बहुत आलसी होतें हैं इंडियन, इस रिपोर्ट में हुआ खुलासा

आज-कल की लाइफ काफी भाग-दौड़ वाली हो गयी है। किसी के पास अच्छे से सांस लेने तक का टाइम नहीं है। लोग अपनी प्रोफेशनल लाइफ में इतना बिजी है की उनके पास पर्सनल लाइफ के लिए टाइम ही नहीं है।

नई दिल्ली: आज-कल की लाइफ काफी भाग-दौड़ वाली हो गयी है। किसी के पास अच्छे से सांस लेने तक का टाइम नहीं है। लोग अपनी प्रोफेशनल लाइफ में इतना बिजी है की उनके पास पर्सनल लाइफ के लिए टाइम ही नहीं है। जिसके चलते लोगों को इसका खामयाजा भी भुगतना पड़ता है। लोग थके-हारे अपने काम से वापस आतें हैं और अगर चाहें तो की सो लें तो उन्हें नींद भी नहीं आती है। नींद नहीं आती तो वो बीमार हो जातें हैं। बीमारी का सबसे बड़ा नींद न आना या नींद पूरी न होना होता है। लोग उसके बाद आलसी भी हो जातें हैं।

गतिविधि ट्रैकर कंपनी फिटबिट द्वारा 18 देशों के एक सर्वे में पता चला है कि जापान के बाद भारतीय सबसे अधिक नींद से वंचित दूसरे व्यक्ति हैं- अनुमान के हिसाब से यहां लोग 7 घंटे और 1 मिनट के लिए ही सोते हैं। 2016 के सर्वे के हिसाब से भारतीय का औसत सोने का समय 6 घंटे 55 मिनट का था। ध्यान देने वाली बात ये है कि सबसे अधिक नींद से वंचित देश एशिया में तीन हैं, जिसमें सिंगापुर के सबसे अधिक नींद से वंचित वाला देश हैं- जो दुनिया के इस हिस्से में एक सांस्कृतिक अस्वस्थता का दिखानेवाला हो सकता है।

ये भी देखें:ये हैं भारत में रेप के सबसे बड़े अपराधी! फांसी के लिए जारी हो सकता है ब्लैक वारंट

अधिक घंटे, कम नींद

1 अगस्त 2018 और 31 जुलाई 2019 के बीच किए गए सर्वे में यह भी बताया गया कि भारतीयों को कम से कम 77 मिनट की REM (रैपिड आई मूवमेंट) नींद मिलती है। REM नींद वह चरण है जिसमें सपने आते हैं और कहा जाता है कि यह किसी की यादों और सीखने की क्षमताओं को मजबूत करने में मदद करता है। मजबूरी यह है कि 75-90 वर्ष के आयु वर्ग के भारतीयों को कम से कम नींद मिली थी, जबकि वे पहले सोते थे, जबकि अन्य आयु समूहों के साथ तुलना में- सिर्फ 18-25 वर्ष की आयु वाले लोगों को अधिकतम राशि मिली थी। 75-90 साल के लोगों की बात करें तो बिस्तर पर जाने के बाद भी 1 घंटे बाद नींद आती है।

ये भी देखें:Twitter करने जा रहा है ये बड़ा बदलाव, ऐसे लोग नहीं कर पाएंगे मनचाही पोस्ट

भारत के लोग काफी सुस्त हैं

सर्वे से मिली जानकारी में यह पता चला कि भारतीय 18 देशों में सबसे कम सक्रिय थे- दिन के माध्यम से चलने वाले चरणों की संख्या के संदर्भ में मापा जाता है। एक दिन में व्यापक रूप से अनुशंसित 10,000 कदमों के मुकाबले, फिट रहने के लिए, भारतीयों ने केवल 6,533 कदम उठाए, वही हांगकांग से लगभग 3,600 कदम उठाए थे।

अगर चाहतें हैं अच्छे से सोना तो माने ये बातें

गुनगुने पानी से नहाएं

सोने से करीबन 20 से 30 मिनट पहले गुनगुने पानी से नहाएं। ऐसा करने से बॉडी की मांसपेशियों को आराम मिलता है। जिससे आपको अच्छी नींद आती है। बॉडी के टेपंरेचर में गिरावट आने की वजह से नींद आसानी से आ जाती है। इसलिए एक अच्छी नींद के लिए गुनगुने पानी से नहाना बेहद मददगार होता है।

एक्सरसाइज न करें सोने से पहले

एक्सरसाइज करने से नींद अच्छी आती है क्योंकि इससे दिमाग को शांति मिलती है। लेकिन एक्सरसाइज करने के फौरन बाद सोने से बचें। न्यूट्रीशनिस्ट रहीला हसन ने बताया, अच्छी नींद चाहते हैं तो अपने सोने के समय से कम से कम 3 से 6 घंटे पहले ही एक्सरसाइज कर लें। एक्सरसाइ करने के फौरन बाद कभी भी सोने की कोशिश न करें।

ये भी देखें:‘विवादित’ है EU का कश्मीर दौरा! जानिए भारत ने इसे क्यों रखा अनौपचारिक

दिन में एक अच्छी झपकी लें

अगर आप काम की वजह से रात में ठीक से सो नहीं पाते हैं तो दिन में कम से कम से 10 से 20 मिनट की नींद लें। जिससे आपका मूड फ्रेश होगा और आप काम में ठीक से ध्यान भी लगा पाएंगे।

बदलाव करें खाने में

सोने से करीब 3-4 घंटे पहले ही खाना खालें। क्योंकि खाते ही सो जाने से पेट में मौजूद एसिड हमारे बॉडी की फूड पाइव में पहुंच जाता है। जिसके करण आपको सीने में जलन का एहसास हो सकता है और आप चाहकर भी ठीक से सो नहीं पाते हैं।