अलर्ट जारी: फिर बदलेगा मौसम, यहां होगी भारी बारिश, गरज के साथ पड़ेंगे ओले

गुरुवार को क बार फिर मौसम करवट लेने जा रहा है। झारखंड के कई शहरों में ओलावृष्टि के साथ गरज के साथ बारिश होने की संभावना है। प्रदेश के पूर्वी और दक्षिणी क्षेत्रों समेत समूचे झारखंड में झमाझम बारिश के पूरे आसार हैं।

रांची: गुरुवार को क बार फिर मौसम करवट लेने जा रहा है। झारखंड के कई शहरों में ओलावृष्टि के साथ गरज के साथ बारिश होने की संभावना रहै। प्रदेश के पूर्वी और दक्षिणी क्षेत्रों समेत समूचे झारखंड में झमाझम बारिश के पूरे आसार हैं।

मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक 19 और 20 मार्च को प्रदेश के कई इलाकों में आंधी, 40 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की संभावनाएं हैं। हल्‍के से मध्‍यम दर्जे की बारिश का अनुमान व्‍यक्‍त किया गया है। मौसम विज्ञान केंद्र, रांची के मुताबिक गुरुवार को राज्‍य के उत्‍तर पश्चिमी व दक्षिण पश्चिमी भाग में कुछ स्‍थानों पर गरज के साथ छींटे पड़ सकती हैं।

यह भी पढ़ें…MP का सियासी बवाल, सुप्रीम कोर्ट में फिर बहुमत परीक्षण पर सुनवाई

मौसम वैज्ञानिक डॉ एसडी कोटाल ने बताया कि गुरुवार को झारखंड के कई इलाकों में वज्रपात के साथ ओले गिर सकते हैं। शुक्रवार के मौसम के बारे में संभावना जताई है कि राज्‍य के कुछ स्‍थानों पर 30 से 40 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवा चल सकती है। हल्‍की बारिश, गरज के साथ वज्रपात और ओलावृष्टि भी संभव है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक रांची और इसके आसपास के क्षेत्रों में दोपहर बाद हल्‍की से मध्‍यम दर्जे की बारिश का अनुमान है। राज्‍य के दक्षिणी भाग में भी एक-दो स्‍थानों पर हल्‍की बारिश होने की संभावना है। दिन में कई जगहों पर साइक्‍लोनिक सर्कुलेशन के असर से भारी बारिश हो सकती है।

यह भी पढ़ें…कोरोना वायरस: देश में तेजी से बढ़ रहा मरीजों का आंकड़ा, संख्या हुई 169

बेमौसम बारिश एवं ओलावृष्टि की वजह से जिन किसानों की फसल बर्बाद हो गई है उन्हें जिला प्रशासन की तरफ से राज्य आपदा मोचन निधि से मुआवजा दिया जाएगा। उपायुक्त राय महिमापत रे ने इस संबंध में सभी अंचलाधिकारियों को निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि सभी अपने-अपने कार्यालय में हेल्प डेस्क लगा कर किसानों से आवेदन प्राप्त करेंगे।

उन्होंने निर्देश दिया है कि जल्द से जल्द कार्यालय में फसलों की क्षति से संबंधित आंकलन रिपोर्ट उपलब्ध कराएंगे, ताकि किसानों को जरूरी मुआवजा दिया जा सके।

यह भी पढ़ें…कोरोना का कहर: मोदी सरकार का बड़ा फैसला, 75 करोड़ लोगों को मिलेगा फायदा

बता दें कि बीते हफ्ते रांची सहित राज्य के अन्य क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश एवं ओलावृष्टि की वजह से किसानों की काफी फ सल बर्बाद हुई थी, जिसपर संज्ञान लेते हुए रांची जिला प्रशासन ने अंचलाधिकारियों को इस संबंध में जरूरी आदेश जारी किया और किसानों को राहत दिलाने के लिए पहल की गई।