रिश्तों की नई इबारत लिखेंगे भारत-अमेरिका, ट्रंप के दौरे का बेसब्री से इंतजार

पीएम नरेन्द्र मोदी अपने इस विदेशी मेहमान के स्वागत में कोई कसर बाकी नहीं छोडऩा चाहते। यही कारण है कि उनके दौरे से काफी पहले से ही तैयारियां शुरू हो गई हैं। सबकी नजर ट्रंप के इस महत्वपूर्ण दौरे पर लगी हुई हैं।

नई दिल्ली: दुनिया के सबसे ताकतवर देश के सबसे ताकतवर शख्स यानी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 24-25 फरवरी को भारत के दौरे पर आने वाले हैं। वे दिल्ली, अहमदाबाद और आगरा का दौरा करेंगे। भारत में उनके जोरदार स्वागत की तैयारियां की जा रही हैं। पीएम नरेन्द्र मोदी अपने इस विदेशी मेहमान के स्वागत में कोई कसर बाकी नहीं छोडऩा चाहते। यही कारण है कि उनके दौरे से काफी पहले से ही तैयारियां शुरू हो गई हैं। सबकी नजर ट्रंप के इस महत्वपूर्ण दौरे पर लगी हुई हैं। यद्यपि ट्रंप ने भारत के साथ ट्रेड डील बाद में करने की बात कही है मगर माना जा रहा है कि इस दौरे के दौरान दोनों संबंधों की नई इबारत लिखेंगे। ट्रंप ने कहा है कि वह भारत के साथ एक बड़ा व्यापार समझौता करना चाहते हैं, लेकिन इसे वह अभी नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि यह समझौता नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले किया जाएगा।

ऐतिहासिक स्वागत की तैयारी

गुजरात में ट्रंप के स्वागत को ऐतिहासिक बनाने की तैयारी है। ट्रंप के स्वागत के लिए अहमदाबाद पूरी तरह से तैयार है। यहां पर ट्रंप और नरेंद्र मोदी दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। इसके अलावा एयरपोर्ट से मोटेरा स्टेडियम तक दोनों नेता रोड शो करेंगे। ट्रंप के स्वागत के लिए ट्रंप और मोदी की पेंटिंग बनाई गई हैं। इसे बनाने वाले अशोक बडजादिया का कहना है कि ग्रीन एनवायरमेंट के मैसेज के साथ इस पेंटिंग को बनाया गया है। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में होने वाले कार्यक्रम का नाम अब ‘केम छो ट्रंप’ की जगह ‘नमस्ते ट्रंप’ कर दिया गया है। अहमदाबाद के प्रशासन ने इसकी पुष्टि की है और पोस्टर भी जारी किए हैं। ट्रंप पीएम मोदी के साथ साबरमती आश्रम भी जाएंगे। साबरमती आश्रम में महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के बाद दोनों नेता मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम का उद्घाटन करेंगे।

ये भी देखें: सावधान पुजारियों : चढ़ावे का पैसा इन जगहों पर लगाया तो जाओगे लंबी जेल 

दीवार खड़ी करने पर विवाद

ट्रंप का दौरा जहां गुजरातियों के लिए खुशखबरी है वहीं करीब 45 परिवारों के लिए यह किसी सदमे से कम नहीं है क्योंकि उन पर बेघर होने का संकट आ गया है। अहमदाबाद एयरपोर्ट से साबरमती आश्रम की तरफ आने वाली सडक़ के किनारे बसे झुग्गी-झोपड़ी ट्रंप को दिख न जाएं, इसके लिए वहां दीवार खड़ी कर दी गई है। दीवार खड़ी करने की खबर सोशल मीडिया पर खूब शेयर की गई है और इसे लेकर पीएम मोदी पर जमकर हमले भी किए गए। अब ट्रंप के दौरे की वजह से मोटेरा स्टेडियम के आसपास बसे स्लम में रहने वाले 45 परिवारों पर बेघर होने का संकट आ गया है। अहमदाबाद नगर निगम ने 45 परिवारों को उनके रहने की जगह को खाली करने का नोटिस दिया है। हालांकि म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने इस तरह का नोटिस देने की खबर से इनकार किया है।

ट्रंप के इस बयान ने चौंकाया

पत्रकारों से बातचीत के दौरान ट्रंप ने कहा कि हम भारत के साथ व्यापार समझौता कर सकते हैं, लेकिन मैं बाद के लिए बड़े समझौते को बचा रहा हूं। यह पूछे जाने पर कि क्या यात्रा से पहले वह भारत के साथ एक व्यापार समझौते की उम्मीद करते हैं, ट्रंप ने कहा कि भारत के साथ बड़ा व्यापार समझौता तो होगा, हम यह जरूर करेंगे। लेकिन पता नहीं चुनाव से पहले यह हो पाएगा या नहीं। यात्रा से पहले ट्रंप का यह कहना अचरज भरा रहा कि भारत ने अमेरिका के साथ व्यापार में कभी अच्छा व्यवहार नहीं किया। वैसे उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह भारत यात्रा को लेकर काफी उत्सुक हैं। उन्होंने कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी को बहुत पसंद करता हूं।

ये भी देखें: भारत में बैन ये 5 फिल्में! लेकिन मजे की बात यूट्यूब पर ​हैं उपलब्ध

ट्रेड डील की संभावना खारिज नहीं

दूसरी ओर मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक भारत और अमेरिका ट्रंप की यात्रा के दौरान व्यापार पैकेज पर हस्ताक्षर कर सकते हैं। भारत के साथ व्यापार समझौता कराने में अहम भूमिका निभाने वाले अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटहाइजर भारत यात्रा के दौरान ट्रंप के साथ रहेंगे। अमेरिकी अधिकारियों ने भी कहा कि ट्रंप की यात्रा के दौरान ट्रेड डील की संभावना को पूरी तरह से खारिज नहीं किया जा सकता।

ताजमहल का दीदार भी करेंगे ट्रंप

यात्रा के दौरान ट्रंप ताजनगरी आगरा में खूबसूरत ताजमहल का भी दीदार करेंगे। इस दौरान उनका ऐतिहासिक अभिनंदन होगा। उनके स्वागत की तैयारियों की समीक्षा करने के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से कहा कि ट्रंप के स्वागत-सत्कार में उत्सव की अनुभूति होनी चाहिए। ट्रंप जब 24 फरवरी को ताजमहल देखने पहुंचेंगे तो रास्ते भर स्कूली बच्चे भारत और अमेरिका के झंडों को लेकर उनका स्वागत करते नजर आएंगे। रास्ते में करीब तीन हजार डांसर्स चौराहों पर नृत्य करते भी नजर आएंगे। आगरा एयरपोर्ट से 24 फरवरी को ट्रंप का काफिला सिर्फ 12 मिनट में 15 किलोमीटर रास्ता तय कर ताजमहल पहुंचेगा। उनकी सुरक्षा के लिए छह हजार पुलिसकर्मी तैनात किए जा रहे हैं। सुरक्षा में एनएसजी और एटीएस के कमांडो भी तैनात रहेंगे। उनके रूट पर पडऩे वाले मकानों में रहने वाले किरायेदारों का सत्यापन भी किया गया है।

ये भी देखें: फोन है या रबड़: खींचोगे तो बड़ा होगा फोन, कमाल की चीज है ये भाई

विपक्ष का मोदी सरकार पर हमला

ट्रंप के स्वागत की तैयारियों को लेकर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने सवाल खड़े किए हैं। चौधरी ने कहा कि ट्रंप भगवान राम हैं क्या, हमारे लिए? उनके लिए 70 लाख लोगों को खड़ा करने की क्या जरूरत है? उनकी पूजा करने के लिए हिन्दुस्तान के लोग तो नहीं रहेंगे। उन्होंने कहा कि ट्रंप अपना हित साधने भारत आ रहे हैं। एएनआई से बातचीत में अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि अमेरिका के बाजार में वह हमें नहीं जाने देना चाहते हैं। इसलिए अमेरिका ने ट्रेड डील नहीं करने का ऐलान किया है। ट्रंप की कोशिश है कि अमेरिका भारत में ज्यादा से ज्यादा माल बेचो। सामने चुनाव है, मोदी जी को सामने रखकर वो भारतीय समुदाय का ज्यादा से ज्यादा वोट लेना चाहते हैं। शिवसेना ने भी ट्रंप के दौरे को लेकर
मोदी सरकार पर निशाना साधा है। शिवसेना ने ट्रंप की बहुप्रतीक्षित भारत यात्रा के लिए हो रही तैयारी भारतीयों की गुलाम मानसिकता को प्रदर्शित करती है। सामना के संपादकीय में कहा गया कि ट्रंप की भारत यात्रा किसी बादशाह की यात्रा की तरह है। ट्रंप की यात्रा के लिए करदाताओं के पैसे से ऐसी तैयारियां हो रही हैं जो भारतीयों की गुलाम मानसिकता का परिचायक है।

ट्रंप का अनोखा भक्त, रोज करता है पूजा

भारत में ट्रंप का एक ऐसा अनोखा भक्त है जो रोजाना अपने फेवरेट लीडर की न केवल पूजा करता है बल्कि उनकी प्रतिमा का हर दिन दूध अभिषेक भी करता है। तेलंगाना के कोन्ने के रहने वाले बुसा कृष्णा राष्ट्रपति ट्रंप के गजब के मुरीद हैं। वे ट्रंप से इस कदर प्रभावित हैं कि सुबह-शाम उनकी पूजा करते हैं। उनका कहना है कि मैं ट्रंप के प्रति वैसे ही आस्था रखता हूं, जैसे मेरा परिवार भगवान शिव के प्रति आस्था रखता है। कृष्णा ने अपने घर पर ट्रंप का 6 फीट ऊंचा स्टैच्यू बनवा रखा है जिसका वह रोज दूध से अभिषेक भी करते हैं। पिछले साल ट्रंप के जन्मदिन पर उन्होंने इस प्रतिमा का निर्माण करवाया था। वे ट्रंप के ऐसे दीवाने हैं कि उन्होंने घर की दीवारों पर भी ट्रंप का नाम भी खुदा रखा है।

ये भी देखें: महाशिवरात्रि को धूमधाम से निकलेगी शिव बारात की शोभायात्रा

ट्रंप के लिए प्रेम की वजह बताते हुए कृष्णा बताते हैं कि चार साल पहले ट्रंप मेरे सपने में आए थे। उसके बाद से मैं हर रोज उनकी पूजा करता हूं। उनका मानना है कि ट्रंप के सपने में आने के बाद उनकी किस्मत बदल गयी और बिजनेस काफी अच्छा हो गया। धीरे-धीरे कृष्णा का ट्रंप के लिए प्यार आस्था और भक्ति में बदल गया और उन्होंने भगवान की पूजा करने के बजाय ट्रंप की पूजा शुरू कर दी। वे ट्रंप के भारत के दौरे के समय उनसे मिलना भी चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने केंद्र सरकार से अनुरोध भी किया है।