मेघालय के लिए अमित शाह बोले- क्रिसमस बाद करेंगे नागरिकता कानून पर विचार

अमित शाह ने शनिवार को कांग्रेस पर नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के खिलाफ हिंसा भड़काने का आरोप लगाया। इसके साथ ही उन्होंने नॉर्थ ईस्‍ट खासकर मेघालय को उम्‍मीद दी है कि क्रिसमस के बाद वह नागरिकता कानून पर विचार किया जाएगा।

Published by suman Published: December 15, 2019 | 9:03 pm

गिरिडीह: अमित शाह ने शनिवार को कांग्रेस पर नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के खिलाफ हिंसा भड़काने का आरोप लगाया। इसके साथ ही उन्होंने नॉर्थ ईस्‍ट खासकर मेघालय को उम्‍मीद दी है कि क्रिसमस के बाद वह नागरिकता कानून पर विचार किया जाएगा। गृह मंत्री ने गिरिडीह, बाघमारा और देवघर विधानसभा क्षेत्रों में चुनावी जनसभाओं में कहा कि ‘हम नागरिकता संशोधन अधिनियम लेकर आए हैं और कांग्रेस को पेट दर्द होने लगा है. वह उसके खिलाफ हिंसा भड़का रही है।’

अमित शाह ने पूर्वोत्तर के लोगों को आश्वासन दिया कि इस अधिनियम से उनकी संस्कृति, भाषा, सामाजिक पहचान और राजनीतिक अधिकार प्रभावित नहीं होंगे। उन्होंने कहा, मैं असम और पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि उनकी संस्कृति, सामाजिक पहचान, भाषा, राजनीतिक अधिकारों को नहीं छुआ जाएगा तथा नरेंद्र मोदी सरकार उनकी रक्षा करेगी।

यह पढ़ें…घास से महकेंगी गंगा: ये तकनीक है लाजवाब, जल्द होगा असर

गृहमंत्री ने कहा, वो मेघालय  के सीएम कोनराड संगमा से मुलाकात की है ‘उन्होंने कहा कि मेघालय में समस्या है। उन्हें समझाने का प्रयास किया कि कोई मुद्दा नहीं है। उसके बाद भी उन्होंने  (कानून में) कुछ बदलाव करने को कहा।’ उन्होंने कहा, संगमा जी को क्रिसमस के बाद समय मिलने पर फिर से मिलने को कहा। मेघालय के वास्ते रचनात्मक तरीके से समाधान ढूंढने के लिए सोच सकते हैं। किसी को डरने की जरूरत नहीं है।

 

’ राहुल गांधी पर वार करते हुए अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष बस शोर मचा रहे हैं और उन्हें भारत के इतिहास की जानकारी नहीं है और उन्होंने अपनी आंखों पर इतालवी चश्मालगा रखा है।  अमित शाह ने यह भी कहा कि कांग्रेस भाजपा पर मुसलमान विरोधी होने का आरोप लगाती है लेकिन यही राजग सरकार है जो तीन तलाक कानून लाई। गृहमंत्री ने मतदाताओं से राज्य से वाम चरमपंथ को उखाड़ फेंकने के लिए भाजपा सरकार को फिर से सत्ता में लाने की अपील की।

 

यह पढ़ें…. देवेंद्र फडणवीस ने कहा- विधानसभा में राहुल के खिलाफ विपक्ष लाएगा निंदा प्रस्ताव

उन्होंने कहा, ‘झारखंड की भाजपा नीती सरकार ने नक्सलवाद को जमीन के 20 फुट नीचे दफना दिया। राज्य में  भाजपा अनुसूचित जाति एवं जनजाति का कोटा घटाये बिना ही अन्य पिछड़ा वर्ग का आरक्षण बढ़ाएगी। इस दौरान उन्होंने देवघर के वैद्यनाथ धाम मंदिर में पूजा अर्चना भी की। गिरिडीह, बाघमारा और देवघर में चौथे चरण में 16 दिसंबर को मतदान है।