Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

किसान हिंसा का जम्मू कनेक्शन, दो की गिरफ्तारी, 26 जनवरी को मचाया उत्पात

ट्रैक्टर परेड हिंसा के दौरान पुलिस ने दो अन्य आरोपियों मोहिंदर सिंह और मनदीप सिंह को गिरफ्तार किया है। जम्मू एंड कश्मीर यूनाइटेड किसान फ्रंट के अध्यक्ष मोहिंदर सिंह ट्रैक्टर परेड हिंसा के मामले में जम्मू से हिरासत में लिए जाने वाले पहले शख्स हैं।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 23 Feb 2021 5:11 AM GMT

किसान हिंसा का जम्मू कनेक्शन, दो की गिरफ्तारी, 26 जनवरी को मचाया उत्पात
X
किसान हिंसा का जम्मू कनेक्शन, दो की गिरफ्तारी, 26 जनवरी को मचाया उत्पात
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 26 जनवरी के दिन ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के मामले में पुलिस का ताबड़तोड़ एक्शन जारी है। इस मामले में पुलिस ने जम्मू से दो अन्य आरोपियों मोहिंदर सिंह और मनदीप सिंह को गिरफ्तार किया है। जम्मू शहर के चाठा के निवासी मोहिंदर सिंह को कल हिरासत में लिया गया है।

मोहिंदर सिंह को पूछताछ के लिए लाया गया दिल्ली

मिली जानकारी के मुताबिक, जम्मू एंड कश्मीर यूनाइटेड किसान फ्रंट के अध्यक्ष मोहिंदर सिंह ट्रैक्टर परेड हिंसा के मामले में जम्मू से हिरासत में लिए जाने वाले पहले शख्स हैं। अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि मोहिंदर सिंह को सोमवार रात हिरासत में लिया गया और इसके बाद तुरंत बाद ही उन्हें पूछताछ के लिए दिल्ली ले जाया गया।

यह भी पढ़ें: कृषि कानूनों पर जंग और तीखी, किसान नेताओं ने दी सरकार को बड़ी चेतावनी

delhi police-violence (फोटो- सोशल मीडिया)

परिवार ने की तत्काल रिहाई की मांग

वहीं सिंह के परिवार का कहना है कि वो निर्दोष हैं और तत्काल उनकी रिहाई की भी मांग की है। सिंह की पत्नी ने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि उन्होंने मुझे बताया था कि जम्मू पुलिस के वरिष्ठ अधीक्षक ने उन्हें बुलाया है और वह गांधी नगर पुलिस थाने जा रहे हैं। इसके बाद से ही उनका फोन बंद आने लगा।

हिंसा के दौरान दिल्ली बॉर्डर पर थे सिंह

पूछताछ करने पर पता चला कि उन्हें पुलिस गिरफ्तार करके दिल्ली ले गई है। सिंह की पत्नी ने दावा किया कि जब हिंसा हुई तब सिंह लाल किले पर नहीं, बल्कि दिल्ली बॉर्डर पर थे। उन्होंने कहा कि वह एसएसपी के पास अकेले गए थे, क्योंकि उन्हें कोई डर नहीं था। उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है।

यह भी पढ़ें: गुजरात निकाय चुनाव 2021ः वोटों की गिनती जारी, BJP-कांगेस के बीच मुकाबला

26 जनवरी के दिन हुई थी हिंसा

गौरतलब है कि केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसान दिल्ली की अलग अलग सीमाओं पर बैठकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी सिलसिले में उन्हें 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर परेड निकाला था। रैली के दौरान उपद्रवियों ने दिल्ली में जमकर हिंसा फैलाई। यहां तक कि कुछ प्रदर्शनकारी लाल किले पर पहुंच गए और उत्पात मचाया। साथ ही उन्होंने लाल किले पर धार्मिक झंडा भी लगा दिया था।

यह भी पढ़ें: गुजरात में ताबड़तोड़ ब्लास्ट: 15 किलोमीटर तक दहला इलाका, मच गयी भगदड़

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story