पालघर में साधुओं की हत्या: कांग्रेस ने ढूढ़ निकाला BJP कनेक्शन

महाराष्ट्र के पालघर में साधुओं की हत्या के बाद देश की सियासत में तूफान गया है। बीजेपी और कांग्रेस में जुबानी शुरू हो गई है। अब इस बीच कांग्रेस ने दावा किया है कि साधुओं की हत्या में शामिल दो आरोपियों का संबंध बीजेपी से है।

मुंबई: महाराष्ट्र के पालघर में साधुओं की हत्या के बाद देश की सियासत में तूफान गया है। बीजेपी और कांग्रेस में जुबानी शुरू हो गई है। अब इस बीच कांग्रेस ने दावा किया है कि साधुओं की हत्या में शामिल दो आरोपियों का संबंध बीजेपी से है और पार्टी उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। हालांकि बीजेपी ने कांग्रेस के इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है। बीजेपी ने कहा कि उसके द्वारा बताए जा रहे दोनों पार्टी के सदस्य नहीं हैं।

महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि ईश्वर निकुले और भाऊ साठे को आरोपी संख्या क्रमश: 61 और 65 के रूप में नामजद किया गया है। वे दोनों पालघर जिले में बीजेपी की दहानु मंडल इकाई के पदाधिकारी हैं।

यह भी पढ़ें…CM योगी ने किया बड़ा एलान, UP में 30 जून तक कोई सामूहिक कार्यक्रम नहीं

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि बीजेपी को अपने पदाधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए जो दो साधुओं और उनके चालक की हत्या के आरोपी हैं। इसके साथ ही केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी की सरकार को भीड़ हिंसा पर रोक लगाने के लिये कानून बनाना चाहिए।

यह भी पढ़ें…कोरोना मरीज ने अस्पताल में किया भांगड़ा, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

उन्होंने कहा कि निकुले ने बीजेपी दहानु मंडल के आधिकारिक फेसबुक पेज पर गादचिंकल गांव के बूथ स्तरीय पदाधिकारी के तौर पर है। इसी गांव में बच्चा चोर होने के संदेह में भीड़ ने बृहस्पतिवार रात दो साधुओं और एक ड्राइवर की पीट-पीट कर निर्मम हत्या कर दी थी। इस मामले में 100 से अधिक लोगों को आरोपी के तौर पर नामजद किया गया है।

यह भी पढ़ें…जमात के नाम पर मुस्लिमों का उत्पीड़न: पूर्व नौकरशाहों ने मुख्यमंत्रियों को लिखी चिट्ठी

सावंत ने आरोप लगाया कि साठे भी बीजेपी का इसी गांव के बूथ स्तरीय पदाधिकारी है। कांग्रेस के प्रवक्ता ने कहा कि ग्राम पंचायत सरपंच चित्रा चौधरी को भी तस्वीरों में देखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि बीजेपी पिछले 10 साल से इस ग्राम पंचायत पर काबिज है। उनका कहना है कि शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस गठबंधन की महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार भीड़ हिंसा की इस घटना में संलिप्त लोगों को अदालत के कठघरे में ले जाएगी और सजा दिलाएगी।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App