×

कोरोना वॉरियर्स से मोदी का संवाद, बोले वैक्सीन का फैसला राजनीतिक नहीं होता

वाराणसी के कोरोना वॉरियर्स से संवाद करते हुए उन्होंने कहा कि पहले चरण में, वाराणसी में 15 टीकाकरण केंद्रों पर 20,000 से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लग रही है। इसके लिए मैं सभी डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ को इसके लिए बधाई देता हूं।

Shreya
Updated on: 22 Jan 2021 8:50 AM GMT
कोरोना वॉरियर्स से मोदी का संवाद, बोले वैक्सीन का फैसला राजनीतिक नहीं होता
X
सांसदों के लिए शुरू की गई हेल्पलाइन, PM मोदी का नंबर मांग रहे लोग, देना है सुझाव
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान जारी है। वैक्सीनेशन के पहले चरण में हेल्थवर्कर्स को सबसे पहले प्राथमिकता दी जा रही है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वाराणसी के कोरोना वॉरियर्स को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि 2021 की शुरुआत बहुत ही शुभ संकल्पों से हुई है और आज विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान हमारे देश में चल रहा है।

वाराणसी में 20 हजार से अधिक मेडिकल स्टाफ को लग रही वैक्सीन

पीएम ने कहा कि भारत ने अपनी दो स्वदेशी वैक्सीन बनाई और अब दुनिया के तमाम देशों को भी दे रहा है। वाराणसी के कोरोना वॉरियर्स से संवाद करते हुए उन्होंने कहा कि पहले चरण में, वाराणसी में 15 टीकाकरण केंद्रों पर 20,000 से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लग रही है। इसके लिए मैं सभी डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ को इसके लिए बधाई देता हूं।

यह भी पढ़ें: जिसको एनआईए ने भेजा समन, वो होगा नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित

वैक्सीन के बारे में निर्णय करना राजनीतिक नहीं होता

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि शुरुआत में राजनीतिक तौर पर उनपर दबाव बनाया जाता था कि अब तक वैक्सीन क्यों नहीं आई है, लेकिन हमने केवल वैज्ञानिकों की बात सुनने का फैसला किया। वैक्सीन के बारे में निर्णय करना राजनीतिक नहीं होता, हमने तय किया था कि जैसा वैज्ञानिक कहेंगे, वैसे ही हम करेंगे। हमने रणनीति के तहत पहले स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना की वैक्सीन लगाने का फैसला किया। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कोरोना वॉरियर्स की ही सबसे बड़ी भूमिका है।

यह भी पढ़ें: दिल्ली में आतंकी हमला: अटैक को लेकर अलर्ट जारी, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

इस दौरान PM ने वाराणसी महिला अस्पताल की पुष्पा देवी से संवाद किया। महिला डॉक्टर ने बताया कि उन्होंने 16 जनवरी को ही कोरोना की वैक्सीन लगवाई थी, अब वो खुद को स्वस्थ महसूस कर रही हैं। आपको बता दें कि 16 जनवरी से ही भारत में वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई है। शुरुआती चरण में तीन करोड़ हेल्थवर्कर्स को टीका लगाया जा रहा है। इसके बाद कोरोना वॉरियर्स का नंबर आने वाला है। वहीं दूसरे चरण में पीएम मोदी और मुख्यमंत्रियों को वैक्सीन दी जानी है। दरअसल, दूसरे चरण में ही 50 से अधिक उम्र के लोगों का नंबर आएगा।



यह भी पढ़ें: राम भक्त मुस्लिम दंपति: मंदिर के लिए दिया योगदान, दान किए इतने रुपये

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story