया है।

ये भी पढ़ें-    देश में 40 वेबसाइट बैन: मोदी सरकार का बड़ा फैसला, किया ‘डिजिटल एनकाउंटर’

मंत्री ने बताया, “ऐसा है कि हमलोग एक सक्रिय ज्वालामुखी के ऊपर बैठे हैं और यह किसी भी वक्त विस्फोट हो सकता है। अभी तक इस वायरस के संक्रमण का सामुदायिक प्रसार नहीं होने का मतलब यह नहीं है कि ऐसा नहीं होगा।” सुरेंद्रन ने कहा कि निषिद्ध क्षेत्र में प्रतिबंधों को और सख्त किया जायेगा और खाद्य सामग्री की आपूर्ति कराने वाले लड़कों की जांच करायी जायेगी। हाल ही में खाद्य सामग्री की आपूर्ति कराने वाले एक लड़के एवं एक पुलिसकर्मी में संक्रमण की पुष्टि हुई थी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को स्वास्थ्य प्रोटोकॉल लाना पड़ा है।

केरल में सामने आए 225 नए मामले

गौरतलब है कि केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के 225 नए मामले सामने आए। जिसमें राज्य में सेना की एक इकाई के सात जवान भी शामिल हैं। इस तरह, राज्य में संक्रमण के मामले बढ़ कर अब 5,429 हो गए हैं। संक्रमण के जो नए मामले सामने आए हैं। उनमें से 117 मामले विदेशों से लौटे लोगों के हैं। 57 मामले अन्य राज्यों से लौटे लोगों के हैं। वहीं 38 मामले संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आये लोगों के हैं।

ये भी पढ़ें-    ICMR के दावे पर विज्ञान मंत्रालय ने नकारा, कोरोना वैक्सीन के बारे में कही ये बात

राज्य की स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा ने यहां एक बयान जारी कर कहा,‘‘ इनके अलावा डिफेंस सिक्योरिटी कोर (डीएससी) के सात जवान कन्नूर में, सीआईएसएफ के दो जवान, बीएसएफ के दो जवान और जहाज चालक दल के दो सदस्यों के भी संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.’’ बयान में कहा गया कि इलारत 126 लोगों की कोविड-19 जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है और इस रोग से उबरने वाले लोगों की कुल संख्या बढ़ कर 3,174 हो गई है। राज्य में 2,228 संक्रमित लोगों का उपचार चल रहा है।