अगर है हाई कोलेस्ट्रॉल तो तुरंत कराएं इलाज, बच सकते हैं हार्ट डिज़ीज से

हाल ही में एक रिसर्च में सामने आया है कि, यदि हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल का इलाज समय पर करवा लिया जाए तो हार्ट अटैक और स्ट्रोक से जैसी समस्याओं से बचा जा सकता है।

अगर है हाई कोलेस्ट्रॉल तो तुरंत कराए इलाज, बच सकते हैं हार्ट डिज़ीज से

अगर है हाई कोलेस्ट्रॉल तो तुरंत कराए इलाज, बच सकते हैं हार्ट डिज़ीज से

स्वस्थ रहने के लिए शरीर में थोड़ी मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होना जरुरी है, लेकिन अगर इसका स्तर बढ़ जाता है तो इससे ह्रदय रोग के अलावा अन्य समस्याएं हो सकती हैं। शरीर में कोलेस्ट्रॉल की अधिक मात्रा की वजह से सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है।

अब हाल ही में एक रिसर्च में सामने आया है कि, यदि हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल का इलाज समय पर करवा लिया जाए तो हार्ट अटैक और स्ट्रोक से जैसी समस्याओं से बचा जा सकता है। चलिए आपको बताते हैं रिसर्च के बारे में-

यह भी पढ़ें: मोदी-शाह पर गरजे राहुल: वायनाड में दिया ये बड़ा बयान

रिसर्च में सामने आई ये बात

कोलेस्ट्रॉल पर किए गए इस रिसर्च में 40 से अधिक साल के लगभग 400,000 रोगियों को शामिल किया गया। इस रिसर्च में बताया गया है कि, 45 साल से कम उम्र के लोगों में हाई कोलेस्ट्रॉल और खराब स्वास्थ्य के बीच एक संबंध है। रिसर्च में ये कहा गया है कि, 45 साल से कम उम्र के पुरुषों को 75 वर्ष की उम्र तक मोटापा या धूम्रपान के साथ हाई कोलेस्ट्रॉल हार्ट अटैक और स्ट्रोक के जोखिमों को बढ़ा देता है। ये खतरा पुरुषों में ये जोखिम 29 फीसदी रहता है, जबकि 16 फीसदी महिलाओं में ये जोखिम था।

यह भी पढ़ें: झारखंड चुनाव: CM योगी ने गिनाईं सरकार की उपलब्धियां, राम मंदिर पर दिया बड़ा बयान

ऐसे में शोधकर्ता ये सलाह देते हैं कि, अगर आपको खराब कोलेस्ट्रॉल और हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या है तो, इसका तुरंत इलाज करवाकर एथेरोस्क्लेरोसिस के शुरुआती संकेतों को रोका जा सकता है। इसका तुरंत इलाज करवाने से अतिरिक्त वसा, कैल्शियम की कमी और हाई कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल किया जा सकता है।

यूनिवर्सिटी ऑफ आयोवा के जेनिफर रॉबिन्सन के मुताबिक, खराब और हाई कोलेस्ट्रॉल से दिल पर करीब 10 सालों के अंदर ही असर दिखाई देने लगता है। ऐसे में युवाओं को हाई या खराब कोलेस्ट्रॉल को प्रभावी ढंग से कम करने के तरीकों को अपनाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: यूपी: फिर जली एक और बेटी, सरकार की कानून व्यवस्था पर उठे सवाल