आतंकियों के खून से सना कश्मीर: किया ऐसा हाल, सुन कांप उठेगा पाकिस्तान

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता हाथ लगी है। जहां शुक्रवार-शनिवार के बीच देर रात दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने मौत के घाट उतार दिया।

Published by Shivani Awasthi Published: February 22, 2020 | 8:49 am
Modified: February 22, 2020 | 8:54 am

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता हाथ लगी है। जहां शुक्रवार-शनिवार के बीच देर रात दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने मौत के घाट उतार दिया। बताया जा रहा है कि दोनों आतंकी लश्कर ए तैयबा से जुड़े हुए थे।

सुरक्षाबलों ने किया लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकी ढेर:

खबर, जम्मू-कश्मीर से है, जहां आज बीती देर रात सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हो गयी। मुठभेड़ में जमकर दोनों ओर से गोलियां तड़तड़ाई। यह पूरी घटना जिले के बिजबेहरा इलाके में हुई।इस दौरान सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया।

ये भी पढ़ें: शाहीन बाग पर बोले केरल के राज्यपाल, बात मनवाने के लिए जिद्द करना भी आतंकवाद

पुलिस, सीआरपीएफ और सेना की बड़ी कामयाबी:

बताया जा रहा है कि मारे गये आतंकी लश्कर-ए-तैयबा संगठन के थे। इस बारे में कश्मीर जोन पुलिस ने ट्वीट कर जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि पुलिस, सीआरपीएफ और सेना द्वारा किये गये ऑपरेशन में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकी मार गिराये गए है। उनके पास से हथियार और गोलाबारूद बरामद हुए हैं।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान जिंदाबाद के बाद अब कश्मीर और मुस्लिम मुक्ति का बैनर दिखाकर विरोध

एक पाकिस्तानी सैनिक को भी मार गिराया

बता दें कि इससे पहले भारतीय सेना ने पाकिस्तान को उसके नापाक मंसूबों के लिए करार जवाब दिया था। बीते दिन सीज फायर उल्लंघन करने पर भारतीय सेना ने पाकिस्तान के एक सैनिक को मार गिराया था। वहीं इस हमले में पाकिस्तान को काफी नुकसान हुआ था। उनके कई सैनिक घायल हो गये थे।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में एलओसी पर लगातार पाकिस्तान संघर्षविराम का उल्लंघन कर रहा है, तो वहीं आंतकियों को घुसपैठ कराने की फिराक में भी लगा हुआ है। इसके जरिये वह कश्मीर की शांति भंग करने के साथ ही भारत को लगातार चुनौती देता रहता है।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के ये मुस्लिम: जिन्होंने भारत में बनाई ऐसी पहचान, जान रह जाएंगे दंग

पाकिस्तान की साजिशों और आतंकी प्रभाव को कम करने के लिए भारतीय सेना ‘ऑपरेशन मां’ चला रही है। इसके तहत आतंकवादी बन चुके युवाओं को समझाने-बुझाने के लिए उनकी मां या परिवार के सदस्यों को मौका दिया जाता है।बता दें कि जम्मू-कश्मीर में कई युवा आतंकियों और कट्टरपंथियों के चक्कर में पड़कर आतंक का रास्ता अपना लेते हैं। आतंक के आका इन युवाओं को बरगला कर गलत रास्ते पर ले जाते हैं।

ये भी पढ़ें: भारत में सस्ती शराब: सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला, बेचने वालों को मिले फायदे

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।