रोजगार का वादा झूठा, मजदूर कर रहे हैैं खुदकशी: अजय कुमार लल्लू

अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में प्रदेश में बढ़ती प्रवासी मजदूरों की आत्महत्या की घटनाओं पर रोष प्रकट करते हुए वर्तमान योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि योगी सरकार मजदूरों बेरोजगारों के साथ छल और धोखाधड़ी कर रही है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश सरकार द्वारा सवा करोड़ रोजगार देने के दावे को झूठा करार देते हुए कहा कि योगी सरकार प्रदेश के बेरोजगारों और प्रवासी मजदूरों के साथ छल और धोखाधड़ी करने का काम कर रही है। जमीनी स्तर पर हालात इतने खराब हैं कि मजदूर आत्महत्या करने को मजबूर हैं।

बागी भाजपा विधायक: अपनी ही पार्टी के सांसद पर साधा निशाना, कही ये बड़ी बात

अजय कुमार लल्लू ने दिया बयान

अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में प्रदेश में बढ़ती प्रवासी मजदूरों की आत्महत्या की घटनाओं पर रोष प्रकट करते हुए वर्तमान योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि योगी सरकार मजदूरों बेरोजगारों के साथ छल और धोखाधड़ी कर रही है। उन्होंने बाँदा का हवाला देते हुए कहा कि पिछले एक महीने में अकेले बाँदा जनपद में 15 से अधिक मामलों में आपदा काल के दौरान जो प्रवासी मजदूर लौटे थे उन्होंने ख़ुदकुशी की है। बीते दिन झांसी में भी एक मजदूर ने आर्थिक तंगी के वजह से आत्महत्या कर लिया।

माई गवर्नमेंट: आ गया कोरोना हेल्प डेस्क वाट्सएप नंबर, जिलाधिकारी ने दी जानकारी

पूरे प्रदेश में मजदूर तंग हालात

प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि डिफेन्स एक्सपो और इन्वेस्टर मीट में जो खरबों के करार हुए थे, उससे कितनो को रोजगार मिला सरकार को जवाब देना चाहिए । दोनों आयोजनों में सरकार ने करोड़ो रुपये पानी की तरह बहाए थे।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पूरे प्रदेश में मजदूर तंग हालात में है। कोई रोजगार नहीं है। ना ही तो कोई कारगर योजना जमीन पर काम कर रही है। हालात इतने बदतर हो गए हैं कि मजदूर आत्महत्या को मजबूर हैं लेकिन मजदूर विरोधी सरकार उनकी बात तक सुनने को तैयार नहीं है। मजदूर आस लगाए बैठे कि सरकार स्किल मैपिंग करके उनको योग्यता के हिसाब से रोजगार देगी लेकिन अब तो उनके घरों में खाने के लाले पड़े हुए हैं।

सरकार लगातार इनकी अनदेखी कर रही है

उन्होंने कहा कि बुनकरी-दस्तकारों का बुरा हाल है। व्यापार बंद है। काँच उद्योग, पीतल उद्योग, फ़र्नीचर उद्योग, चमड़े का उद्योग, होजरी उद्योग, डेयरी, मिट्टी बर्तन उद्योग, फिशरी, अन्य घरेलू और लघु उद्योग सभी को तेज झटका लगा है। सरकार लगातार इनकी अनदेखी कर रही है। उन्होंने सरकार से तत्काल प्रवासी मजदूरों के लिए आर्थिक पैकेज देने की घोषणा करने को कहा है।

रिपोर्टर- श्रीधर अग्निहोत्री, लखनऊ

नही भाया हरा, नारंगीः मांग है पांच दिन करने दें कारोबार, खुलें सभी दुकानें

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App