सोयाबीन के फायदेः बढ़ाएगा खूबसूरती, शरीर से बीमारी दूर, ऐसे करें सेवन

शुगर युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से मधुमेह की समस्या बढ़ सकती है. इसे लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड की श्रेणी में गिना जाता है,

Published by suman Published: January 26, 2021 | 9:38 pm
soya

सोशल मीडिया से फोटो

लखनऊ :  सोयाबीन को डाइट में शामिल करने से कई तरह की बीमारियों से दूर रह सकते हैं। सोयाबीन में काफी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। यह अंडे, दूध और मांस में पाए जाने वाले प्रोटीन से भी ज्यादा होता है। इसके अलावा इसमें विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, विटामिन ई, मिनरल्स और एमीनो एसिड पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, जो शरीर की विभिन्न आवश्यकताओं की पूर्ति करने के अलावा कई तरह के रोगों के उपचार में  कारगर होता है।

खास बात ये है कि शारीरिक विकास, त्वचा संबंधी समस्याएं और बालों की समस्या के भी उपचार सोयाबीन से संभव है। इन सबके अतिरिक्त सोयाबीन के अनेक फायदे हैं,  इन्हीं फायदों के बारे में आपको जानकारी दे रहे हैं।

 

कैंसर  में मददगार

सोयाबीन का सेवन करने से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से बचा जा सकता है। सोयाबीन में पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट्स कई तरह के कैंसर रोकने में मददगार होते हैं। यह शरीर में कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं को पनपने से रोकती है। सोयाबीन में मौजूद फाइबर कंटेंट कोलोन कैंसर के खतरे को कम करने में मददगार होता है। इसलिए डॉक्टर भी सोयाबीन खाने की सलाह देते हैं।

यह पढ़ें….बवाल बनी ट्रैक्टर रैली: यहां जानें कब-कहां क्या हुआ, कैसा रहा ट्रैक्टर मार्च

मानसिक रोग में मददगार  

यदि आपको कोई मानसिक रोग है तो आप सोयाबीन को अपनी डाइट में शामिल करें। सोयाबीन मानसिक संतुलन को ठीक करके दिमाग को तेज करता है।

soya

दिल की बीमारियों

यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती है तो रोजाना सोयाबीन खाएं। यह ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में सहायक होता है। दिल के रोग होने पर सोयाबीन खाने की सलाह दी जाती है। अगर पहले से ही सोयाबिन खाना शुरू कर देंगे तो आपको दिल की बीमारियां नहीं होगी।

 

यह पढ़ें….सैफई मेला मैदान में अखिलेश यादव ने किया झंडा रोहण, कृषि बिल पर कही ये बात

 

हड्डियों मजबूत 

सोयाबीन में विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं। इसके अलावा उसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, कॉपर, सेलेनियम और जिंक भी काफी मात्रा पाई जाती है। ये सभी पोषक तत्व शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं।  सोयाबीन का सेवन ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्या के लिए सबसे बेहतर समाधानों में से एक है।

 

soya

मधुमेह में लाभकारी

शुगर युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से मधुमेह की समस्या बढ़ सकती है। इसे लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड की श्रेणी में गिना जाता है, जिसमें कार्बोहाड्रेट और वसा की कम मात्रा होती है। इसलिए मधुमेह में सोयाबीन का सेवन लाभकारी साबित हो सकता है। इसमें पाया जाने वाला प्रोटीन ग्लूकोज को नियंत्रित करता है और इंसुलिन में आने वाली बाधा को कम कर सकता है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App