जमातियों की खैर नहीं: बन गई अब स्पेशल टीमें, ऐसे करेंगी काम

राज्य में जमातियों की तलाश के लिए उत्‍तराखंड पुलिस ने स्‍पेशल टीम का गठन किया है। इस अभियान के लिए गठित की गई स्पेशल टीम का काम सूबे में मौजूद जमातियों की पहचान कर उन्हें क्वारनटाइन सेंटर पहुंचाना होगा।

Published by Shreya Published: April 10, 2020 | 3:22 pm
Modified: April 10, 2020 | 4:02 pm
जामतियों की खैर नहीं: बन गई अब स्पेशल टीमें, ऐसे करेंगी काम

जामतियों की खैर नहीं: बन गई अब स्पेशल टीमें, ऐसे करेंगी काम

देहरादून: जब से दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित तबलीगी जमात का कोरोना कनेक्शन सामना आने के बाद सरकार के लिए चिंतापूर्ण स्थिति पैदा हो गई। साथ ही तब्‍लीगी जमात की लापरवाही के चलते पूरे देश में तेजी से कोरोना वायरस का मामला बढ़ा। वहीं देश के अलग-अलग हिस्सो में अब भी दिल्ली के तबलीगी जमात के मरकज में शामिल होने वाले जमातियों की तलाश की जा रही है।

अभियान के लिए गठित की गई स्पेशल टीम

वहीं अब इस अभियान के लिए उत्‍तराखंड पुलिस ने स्‍पेशल टीम का गठन किया है। इस अभियान के लिए गठित की गई स्पेशल टीम का काम सूबे में मौजूद जमातियों की पहचान कर उन्हें क्वारनटाइन सेंटर पहुंचाना होगा। उत्‍तराखंड पुलिस की इस स्‍पेशल टीम को, पिछले कुछ समय में, देश के दूसरे राज्‍यों में आयोजित मरकज में शामिल होकर आए 13 जमातियों की पहचान करने के लिए कहा गया है।

यह भी पढ़ें: वुहान में अकेला भारतीय: मौत के शहर में ऐसे लड़ी जंग, सलाम कर रही पूरी दुनिया

1,000 से ज्यादा जमातियों को किया गया क्वारनटीन

फिलहाल उत्तराखंड में एक हजार से ज्यादा जमातियों को क्वारनटीन किया जा चुका है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, राज्य के करीब 270 जमाती ऐसे हैं, जो अभी भी अन्य राज्यों में हैं। ये लोग राज्य से जमात में शामिल होने के लिए निकले थे, लेकिन अभी भी इनका कोई पता नहीं चला है। अब उत्‍तराखंड पुलिस लगातार इन जमातियों की तलाश में जुटी हुई है और पता लगा रही है कि ये लोग किन-किन राज्यों में हैं और किस स्थिति में हैं।

यह भी पढ़ें: नहीं रहे दिग्गज नेता, पार्टी थी संसार और बनी गई मौत का कारण

अन्य राज्यों के पुलिस अधिकारियों से संपर्क

उत्‍तराखंड पुलिस के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि उत्तराखंड लापता जमातियों का पता लगाने के लिए लगातार जम्मू-कश्मीर, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्र और राजस्थान पुलिस अधिकारियों के संपर्क में हैं। सभी राज्यों की पुलिस से जमातियों से जुड़े तथ्यों के बारे में साझा किया गया है।

दूसरे राज्यों की पुलिस के साथ शेयर की गई जानकारी

इसके अलावा उत्तराखंड पुलिस ने कई अन्य महत्वपूर्ण जानकारी भी दूसरे राज्यों की पुलिस के साथ शेयर किया है। ताकि विभिन्न इलाकों में छिपे जमातियों का पता लगाकर उन्हें क्वारनटाइन सेंटर भेजा जा सके। इसके साथ ही उत्‍तराखंड में मौजूद जमातियों को बाहर निकालने के लिए बाहरी राज्‍यों की पुलिस से बातचीत की जा रही है।

यह भी पढ़ें: भारत की मदद का मुरीद हुआ अमेरिका, व्हाइट हाउस ने किया PM मोदी को फॉलो

इन दो स्पेशल टीमों का हुआ गठन

उत्तराखंड पुलिस के महानिरीक्षक अभिनव कुमार के नेतृत्व में दो विशेष टीमें सिटी रिस्पॉन्स टीम (CRT) और ब्लॉक रिस्पॉन्स टीम (BRT) तैयार की हैं। ये टीमें कोरोना पॉजिटिव लोगों के संपर्क में आए लोगों की भी तलाश कर रही हैं।

माना जा रहा है कि ये करीब 45 हजार लोग हैं, जिनकी लिस्ट पुलिस द्वारा तैयार की जा रही है। बता दें कि राज्य में अब तक राज्य में 35 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। जिसमें से 28 केसेस तबलीगी जमात से जुड़ी हैं। इस मामले में डीजी अशोक कुमार ने कहा कि सभी जमातियों के लिए धरपकड़ की जा रही है। इसके लिए अन्य राज्यों से भी मदद ली जा रही है।

यह भी पढ़ें: सांसद ने किया कम्युनिटी किचन का निरीक्षण, कहा- कोई नहीं सोएगा भूखा

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App