उपराष्ट्रपति बोले- कुछ न्यायिक फैसलों से लगता है जूडिशरी का हस्तक्षेप बढ़ा है

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने बुधवार को पटाखों पर अदालत के फैसले और जजों की नियुक्ति में कार्यपालिका को भूमिका देने से इनकार करने का उदाहरण देते हुए कहा कि अदालतों के कुछ फैसलों से लगता है कि न्यायपालिका का हस्तक्षेप बढ़ा है।

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू (file pic )

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने बुधवार को पटाखों पर अदालत के फैसले और जजों की नियुक्ति में कार्यपालिका को भूमिका देने से इनकार करने का उदाहरण देते हुए कहा कि अदालतों के कुछ फैसलों से लगता है कि न्यायपालिका का हस्तक्षेप बढ़ा है।

80वें सम्मेलन को संबोधित किया

उन्होंने कहा कि विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका संविधान के तहत परिभाषित अपने अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत काम करने के लिए बाध्य हैं। दरअसल, विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका के बीच सौहार्दपूर्ण समन्वय – जीवंत लोकतंत्र की कुंजी’ विषय पर अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के 80वें सम्मेलन को संबोधित किया। नायडू ने कहा कि तीनों अंग एक-दूसरे के कार्यों में हस्तक्षेप किए बगैर काम करते हैं और सौहार्द बना रहता है।

उन्होंने आगे कहा कि इसमें आपसी सम्म्मान, जवाबदेही और धैर्य की जरूरत होती है। ऐसे कई उदाहरण हैं जब सीमाएं लांघी गईं। कई न्यायिक फैसले किए गए जिसमें हस्तक्षेप का मामला लगता है।

ये भी पढ़ें…कोरोना का कहर: शादी से पहले कई दुल्हा, दु्ल्हन और सास-ससुर संक्रमित, टूटा सपना

कुछ मुद्दों को सरकार के अन्य अंगों पर छोड़ दिया जाना चाहिए

उपराष्ट्रपति ने कहा कि इस तरह की बहस है कि क्या कुछ मुद्दों को सरकार के अन्य अंगों पर वैधानिक रूप से छोड़ दिया जाना चाहिए। जिसपर उधाहरण देते हुए नायडू ने कहा कि दिवाली पर पटाखों को लेकर फैसले देने वाली न्यायपालिका कलीजियम के माध्यम से जजों की नियुक्ति में कार्यपालिका को भूमिका देने से इनकार कर देती है। कुछ न्यायिक फैसलों से प्रतीत होता है कि हस्तक्षेप बढ़ा है। संविधान की तरफ से तय रेखाओं का उल्लंघन हुआ जिससे बचा जा सकता था। वही कई बार विधायिका ने भी रेखा लांघी है।

ये भी पढ़ें…ताकतवर मिसाइल तैयार: चीन-पाकिस्तान में मच गई हलचल, सेना से कांप रहे दुश्मन

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App