Top

प्रखर वकील अरुण जेटली कभी इसमें बनाना चाहते थे अपना करियर

उन्होंने 1977 में दिल्ली विश्‍वविद्यालय के विधि संकाय से विधि की लॉं की डिग्री हासिल की। वैसे बता दें, जेटली कई दिग्गज नेताओं के लिए केस भी लड़ चुके हैं। जनता दल के नेता शरद यादव, कांग्रेस नेता माधव राव सिंधिया और बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी जैसे दिग्गज नेता शामिल हैं।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 25 Aug 2019 9:24 AM GMT

प्रखर वकील अरुण जेटली कभी इसमें बनाना चाहते थे अपना करियर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का शनिवार को 12 बजकर 7 मिनट पर निधन हो गया। वह एक प्रखर नेता और वकील थे। दिल्ली में 28 दिसंबर 1952 को जन्में अरुण जेटली जीतने सफल अपने राजनीतिक सफर में थे, वह उतने ही अच्छे वकील भी थे। हालांकि, वह वकालत कभी नहीं करना चाहते थे।

यह भी पढ़ें: RIP Arun Jaitley: अरुण जेटली का पार्थिव शरीर निगमबोध घाट पहुंचा, थोड़ी देर में अंतिम संस्कार

जी हां, ये बात 100 टका सच है। जेटली कभी भी वकील नहीं बनना चाहते थे। वह शुरू से चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के सपने देख रहे थे। अगर आज वह वकील न होते तो एक सफल चार्टर्ड अकाउंटेंट जरूर होते। मगर वह इस फील्ड में अपना करियर नहीं बना पाए।

यह भी पढ़ें: AIIMS में जेटली का जादू: अपने वेतन से मरीजों के लिए किया ये नेक काम

उन्होंने 1977 में दिल्ली विश्‍वविद्यालय के विधि संकाय से विधि की लॉं की डिग्री हासिल की। वैसे बता दें, जेटली कई दिग्गज नेताओं के लिए केस भी लड़ चुके हैं। जनता दल के नेता शरद यादव, कांग्रेस नेता माधव राव सिंधिया और बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी जैसे दिग्गज नेता शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने की ‘मन की बात’, इन अहम मुद्दों पर की चर्चा

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story