Top

YES BANK के बड़े कर्जदारों के नाम आये सामने, लिस्ट देख चौंक जाएंगे आप

उद्योगपति सुभाष चंद्रा को यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर से जुड़े एक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तलब किया गया है। सुभाष चंद्रा के एस्सेल ग्रुप पर कथित तौर पर संकटग्रस्त यस बैंक का 8,000 करोड़ रुपये से ज्यादा बकाया है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 17 March 2020 10:40 AM GMT

YES BANK के बड़े कर्जदारों के नाम आये सामने, लिस्ट देख चौंक जाएंगे आप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: उद्योगपति सुभाष चंद्रा को यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर से जुड़े एक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तलब किया गया है। सुभाष चंद्रा के एस्सेल ग्रुप पर कथित तौर पर संकटग्रस्त यस बैंक का 8,000 करोड़ रुपये से ज्यादा बकाया है।

सुभाष चंद्र को प्रवर्तन निदेशालय ने बुधवार को तलब किया है। गुरुवार को अनिल अंबानी और अवंता समूह के गौतम थापर को भी तलब किया गया है।

वहीं इसी केस में रिलायंस समूह के प्रमुख अनिल अंबानी ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए अधिक समय देने का अनुरोध किया था। इसके बाद एजेंसी ने उनको भी एक ताजा समन जारी किया है।

प्रवर्तन निदेशालय नियमों के उल्लंघन में यस बैंक द्वारा विभिन्न संगठनों या संस्थाओं को दिए गए संदिग्ध ऋणों के आरोपों की जांच कर रहा है।

ये भी पढ़ें...Yes Bank पर बड़ा एलान: मोदी सरकार ने लिया ये फैसला, ग्राहकों को मिली राहत

ईडी की जांच तेज

प्रवर्तन निदेशालय ने कुल 18 समन जारी किए हैं, जिनपर येस बैंक का बकाया है। इन सभी को प्रवर्तन निदेशालय ने 17 मार्च से 21 मार्च तक जांच में शामिल होने के लिए बुलाया है।

यहां देखें लिस्ट

दरअसल ईडी ने यस बैंक से लिए गए कर्ज में से जो खाते गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) में तब्दील हो गए, उन खाताधारकों को अब समन जारी किया गया है।

इसमें रिलायंस ग्रुप के सीईओ अनिल अंबानी, जेट एयरवेज के फाउंडर नरेश गोयल, एस्सेल ग्रुप के सुभाष चंद्रा, डीएचएफएल के वाधवान, इंडिया बुल्स के प्रमोटर समीर गहलोत और गौतम थापर के नाम हैं।

सबसे बड़े कर्जधारकों में अनिल अंबानी हैं, जिनपर यस बैंक का 12,800 करोड़ रुपये का बकाया है। नरेश गोयल पर 550 करोड़, सुभाष चंद्रा पर 8400 करोड़, डीएचएफएल पर 3700 करोड़ और अवंता ग्रुप के निदेशक गौतम थापर की कंपनियों पर 1900 करोड़ रुपये बकाया है।

सबसे बड़े कर्जधारकों में अनिल अंबानी हैं, जिनपर येस बैंक का 12,800 करोड़ रुपये का बकाया है। नरेश गोयल पर 550 करोड़, सुभाष चंद्रा पर 8400 करोड़, DHFL पर 3700 करोड़ और अवंता ग्रुप के निदेशक गौतम थापर की कंपनियों पर 1900 करोड़ रुपये बकाया है।

Yes Bank ग्राहकों के लिए खुशखबरी: अब कहीं भी-कभी भी निकाल सकते हैं अपना पैसा

इंडिया बुल्स ने किया समन का खंडन

दूसरी तरफ इंडिया बुल्स के सीईओ गगन मंगा ने एक बयान जारी कर कहा है कि कंपनी के प्रमोटर को ईडी की तरफ से कोई समन नहीं मिला है।

उन्होंने अपने बयान में कहा, 'हमें कोई समन नहीं मिला है। यह सूचना गलत है। इंडिया बुल्स हाउसिंग पर येस बैंक का कोई भी बकाया टर्म लोन नहीं है। इसी तरह समीर गहलोत या उनसे जुड़ी किसी कंपनी या किसी रिश्तेदार के उपर भी येस बैंक को कोई लोन बकाया नहीं है।

उन्होंने कहा कि यह उसी तरह की अफवाह है जैसा कि शुक्रवार को सीबीआई छापे के बारे में फैलाई गई थी और जिसे सीबीआई ने अपने बयान में गलत बताया। हमने स्टॉक एक्सचेंज को भी इसके बारे में जानकारी दी है।

यस बैंक को लेकर आरबीआई का ये प्लान

इस बीच आरबीआई ने येस बैंक को फिर से खड़ा करने के लिए प्लान तैयार कर लिया है. भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सोमवार को यस बैंक के जमाकर्ताओं को आश्वस्त किया कि उनकी गाढ़ी कमाई सुरक्षित है। उन्होंने येस बैंक की पुनर्गठन योजना को विश्वसनीय और टिकाऊ बताया।

Yes Bank की खुली पोल: बेनकाब हुआ राणा कपूर, सामने आया सच

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story