गुस्से में हार्ट बीट ना बढ़ाये, बल्कि चुटकियों मे ऐसे करें कंट्रोल

कई बार अपने मन का काम न होने और साथी द्वारा बुरे व्यवहार के चलते हमें बहुत तेज गुस्सा आता है। गुस्से से जहां कई बार रिश्ते टूट जाते हैं तो वहीं यह हमारी सेहत के लिए भी काफी हानिकारक है।

नई दिल्ली: कई बार अपने मन का काम न होने और साथी द्वारा बुरे व्यवहार के चलते हमें बहुत तेज गुस्सा आता है। गुस्से से जहां कई बार रिश्ते टूट जाते हैं तो वहीं यह हमारी सेहत के लिए भी काफी हानिकारक है।

जिन लोगों को ज्यादा गुस्सा आता है वो अवसाद, अनिद्रा, सिरदर्द और भूख न लगना जैसी परेशानियों का शिकार हो सकते हैं। इसलिए बेहतर है कि गुस्से को कंट्रोल करने के लिए आप आज ही से अपनाएं ये टिप्स:

  • गुस्से को रोकने की जगह उसे जाहिर करना ज्यादा बेहतर होता है। ऐसा करने से मन की कडुवाहट निकल जाती है और किसी भी प्रकार की नकारात्मकता के लिए दिल में जगह नहीं बचती है।

यह भी देखें… मोदी के गढ़ में कल प्रियंका का मेगा शो, रोड शो के जरिये बांधेंगी शमां

  • जब भी बहुत तेज गुस्सा आये तो रनिंग करें या कोई एक्सरसाइज करें। गुस्सा एक प्रकार की एनर्जी होता है जो आपकी बॉडी को नुकसान पहुंचाता है। इसलिए बेहतर है कि एनर्जी को आप किसी सकारात्मक दिशा में लगा दें ताकि आपको नुकसान न पहुंचे।
  • कई बार गुस्से में हम बिना सोचे-समझे कुछ भी बोल देता हैं जिससे सामने वाले का दिल दुःख जाता है। वो बातें कभी न बोले जो आप खुद के लिए बर्दाश्त नहीं कर सकते। गुस्से में कुछ भी बोलने से पहले सौ बार सोचें।
  • हर बार गुस्सा जताना जरूरी नहीं होता। कई बार तो यह रिश्ते के टूटने का सबब भी बन सकता है। जब गुस्सा आये तो इसे कंट्रोल करने के लिए मन ही मन 10 से लेकर 1 तक उलटी गिनती गिनें।
  • गुस्से में हार्ट बीट काफी बढ़ जाती है। ऐसे में सांसों पर ध्यान केंद्रित कर उसे नियंत्रित करने की कोशिश करें। ऐसा करने से गुस्सा कब शांत हो जाएगा आपको पता भी नहीं चलेगा।

यह भी देखें… अच्छी खबर: सरकार बेचेगी ऑनलाइन सस्ते AC, इनमें 40% तक बिजली की बचत

  • जब गुस्सा आए तो कुछ वक्त खुद के साथ बिताएं और गुस्से का कारण तलाशने की कोशिश करें। याद रखिए गुस्से से केवल हम अपना ही नुकसान करते हैं।
  • गुस्सा आने के पीछे अधूरी नींद भी जिम्मेदार हो सकती है। कई बार हर नींद पूरी न होने की वजह से बात-बात पर चिढ़चिढ़ाते हैं और खीज दूसरों पर निकालते हैं। इसलिए बेहतर है कि अच्छी नींद लें।