×

शी जिनपिंग की साउथ इंडियन थाली: मोदी संग किया डिनर, परोसा गया लजीज खाना

महाबलीपुरम के महत्वपूर्ण स्मारकों की वास्तुकला और महत्व के बारे में जिनपिंग को विस्तार से जानकारी भी पीएम मोदी ने दी। इसके अलावा चीनी राष्ट्रपति को अर्जुन तपस्या स्थल, पंचरथ, कृष्ण का माखन लड्डू और शोर मंदिर भी पीएम मोदी ही लेकर गए और पीएम ने चीनी राष्ट्रपति को सबकी जानकारी भी दी।

Manali Rastogi
Updated on: 12 Oct 2019 5:43 AM GMT
शी जिनपिंग की साउथ इंडियन थाली: मोदी संग किया डिनर, परोसा गया लजीज खाना
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: राष्ट्रपति शी जिनपिंग के सम्मान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को डिनर का आयोजन रखा था। शुक्रवार को दोनों दिग्गज नेताओं ने साथ में डिनर किया। इस दौरान पीएम मोदी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग को साउथ इंडियन थाली परोसी गई, जिसमें बेहद लजीज पकवान शामिल थे। बता दें, जिनपिंग के लिए पीएम मोदी ने नॉनवेज थाली के लिए विशेष निर्देश दिए थे।

यह भी पढ़ें: बुमराह-हार्दिक पंड्या का करियर तबाह! लग सकता है उनके क्रिकेट पर ग्रहण

तमिलनाडु, केरल और आंध्र प्रदेश के व्यंजन को जिनपिंग की थाली में शामिल किया गया था। उनकी थाली में राजमा, मालाबार लॉबस्टर, कोरी केम्पू, मटन युलरथियाडु, कुरुवेपिल्लई मीन वरुवल, तंजावुर कोझी करी, बीटरूट जिंजर चॉप, पच सुंडकाई, अरिका कोक्सहंबू, अर्चाविता सांभर, बिरयानी, इंडियन ब्रेड, अड प्रधामन, हलवा, आइसक्रीम, चाय और मसाला चाट जैसे स्वादिष्ट पकवान शामिल थे।

दक्षिण भारतीय व्यंजन पकाने के निर्देश

बता दें, जिनपिंग के सम्मान में खास तौर पर पीएम मोदी ने दक्षिण भारतीय व्यंजन पकाने के निर्देश दिए थे। वैसे पहले दिन पीएम मोदी शी जिनपिंग के लिए टूरिस्ट गाइड बने। इस दौरान पीएम मोदी ने जिनपिंग को महाबलीपुरम के तीर्थस्थलों की सैर कराई। इस दौरान पीएम मोदी साउथ इंडियन लिबास में नजर आए।

यह भी पढ़ें: कामिनी रॉय पर GOOGLE ने बनाया DOODLE, जानिए कौन है ये खास शख्सियत

महाबलीपुरम के महत्वपूर्ण स्मारकों की वास्तुकला और महत्व के बारे में जिनपिंग को विस्तार से जानकारी भी पीएम मोदी ने दी। इसके अलावा चीनी राष्ट्रपति को अर्जुन तपस्या स्थल, पंचरथ, कृष्ण का माखन लड्डू और शोर मंदिर भी पीएम मोदी ही लेकर गए और पीएम ने चीनी राष्ट्रपति को सबकी जानकारी भी दी।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story