पसीने से पता चलेगा आपकी तबियत का हाल, क्या आप जानतें हैं

भाग-दौड़ भरी जिंदगी मे लोग अपनी सेहत का खयाल रखना भूल जातें हैं। न खाने का समय होता है न सोने का। जिसका असर हमारे शरीर पर पड़ता है और हम बीमार हो जातें हैं।

लखनऊ: भाग-दौड़ भरी जिंदगी मे लोग अपनी सेहत का खयाल रखना भूल जातें हैं। न खाने का समय होता है न सोने का। जिसका असर हमारे शरीर पर पड़ता है और हम बीमार हो जातें हैं। जिसके बाद हमें ब्लड टेस्ट या फिर कई दूसरे तरह के टेस्ट करवाने की जरूरत होती है। लेकिन अब रिसर्चर्स ने एक नई खोज की है। उन्होनें स्किन सेंसर बनाया है जो आपके पसीने के जरिए उसी समय आपकी सेहत का हाल बता देगा। इस सेंसर को आप आसानी से पहन सकतें हैं। ये आपके बॉडी में पानी की कमी और थकान की भी जानकारी देगा।

ये भी पढ़ें:यहां आबोहवा में सुधार! खेल के दौरान बिमार हुए बांग्लादेशी खिलाड़ी, ऐसे निकले लोग

कैलिफॉर्निया यूनिवर्सिटी के प्रफेसर अली जावे ने बताया, इस प्रॉजेक्ट का मकसद केवल सेंसर बनाना नहीं था बल्कि हम जानना चाहते थे कि पसीना क्या जानकारी देता है। इसके लिए हमें एक ऐसे सेंसर की जरूरत थी जो विश्वसनीय हो, जिसका बार-बार यूज़ किया जा सके। जिसका यूज़ हम शरीर के अलग-अलग पार्ट्स पर कर सकें।

सोडियम-पोटेशियम की मात्रा से जानकारी

रिसर्चर्स ने इस सेंसर को एक्सर्साइज कर रहे वॉलंटियर्स के शरीर पर अलग-अलग जगह लगाया ताकि उनके पसीना निकलने की दर, उसमें मौजूद सोडियम और पौटेशियम की मात्रा को नापा जा सके। इससे पता चला कि एक्सर्साइज करने के दौरान शरीर में तेजी से पानी की कमी होती है। पसीना निकलने की गति के जरिए हम ये पता लगा सकते हैं कि हार्ड वर्कआउट पर जाने से पहले एथलीट को क्या सावधानी रखने की जरूरत है।

ये भी पढ़ें:WOW: आज 7 रुपया बचाएं, बुढ़ापे हजारों पाएं, जानिए निवेश की ये हैं कौन सी स्कीम?

पसीने का सैंपल लिया जाता है

इस सेंसर में माइक्रोस्कोपिक ट्यूब और माइक्रोफ्लूड लगे हैं, जिसकी हेल्प से शरीर से पसीने का सैंपल लिया जाता है। ये स्किन सेंसर ट्रैक करता है कि पसीना कितनी तेजी से आपके शरीर से निकल रहा है। उसके बाद ये सेंसर यूजर को जानकारी देता है कि शरीर से कितना पसीना और किस दर से बह रहा है।

एक्जाम्पल के लिए किया जा चुका है इस्तेमाल

रिसर्चर्स ने सेंसर को परखने के लिए वह स्वास्थ्य के बारे में सही जानकारी देता है या नहीं इसके लिए व्यायाम कर रहे लोगों के शरीर के विभिन्न जगहों जैसे ललाट, अग्र-भुजाओं, कांख और पीठ के ऊपर लगा दिया।

ये भी देखें:Aamir khan की Laal Singh Chaddha का First मोशन पोस्टर, इस दिन होगी रिलीज

मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति पर भी किया गया इस्तेमाल

इसके अलावा सेंसर का यूज़ कर एक स्वस्थ और मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति के पसीने के ग्लूकोज के स्तर और रक्त शर्करा के स्तर की तुलना की गई। भारतीय मूल की रिसर्चर्स मल्लिका बड़िया ने उम्मीद जताई है कि ये सेंसर फ्युचर में मधुमेह में लगातार रक्त की जांच की जगह ले सकता है।

हालांकि, अभी यह पता चला है कि पसीने और शरीर के शुगर लेवल के बीच कोई परस्पर संबंध नहीं है। रिसर्चर्स ने सेंसर के जरिए से डायबिटीज के रोगियों के पसीने में शुगर लेवल का पता लगाया और पाया कि पसीने के शुगर लेवल से रक्त के शुगर लेवल का पता नहीं चल सकता है।