Top

शिप्रा नदी विस्फोट मामले में चौंकाने वाला खुलासा, ONGC पता लगाएगी सच

नदी में हो रहे विस्फोट की जांच जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) भोपाल की टीम ने भी की है। इससे पहले GSI की टीम ने जांच के लिए नदी से गाद और पानी के सैंपल इकट्टा किए थे। हालांकि जांच रिपोर्ट अभी सार्वजनिक नहीं की गई है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 14 March 2021 1:56 PM GMT

शिप्रा नदी विस्फोट मामले में चौंकाने वाला खुलासा, ONGC पता लगाएगी सच
X
शिप्रा नदी में विस्फोट में बड़ा खुलासा हुआ है। नदी में किसी भी तरह का गैस रिसीव नहीं मिला है। अब इस मामले में ONGC ने जांच शुरू की है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उज्जैन: मध्य प्रदेश के उज्जैन में शिप्रा नदी में विस्फोट में बड़ा खुलासा हुआ है। नदी में किसी भी तरह का गैस रिसीव नहीं मिला है। अब इस मामले में ONGC ने जांच शुरू की है। जांच टीम यह पता लगाने की कोशिश करेगी कि विस्फोट की वजह क्या है।

रविवार को देहरादून से ONGC जनरल मैनेजर (कैमेस्ट्री) अमित सक्सेना और सीनीयर जियोलॉजिस्ट अजय एन लाल उज्जैन पहुंचे। इन अधिकारियों ने शिप्रा नदीं के अंदर की मिट्टी और पानी का सैंपल लिए। यह टीम 15 दिन के अंदर कलेक्टर को जांच रिपोर्ट सौंपेगी।

जांच टीम में शामिल जियोलॉजिस्ट अजय एन लाल ने जानकारी दी कि फिलहाल सैंपल लिए गए हैं। इसलिए अभी किसी नतीजे पर पहुंचना जल्दबाजी होगी। उन्होंने कहा कि जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। उन्होंने बताया कि अभी तक जिस भी स्पॉट को देखा गया है वहां पानी में न तो बुलबुले निकल रहे हैं और न ही किसी तरह की गैस का रिसाव नजर आया है। इसलिए फिलहाल कुछ नहीं कहा जा सकता है।

ये भी पढ़ें...बारिश लाएगी कहर: इन राज्यों में ओले-बर्फबारी के आसार, लुढ़केगा पारा, अलर्ट जारी

GSI ने भी जांच

नदी में हो रहे विस्फोट की जांच जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) भोपाल की टीम ने भी की है। इससे पहले GSI की टीम ने जांच के लिए नदी से गाद और पानी के सैंपल इकट्टा किए थे। हालांकि जांच रिपोर्ट अभी सार्वजनिक नहीं की गई है।

ये भी पढ़ें...किसान ने बना दी इलेक्ट्रिक कार, 8 घंटे में फुल चार्ज, जानें इसकी खासियत

प्रशासन में हड़कंप

बता दें कि फरवरी के आखिरी और मार्च के पहले हफ्ते में विस्फोट की जानकारी सामने आई थी जिसके बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया। इसके बाद उज्जैन के कलेक्टर आशीष सिंह ने भूगर्भीय जानकारों की मदद लेने और जांच के लिए GSI की टीम को मेल कर कहा था। इसके बाद GSI ने अपनी जांच में मीथेन और इथेन गैस की आशंका जताई थी। इसके बाद कलेक्टर ने ONGC उत्तराखंड देहरादून की टीम को जांच के लिए कहा था।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story