×

झारखंड में सरकार की सद्बुद्धि के लिए यज्ञ, महिला सुरक्षा पर उठ रहे सवाल

राजधानी रांची के ओरमांझी थाना क्षेत्र में पिछले रविवार को युवती का सिर कटा नग्न शव बरामद किया गया। वारदात के एक सप्ताह बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं।

Roshni Khan
Published on: 10 Jan 2021 6:02 AM GMT
झारखंड में सरकार की सद्बुद्धि के लिए यज्ञ, महिला सुरक्षा पर उठ रहे सवाल
X
झारखंड में सरकार की सद्बुद्धि के लिए यज्ञ, महिला सुरक्षा पर उठ रहे सवाल (PC: social media)
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

रांची: झारखंड में हेमंत सोरेन की सरकार की सद्बुद्धि के लिए रांची के पहाड़ी मंदिर में यज्ञ किया गया। भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष किसलय तिवारी ने कहा कि, राज्य में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। बलात्कार जैसी घटनाएं धड़ल्ले से हो रही हैँ। बच्चियों और औरतों को निशाना बनाया जा रहा है। इन सबके बावजूद राज्य के मुखिया चैन की नींद सो रहे हैँ। सरकार की ओर से अबतक कोई ठोस क़दम नहीं उठाया गया है। इससे साफ है कि, सरकार की बुद्धि भ्रष्ट हो चुकी है। इसी को लेकर यज्ञ किया गया है। भगवान से प्रार्थना है कि, हमारे मुख्यमंत्री को सद्बुद्धि दें ताकि, राज्य को सुरक्षित बनाया जा सके।

ये भी पढ़ें:येसुदास ने इस गीत से सभी के दिलों में बनाई जगह, पद्मश्री समेत मिले कई अवार्ड

बलात्कार की घटनाएं

राजधानी रांची के ओरमांझी थाना क्षेत्र में पिछले रविवार को युवती का सिर कटा नग्न शव बरामद किया गया। वारदात के एक सप्ताह बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। अबतक युवती की पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस ने पहले 25 हज़ार फिर 50 हज़ार और अब 5 लाख रुपए के इनाम की घोषणा की है। युवती के साथ दुष्कर्म की वारदात हुई है या नहीं इसकी भी पुष्टि नहीं हो पाई है। इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री का काफिला भी रोका जा चुका है। इस बीच राजधानी रांची के जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र में महिला के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया है। हालांकि, इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी हो चुकी है। चतरा वृद्ध महिला के साथ गैंगरेप किया गया है। महिला के प्राइवेट पार्ट में गिलास घूसा दिया गया। इस मामले में भी आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

सीएम का काफिला रोका गया

रांची के ओरमांझी में युवती का सिर कटा शव बरामद होने के बाद भाजपा लगातार धरना-प्रदर्शन कर रही है। इस बीच बीते सोमवार को राजधानी के किशोरगंज चौक से गुजर रहे मुख्यमंत्री के काफिला को कुछ उपद्रवियों ने रोका और कारकेड में शामिल गाड़ियों पर हमला किया। सत्ताधारी दलों का आरोप है कि, भाजपा के इशारे पर सीएम का काफिला रोका गया है। हालांकि, बीजेपी इससे इनकार करती है।

ये भी पढ़ें:सिडनी में सिराज पर नस्लीय टिप्पणी, रोकना पड़ा खेल, दर्शकों को स्टेडियम से भगाया

पक्ष-विपक्ष आमने-सामने

महिलाओं के प्रति बढ़ती हिंसा को लेकर यूपीए और एनडीए के घटक दल आमने-सामने हैं। मुख्यमंत्री के काफिला पर किया गया हमला के लिए भी भाजपा को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। झामुमो, कांग्रेस और राजद का आरोप है कि, बलात्कार की घटनाओं की आड़ में भाजपा अपनी राजनीति चमकाना चाहती है। मुख्यमंत्री के काफिला को जानबूझ कर निशाना बनाया गया है। इस मामले में मुख्य आरोपी भैरव सिंह बीजेपी के लिए काम करता है। हालांकि, भाजपा इन आरोपों को बेबुनियाद बताती है। पार्टी के विधायक सीपी सिंह का आरोप है कि, राज्य में शासन-प्रशासन फेल हो चुका है। राज्य सरकार महिलाओं को सुरक्षा देने में नाकाम रही है। अपनी विफलता छिपाने के लिए विपक्ष को कटघरे में खड़ा किया जा रहा है।

रिपोर्ट- शाहनवाज़

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story