अगर बार-बार दिल की धड़कनें होती हैं तेज, तो हो सकता है खतरनाक, जानें क्यों

ह्रदय हमारे पूरे शरीर की जैविक क्रियाओं के लिए ऑक्सीजन युक्त रक्त प्रदान करने के साथ-साथ, ऊतकों (tissues) को ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की आपूर्ति करता है

कहते हैं मानव शरीर एक मशीन की तरह है और ह्रदय इस मशीन का एक महत्वपूर्ण अंग है। ह्रदय हमारे पूरे शरीर की जैविक क्रियाओं के लिए ऑक्सीजन युक्त रक्त प्रदान करने के साथ-साथ, ऊतकों (tissues) को ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की आपूर्ति करता है और साथ ही शरीर से कार्बन डाइऑक्साइड को भी बाहर निकालता है। आमतौर पर एक स्वस्थ व्यक्ति के दिल की धड़कन 75-80 प्रति मिनट की दर से धड़कता है। लेकिन अगर आपके दिल की धड़कन सामान्य के मुकाबले अधिक तेजी से धड़क रहा है तो ये किसी खतरे का संकेत है।

यह भी पढ़ें: कंबोडिया के सियाम रीप की तर्ज पर बसेगी ‘नई अयोध्या’, योगी सरकार का खास प्लान

इन चीजों के सेवन से बढ़ती है दिल की धड़कन

हालांकि कुछ ऐसी चीजें (जैसे- शराब, सिगरेट, कैफीन) हैं जिनके इस्तेमाल से दिल की धड़कल सामान्य से कुछ अधिक हो जाती हैं। वहीं इनके अलावा कुछ दवाइयों के सेवन से भी दिल की धड़कन बढ़ जाती है।

इन वजहों से होती है समस्या

डिहाइड्रेशन दिल की धड़कन के बढ़ने की वजह हो सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि खून में पानी की मात्रा भी होती है, इसलिए जब शरीर डिहाइड्रेटेड हो जाता है तो शरीर का खून गाढ़ा हो सकता है। इस स्थिति में आपके दिल को आपकी नसों के माध्यम से इस स्थानांतरित करने के लिए अधिक मेहनत कर करनी पड़ती है। ये आपकी पल्स की दर को भी बढ़ा सकता है। इससे बचने के लिए पानी पिएं।

यह भी पढ़ें: दिसंबर का पहला दिन इन राशियों के स्वभाव में रहेगा चिड़चिड़ापन, जानिए राशिफल

अक्सर ये देखा गया है कि, गर्भवती महिलाओं में दिल की धड़कन बढ़ने लगती है, ऐसी स्थिति में महिलाओं को आराम करना चाहिए। अगर ऐसा ज्यादा हो जाता है तो डॉक्टर के पास जाएं।

यहीं नहीं हार्ट अटैक का प्रमुख कारण भी दिल की धड़कनों का बढ़ना ही होता है। ऐसी स्थिति में कुछ तरह के संकेत आपको पहले ही मिलने लगेंगे, जैसे कि पसीना आना, सांस लेने में परेशानी होना आदि। हार्ट अटैक से बचने के लिए चिंता मुक्त जीवन जिएं, समय पर खाना खाएं, समय पर नींद लें और थोड़ा व्यायाम जरुर करें।

यह भी पढ़ें: गांगुली की अध्यक्षता में BCCI की बैठक आज, बदले जा सकते हैं ये नियम