Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

भारत और अमेरिका के बीच हुए कई समझौते, रक्षा सहयोग बढ़ाने पर बनी सहमति

राजनाथ सिंह ने कहा कि हम भारत-अमेरिका संबंध को 21वीं सदी की सबसे अहम साझेदारियों में से एक बनाने की उम्मीद करते हैं। उन्होंने कहा कि भारत अमेरिका के साथ मजबूत रक्षा साझेदारी को और मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 20 March 2021 10:02 AM GMT

भारत और अमेरिका के बीच हुए कई समझौते, रक्षा सहयोग बढ़ाने पर बनी सहमति
X
भारत और अमेरिका ने संयुक्त बयान जारी किया है। बयान में कहा गया कि दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को आगे बढ़ाने पर सहमति बनी है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन भारत दौरे पर हैं। भारत के तीन दिवसीय दौरे पर दिल्ली पहुंचे अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बीच दिल्ली के विज्ञान भवन में शनिवार को बैठक हुई। इस बैठक में द्विपक्षीय रणनीतिक संबंधों के और विस्तार, भारत-प्रशांत क्षेत्र में स्थिति विकसित करने और आतंकवाद की चुनौतियों को लेकर व्यापक बातचीत हुई।

इस अहम बैठक के बाद भारत और अमेरिका ने संयुक्त बयान जारी किया है। बयान में कहा गया कि दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को आगे बढ़ाने पर सहमति बनी है। अमेरिका के रक्षा मंत्री इस यात्रा को क्षेत्र में अपने करीबी सहयोगियों के साथ संबंधों के लिए बाइडन प्रशासन की प्रतिबद्धता के तौर पर देखा जा रहा है।

इन मुद्दों पर हुई बातचीत

बताचीत के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की तरफ से कहा कि मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि सचिव ऑस्टिन और उनके प्रतिनिधिमंडल के साथ हमारी व्यापक और उपयोगी बातचीत हुई। रक्षा मंत्री ने कहा कि हम व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी की पूरी क्षमता का एहसास करने के लिए दृढ़ हैं। उन्होंने बताया कि रक्षा-सहयोग पर व्यापक रूप से बातचीत, सैन्य विस्तार से सैन्य विस्तार, सूचना साझा करना और रक्षा और पारस्परिक रसद समर्थन के उभरते क्षेत्रों में सहयोग पर बातचीत की गई।



ये भी पढ़ें...नहीं मना सकेंगे होली: त्योहार पर लगा ग्रहण, सरकार ने जारी किया ये आदेश

राजनाथ सिंह ने कहा कि हम भारत-अमेरिका संबंध को 21वीं सदी की सबसे अहम साझेदारियों में से एक बनाने की उम्मीद करते हैं। उन्होंने कहा कि भारत अमेरिका के साथ मजबूत रक्षा साझेदारी को और मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

रक्षा मंत्री ने कहा कि मैं अमेरिका के रक्षा उद्योग को भारत के रक्षा क्षेत्र में उदार एफडीआई नीतियों का लाभ उठाने के लिए आमंत्रित करता हूं। उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ एलईएमओए, सीओएमसीएएसए और बीईसीए जैसे द्विपक्षीय रक्षा समझौतों को लागू करने के कदमों पर केंद्रित चर्चा की गई।

ये भी पढ़ें...बारिश बनी आफत: इस राज्य में फसलें बर्बाद, ओले गिरने से दो की मौत

Rajnath Singh

राजनाथ सिंह ने बताया कि भारतीय सेना और अमेरिका की हिंद-प्रशांत कमान, मध्य कमान और अफ्रीका कमान के बीच सहयोग बढ़ाने पर सहमति बनी है। उन्होंने कहा कि हमने द्विपक्षीय और बहुपक्षीय अभ्यासों का जायजा लिया।

भारत महत्वपूर्ण साथी

राजनाथ सिंह के बाद अमेरिका रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने भी दिया। उन्होंने कहा कि हमारा संबंध स्वतंत्र और खुले भारत-प्रशांत क्षेत्र का एक गढ़ है। अमेरिकी रक्षा मंत्री कहा कि पीएम मोदी ने कहा कि भारत अंतरराष्ट्रीय कानून के पालन में नेविगेशन और स्वतंत्रता की स्वतंत्रता के लिए खड़ा है। यह क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए हमारे साझा दृष्टिकोण की पुष्टि करता है।

अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने कहा कि राजनाथ सिंह और मैंने बहुत सार्थक चर्चा की। अमेरिकी रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत महत्वपूर्ण साथी है।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story