लॉकडाउन से होने लगा स्ट्रेस तो इन TIPS की मदद से हो जाइए टेंशन फ्री..

  पूरी दुनिया में 3,50,000 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। भारत में भी कोरोना वायरस पीड़ितों की संख्या बढ़कर 500 से ज्यादा हो चुकी है। इस जानलेवा वायरस के डर से स्कूल, कॉलेज, दफ्तर सब बंद हो चुके हैं।

Published by suman Published: March 26, 2020 | 12:51 pm

नई दिल्ली:  दुनियाभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। भारत में भी इससे जुड़े कई मामले अब तक सामने आ चुके हैं। जिन लोगों को यह संक्रमण है वो तो इससे परेशान हैं ही। इसके साथ ही बाकि के लोग भी मानसिक तौर पर डरे हुए हैं।  विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से कोरोना वायरस के बाद मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखने की सलाह दी जा रही है। ऐसा इसलिए है क्योंकि लोगों ने खुद को घर में बंद कर लिया है, जिसका सीधा असर उनके दिमाग पर पड़ रहा है। ऐसे में जरूरी है कोरोना वायरस के साथ-साथ खुद के मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखना। आइए जानते हैं कोरोना वायरस के हाहाकार के बीच कैसे मेंटल रुप से स्वस्थ रहें…

यह पढ़ें….घर बैठे मिलेगा जरुरी सामान: लॉकडाउन में न निकलें बाहर, बस करें एक कॉल

पूरी दुनिया में 3,50,000 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। भारत में भी कोरोना वायरस पीड़ितों की संख्या बढ़कर 500 से ज्यादा हो चुकी है। इस जानलेवा वायरस के डर से स्कूल, कॉलेज, दफ्तर सब बंद हो चुके हैं। सरकार लोगों से घरों में लॉकडाउन रहने का आग्रह कर रही है. घर में कैद होने की वजह से कई लोगों में स्ट्रेस (मानसिक तनाव) की समस्या बढ़ सकती है।

अकेले रहने से बचें, सेल्फ आइसोलेशन का मतलब बिल्कुल भी ये नहीं है कि आप परिवार, दोस्तों और बाकि की दुनिया से कट जाए बल्कि ये अच्छा मौका है उन दोस्तों से फोन पर बात करने जिनसे आप लंबे समय से बात नहीं कर पाए हैं। लोगों से मिल नहीं सकते हैं तो वीडियो कॉल के जरिए उनसे उनका हाल पूछिए।

म्यूजिक, रीडिंग, पेंटिंग, यदि आप लोगों के बीच रहकर अकेला महसूस करते हैं और यहां भी मानसिक अवसाद आपका पीछा नहीं छोड़ रहा है तो अच्छी चीजें पढ़ना-लिखना शुरू कर दें। आप चाहें तो पेंटिंग भी कर सकते हैं या फिर अपना पसंदीदा म्यूजिक सुन सकते हैं।

 

मॉर्निंग वॉक, सुबह के वक्त रनिंग शुरू कर दीजिए। ताजा हवा में खुलकर सांस लेने से आपका दिमाग सही दिशा में दौड़ेगा और आप हर चीज को लेकर हाइपर नहीं होंगे। सेल्फ आइसोलेशन के कारण आप घर से बाहर नहीं निकल सकते हैं, लेकिन घर पर ही एक्सरसाइज करें। मानसिक स्वास्थ्य के लिए मेडिटेशन करें। दौड़ना, कूदना, सीढ़ियां चढ़ना जैसी चीजें नियमित तौर पर करें।

एक्सरसाइज करें, एक्सरसाइज करने से सेहत बनने के साथ तनाव भी कम होता है। एक्सरसाइज करने से हमारी बॉडी से हैपी हार्मोन रिलीज होते हैं, जिसके चलते हमारा तनाव कुछ ही पल में गायब हो जाता है,लेकिन अगर आपके पास एक्सरसाइज का समय नहीं है तो आप दिन में 15 से 20 मिनट तक जरूर टहलें।

यह पढ़ें…. विटामिन C से ठीक होंगे कोरोना के मरीज! इलाज के लिए हुए नए टेस्ट में मिले संकेत

 

 

 

टॉक टू फ्रेंड्स, अकेलेपन में लोगों से मिलने और उनसे बात करने का बड़ा मन करता है। ऐसे में आप वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दोस्तों से जुड़ सकते हैं।

खबरों पर ज्यादा ध्यान न दें, कोरोना वायरस को लेकर अखबार, टीवी चैनल और सोशल मीडिया पर कई तरह की खबरें चल रही हैं। ब्रिटेन की चैरिटी माइंड संस्था की प्रवक्ता का रोजी वेदरले का कहना है कि वर्तमान में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर जो खबरें आ रही हैं उनमें से कई झूठी भी हैं, जिसके कारण लोगों का तनाव बढ़ सकता है।  ऐसी स्थिति में खबरों से थोड़ी दूरी बनाकर चलने की आवश्यकता है। खबरों को पढ़ें, लेकिन कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबर को सच न मानें।