Top

आ गई UGC की गाइडलाइन, जानिए कब होगी यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं, डिटेल्स जारी

देशभर में कोरोना वायरस के मामले तेजी से फैल रहे हैं। इस देखते हुए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने विश्वविद्यालयों की फाइनल ईयर/सेमेस्टर की परीक्षाओं और शैक्षणिक कैलेंडर को लेकर सोमवार को नई गाइडलाइन जारी कर दी है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 6 July 2020 7:46 PM GMT

आ गई UGC की गाइडलाइन, जानिए कब होगी यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं, डिटेल्स जारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: देशभर में कोरोना वायरस के मामले तेजी से फैल रहे हैं। इस देखते हुए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने विश्वविद्यालयों की फाइनल ईयर/सेमेस्टर की परीक्षाओं और शैक्षणिक कैलेंडर को लेकर सोमवार को नई गाइडलाइन जारी कर दी है। मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर एकेडमिक गाइडलाइन जारी की है।

यूजीसी की नई गाइडलाइन में कहा गया है कि इंटरमीडिएट सेमेस्टर के छात्रों का मूल्यांकन आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर किया जाएगा। नये दिशानिर्देश के अनुसार टर्मिनल सेमेस्टर के छात्रों का मूल्यांकन जो जुलाई के महीने में परीक्षाओं के माध्यम से होना था, अब उनकी परीक्षाएं सितंबर-2020 के अंत तक आयोजित होंगी।

गौरतलब है कि यूजीसी ने पहले निर्णय लिया था कि विश्वविद्यालयों की फाइनल ईयर की परीक्षाओं का आयोजन होना चाहिए जबकि फर्स्ट ईयर के छात्रों को सेकंड ईयर में प्रमोट कर दिया जाएगा। उन्हें नंबर इंटरनल असेसमेंट के आधार पर दिए जाएंगे।



यह भी पढ़ें...भारतीय रेल: झांसी ने हासिल की बड़ी उपलब्धि, ट्रेनों के समय पालन में बनाया रिकॉर्ड

मानव संसाधन विकास मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि विश्वविद्यालय कोविड-19 (Covid-19) के प्रकोप के चलते स्थगित की गईं अंतिम वर्ष की परीक्षाएं ऑनलाइन, ऑफलाइन या दोनों माध्यमों से आयोजित की जा सकती है। मंत्रालय ने कहा है कि अंतिम वर्ष की परीक्षाएं नहीं दे पाए छात्रों को एक और मौका मिलेगा, विश्वविद्यालय जब उचित होगा तब विशेष परीक्षाएं आयोजित करेंगे।

यह भी पढ़ें...गजब का जुगाड़: 9वीं के छात्र ने कबाड़ से बनाई बाइक, हुनर ने दिलाया सम्मान

बता दें कि कोरोना के मामले एक जुलाई तक कम होने की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अब, छात्रों और अभिभावकों के अलावा कई राज्य सरकारें भी इसका विरोध कर रही हैं।

यह भी पढ़ें...आर्यन नर्वत: ऐसी शख्सियत जिसने लोगों को दी नई जिंदगी, समाज सेवा ही माना धर्म

यूजीसी की ओर से पहले जारी किए गए दिशानिर्देशों के अनुसार यह भी जानकारी दी गई थी कि विश्वविद्यालय और कॉलेज एक बार फिर से कैसे काम करेंगे।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story