बुमराह-हार्दिक पंड्या का करियर तबाह! लग सकता है उनके क्रिकेट पर ग्रहण

ऐसे ही कई उदाहरण क्रिकेट इतिहास में भी मिलेंगे, जहां बेहद प्रतिभाशाली खिलाड़ी के चमकदार करियर पर चोटों की वजह से ग्रहण लग गया। कुछ ऐसे ही खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट टीम में भी हैं। आज हम आपको भारतीय टीम के उन खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे, जिनका क्रिकेट चोटों की वजह से खराब हो सकता है।

बुमराह-हार्दिक पंड्या का करियर तबाह! लग सकता है उनके क्रिकेट पर ग्रहण

बुमराह-हार्दिक पंड्या का करियर तबाह! लग सकता है उनके क्रिकेट पर ग्रहण

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम इस वक़्त एक अच्छे दौर से गुजर रही है। हालांकि, ये दौर अब जल्द खत्म होने वाला है। दरअसल टीम के कुछ खिलाड़ी ऐसे हैं, जिनका करियर खतरे में है। ऐसा नहीं है कि इन खिलाड़ियों ने क्रिकेट में प्रदर्शन नहीं किया, लेकिन इनके पर करियर किसी और वजह से ग्रहण लग सकता है। हम यहां जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पंड्या के अलावा उन खिलाड़ियों की बात करेंगे, जिन्होंने कम समय में एक अच्छा मुकाम हासिल किया है।

यह भी पढ़ें: यूपी में आधी रात चली तबादला एक्सप्रेस, इन अधिकारियों का हुआ ट्रांसफर

हर खिलाड़ी को बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए अपने आपको फिट रखना होगा और उच्चस्तरीय खेल का प्रदर्शन करना होगा। मगर कई बार खेल ले दौरान खिलाड़ी चोटिल हो जाते हैं, जिसका खामियाजा उनको अपने चमकते करियर से हाथ धोकर करना पड़ता है। ऐसा कई बार देखने को मिला, जब एक बेहतरीन खिलाड़ी मैदान पर चोटिल हो गया हो और फिर चोट की वजह से उसे खेल को अलविदा कहना पड़ा।

यह भी पढ़ें: सावधान: यहां हो सकता है बड़ा आतंकी हमला, संदिग्ध व्यक्ति की सूचना देने का आदेश

ऐसे ही कई उदाहरण क्रिकेट इतिहास में भी मिलेंगे, जहां बेहद प्रतिभाशाली खिलाड़ी के चमकदार करियर पर चोटों की वजह से ग्रहण लग गया। कुछ ऐसे ही खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट टीम में भी हैं। आज हम आपको भारतीय टीम के उन खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे, जिनका क्रिकेट चोटों की वजह से खराब हो सकता है। हालांकि, इस लिस्ट में एक नाम ऐसा भी है, जिसने एक करिश्मा कर दिखाया है। हम विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा की बात कर रहे हैं। उन्होंने हाल ही में अपने कंधे की सर्जरी करवाई थी। मगर उन्होंने वापसी की।

जसप्रीत बुमराह

भारतीय तेज गेंदबाजी जसप्रीत बुमराह ने थोड़े समय में ही ये दिखा दिया था कि वह कितने प्रभावशाली हैं। जसप्रीत बुमराह ने कम समय में ही ये दिखा दिया कि वो भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण के सबसे घातक हथियार हैं। हालांकि, वो चोटिल हो गए हैं और उनको ‘स्ट्रेस फ्रैक्चर’ हुआ है, जिसकी वजह से वो टीम से बाहर चल रहे हैं।

यह भी पढ़ें: कामिनी रॉय पर GOOGLE ने बनाया DOODLE, जानिए कौन है ये खास शख्सियत

अपने यूनीक बोलिंग ऐक्शन के लिए बुमराह फेमस हैं। मगर अब क्रिकेट के कई विशेषज्ञ ये कहते हैं कि बुमराह की यूनीक बोलिंग ऐक्शन ही उनके चोट का कारण बन गई। ये सबको मालूम है कि दुनियाभर के बल्लेबाजों के लिए बुमराह अपने इस खास ऐक्शन की वजह से परेशानी खड़ी कर देते हैं। मगर इसकी वजह से वह चोटिल हैं।

यह भी पढ़ें: शी जिनपिंग की ऐसी है प्रेम कहानी, चीनी राष्‍ट्रपति की ये बात नहीं जानते होंगे आप

दरअसल उनकी बॉडी पर उनका यूनीक बोलिंग ऐक्शन ही उनके शरीर पर जरूरत से ज्यादा प्रेशर डालता है। हालांकि, आशीष नेहरा जैसे कुछ दिग्गज गेंदबाजों का कहना है कि बुमराह की चोट का कारण उनका ऐक्शन नहीं है। मगर इस बात से सभी सहमत हैं कि उनका ऐक्शन उनके शरीर पर जरूरत से ज्यादा दबाव डालता है। फिलहाल यह बताया गया है कि बुमराह करीब दो महीने तक क्रिकेट से दूर रहेंगे।

हार्दिक पंड्या

ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या ने भी बहुत कम समय में अपने खेल से सबको प्रभावित किया, लेकिन हाल ही में भारत-साउथ अफ्रीका के बीच टी20 सीरीज खेली गई थी। इस सीरीज के दौरान पंड्या को एक बार फिर से पीठ की तकलीफ हुई। उनकी पीठ की तकलीफ गंभीर होकर उभरी थी। कुछ दिन पहले पंड्या का ऑपरेशन भी हुआ। हालांकि, अभी ये नहीं मालूम कि उनको सही होने में कितना समय लगेगा लेकिन अपने क्रिकेट करियर के अहम पड़ाव पर होने की वजह से उनकी ये चोट उनके लिए यह घातक साबित हो सकती है।

विजय शंकर

तमिलनाडु के ऑलराउंडर विजय शंकर भी चोटिल हैं और उनकी कहानी तो बेहद अजीबोगरीब है। दरअसल इस साल उनको वर्ल्ड कप खेलने का मौका मिला। उनको टीम में अंबाती रायुडू पर तरजीह देते हुए चुना गया था। हालांकि, टीम का ये चयन उसपर भारी पड़ा क्योंकि वर्ल्ड कप टूर्नामेंट के दौरान शंकर का सफर काफी निराशाजनक रहा और एड़ी की चोट की वजह से वह बाहर हो गए। अब उनकी चोट की वजह से उनके करियर पर रहस्य गहराया हुआ है।

यह भी पढ़ें: धर्म नहीं, विज्ञान भी मानता है शरद पूर्णिमा को खास, जानिए इस दिन बने खीर का राज

हालांकि, कुछ रिपोर्ट्स का कहना है कि विजय शंकर की परफॉर्मेंस से टीम मैनेजमेंट बिल्कुल खुश नहीं था, जिसकी वजह से उनको अचानक से टीम से बाहर निकाल दिया गया। इसके बाद वर्ल्ड कप से बाहर होते ही उनको भारत वापस लौटा दिया गया। शंकर अब पूरी तरह से फिट हैं और वह विजय हजारे ट्रोफी में कुछ उम्दा पारियां खेले हैं।

पृथ्वी शॉ

पृथ्वी शॉ ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत काफी बेहतरीन ढंग से की। साल 2018 के शुरुआत में उन्होंने देश के लिए अंडर-19 वर्ल्ड कप जीता। जी हां, 2018 में जो अंडर-19 वर्ल्ड कप इंडियन टीम ने जीता वो पृथ्वी की कप्तानी में जीता था। इसके बाद पृथ्वी ने अपने करियर को और आगे बढ़ाया और मेन टीम में शामिल हो गए। अब उनको ‘नए लिटिल मास्टर’ के रूप में देखा जा रहा है। शॉ का क्रिकेट अच्छा चल रहा था, लेकिन जल्द ही वह चोटिल हो गए, जिसकी वजह से उनको बाहर का रास्ता देखना पड़ा। वह चोटिल हैं, जिसकी वजह से उनका करियर शुरुआत में ही मुश्किलों से घिरा हुआ है।