×

शोक में डूबी BJP: RSS को लगा बड़ा झटका, इस दिग्गज शख्स का हुआ निधन

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) को रविवार को बड़ा झटका लगा, जब वरिष्ठतम संघ प्रचारकों में से एक पी. परमेश्वर का निधन हो गया।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 9 Feb 2020 4:19 AM GMT

शोक में डूबी BJP: RSS को लगा बड़ा झटका, इस दिग्गज शख्स का हुआ निधन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

केरल: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) को रविवार को बड़ा झटका लगा, जब वरिष्ठतम संघ प्रचारकों में से एक पी. परमेश्वर का निधन हो गया। जानकारी के मुताबिक, 91 साल के परमेश्वर ने रविवार को 12 बजकर 11 मिनट पर अंतिम सांस ली। बता दें कि वह भारतीय जन संघ के पूर्व नेता होने के साथ ही भारतीय विचार केंद्र के संस्थापक निदेशक भी रहे हैं।

आरएसएस के वरिष्ठ प्रचारक पी. परमेश्वर का निधन

आररसरस के लिए दुःख की खबर है। दरअसल, आरएसएस के वरिष्ठ प्रचारक का रविवार आधी रात निधन हो गया। उनका केरल के पलक्कड़ जिले के ओट्टापलम में आयुर्वेदिक उपचार चल रहा था, इस दौरान वहीं उन्होंने अंतिम सांस ली।

ये भी पढ़ें: शहीद हुआ भारतीय जवान, तो सेना ने पाकिस्तान का कर दिया ये हाल

कोच्ची के मुख्यालय में उनके पार्थिव शरीर को रखा गया है। रविवार सुबह से ही उनके अंतिम दर्शन के लिए यहां लोगों का आना शुरू हो गया है। वहीं मुहम्मा में ही उनका अंतिम संस्कार रविवार शाम किया जाएगा। बता दें कि मुहाम्मा में ही उनका जन्म हुआ था।

कौन है पी. परमेश्वर

संघ परिवार और भारतीय जनता पार्टी के बीच परमेश्वर जी के नाम से प्रसिद्द पी. परमेश्वरन एक दिग्गज लेखक, कवि, शोधकर्ता और प्रसिद्ध संघ विचारक रहे हैं। उनका जन्म 1927 में अलपुझा जिले के मुहाम्मा में हुआ था। परमेश्वरन संघ से अपने छात्र जीवन में ही जुड़ गए थे। वह 1967 से 1971 के बीच भारतीय जनसंघ के सचिव रहे हैं। साल 1971 से 1977 तक के बीच वे उपाध्यक्ष रहे हैं।

ये भी पढ़ें: जल उठा गुजरात: बिछ गयी लोगों की लाशें, मच गया हड़कंप

इसके साथ ही वे दीन दयाल शोध संस्थान के निदेशक भी रहे हैं। उनका यह कार्यकाल साल 1977 से 1982 के बीच का रहा है। आपात काल के दिनों में ऑल इंडिया सत्याग्रह के लिए उन्हें 16 महीने के लिए जेल भी हुई थी।

मिल चुका है पद्म विभूषण और पद्म श्री सम्मान:

साल 2018 में उन्हें देश के दूसरे सबसे बड़े पुरस्कार पद्म विभूषण से सम्मानित भी किया गया । इसके पहले 2004 में पद्म श्री से का भी सम्मान उन्हें मिल चुका है।

वाजपेयी और आडवाणी के साथ कर चुके हैं काम:

बता दें कि परमेश्वरन ने जनसंघ के दिनों में पंडित दीनदयाल उपाध्याय, अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी जैसे दिग्गज नेताओं के साथ काम किया था।

ये भी पढ़ें: ‘रसिया’ इमरान का फिर निकाह! चौथी बेगम को देख आपके होश उड़ जाएंगे

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story