कश्मीर घाटी:सेना का सयुंक्त अभियान,धरती, हवा व पानी कही नहीं बचेंगे आतंकवादी

कश्मीर में सरकार ने आतंकियों से निपटने के लिए बड़ा कदम उठाया। इसमें तीनों सेना के विशेष बल को तैनात करने का निर्णय लिया गया है। थल सेना, नौसेना और वायु सेना के विशेष बल कश्मीर घाटी में आतंकवादियों का सफाया करने के लिए संयुक्त रूप से काम करेंगे।

Published by suman Published: November 24, 2019 | 8:17 pm
Modified: November 24, 2019 | 8:39 pm

जयपुर: कश्मीर में सरकार ने आतंकियों से निपटने के लिए बड़ा कदम उठाया। इसमें तीनों सेना के विशेष बल को तैनात करने का निर्णय लिया गया है। थल सेना, नौसेना और वायु सेना के विशेष बल कश्मीर घाटी में आतंकवादियों का सफाया करने के लिए संयुक्त रूप से काम करेंगे।

 

यह पढ़ें ….डिप्टी सीएम का मोह छोड़ भतीजे अजित ‘चाचा’ के साथ जाने को नहीं तैयार-कही ये बात

इस कैंपेन में तीनों सेनाओं की सबसे अच्छी इकाई- आर्मी के पैरा- स्पेशल फोर्सेज, नेवी के मरीन कमांडोज यानी मार्कोस और एयर फोर्स के गरुड़ स्पेशल फोर्स को तैनात किया गया है। तीनों सेना के विशेष बल संयुक्त रूप से आंतकियों के खिलाफ अभियान चला रहे है। रक्षा मंत्रालय से मिली खबरों के मुताबिक इनकी तैनाती रक्षा मंत्रालय की गठित नई आर्म्ड फोर्सेस स्पेशल ऑपरेशन डिवीजन के द्वारा की गई है।

तीनों सेना के संयुक्त विशेष दल श्रीनगर के पास आतंकियों के गढ़ माने जानेवाले इलाके में तैनात किया गया है।  नौ सेना के मार्कोस कमांडों की और वायु सेना के गरुड़ कमांडों की एक छोटी टीम कश्मीर घाटी में काम कर रही है। पहली बार तीनों सेना की संयुक्त टीम को तैनात किया गया है। उन्होंने बताया कि जल्द मार्कोस और गरुड़ को आतंक-रोधी अभियान में तैनात किया जाएगा।

 

यह पढ़ें ….जांच शुरू: स्विस बैंक में महाराष्ट्र के एक शाही घराने का खाता

नौसेना के मार्कोस कमांडों को जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में स्थित वुलर झील इलाके में तैनात किए गए हैं। वायु सेना के विशेष बल ने पहले भी कश्मीर घाटी में कई सफल ऑपरेशन को अंजाम दे चुकी है। ‘ऑपरेशन राख हाजीन’ के तहत इन्होंने छह आतंकियों को मार गिराया था।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App