Top

बिहार में नामांकन आज से, एनडीए व महागठबंधन में नहीं सुलझा सीटों का विवाद

कोरोना संकट के बीच बिहार में पहले चरण की नामांकन प्रक्रिया गुरुवार से शुरू हो रही है। नामांकन प्रक्रिया की शुरुआत के समय तक एनडीए और विपक्षी महागठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर फंसा पेंच नहीं सुलझ सका है।

Shivani

ShivaniBy Shivani

Published on 1 Oct 2020 3:55 AM GMT

बिहार में नामांकन आज से, एनडीए व महागठबंधन में नहीं सुलझा सीटों का विवाद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अंशुमन तिवारी

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच बिहार में पहले चरण की नामांकन प्रक्रिया गुरुवार से शुरू हो रही है। नामांकन प्रक्रिया की शुरुआत के समय तक एनडीए और विपक्षी महागठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर फंसा पेंच नहीं सुलझ सका है।

बुधवार को देर रात तक सीट बंटवारे का विवाद सुलझाने के लिए बैठकों का दौर जारी रहा मगर अंतिम फैसला नहीं हो सका। एनडीए में सीटों के बंटवारे का मामला लोजपा के मुखिया चिराग पासवान ने उलझा रखा है तो विपक्षी महागठबंधन के दो प्रमुख दलों राजद और कांग्रेस में ही सीटों को लेकर विवाद शुरू हो गया है।

71 सीटों के लिए नामांकन आज से

पहले चरण में 16 जिलों के 71 विधानसभा सीटों के लिए नामांकन दाखिल किए जाएंगे। पहले चरण के नामांकन दाखिले की आखिरी तारीख 8 अक्टूबर है, जबकि 12 अक्टूबर तक नाम वापस लिए जा सकते हैं। पहले चरण का मतदान 28 अक्टूबर को होगा।

Bihar Assembly Elections 2020 nominations starts NDA Congress RJD seat sharing

पहले चरण के मतदान के दौरान राजद और नीतीश कुमार की अगुवाई वाली एनडीए दोनों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है क्योंकि इस दौरान राजद के कई प्रमुख नेताओं के साथ ही नीतीश सरकार के सात मंत्रियों की किस्मत का फैसला होगा।

एनडीए में सीट बंटवारे की कवायद तेज

एनडीए में सीटों के बंटवारे का विवाद सुलझाने के लिए भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने पहले राज्य नेतृत्व के साथ चर्चा की और अब एनडीए के अन्य घटक दलों के साथ चर्चा की जा रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अंतिम चर्चा करने के लिए भूपेंद्र यादव व देवेंद्र फडणवीस पटना पहुंच गए हैं।

ये भी पढ़ेंः फिर जली पीड़िता की लाश: बलरामपुर गैंगरेप से कांपा यूपी, रात में अंतिम संस्कार

लोजपा मुखिया चिराग पासवान से दिल्ली में बातचीत कर उन्हें एनडीए में ही बने रहने के लिए तैयार करने की कवायद की जा रही है। जानकार सूत्रों का कहना है कि एनडीए में सीटों के बंटवारे की घोषणा एक-दो दिनों में कर दी जाएगी।

विवाद सुलझाने में जुटा भाजपा का शीर्ष नेतृत्व

बुधवार को दिन भर भाजपा का शीर्ष नेतृत्व सीटों के बंटवारे का विवाद सुलझाने में जुटा रहा। भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने लगभग तीन घंटे तक चली बैठक के दौरान सीटों को चिन्हित करने और चुनाव अभियान को तेज करने के मुद्दे पर लंबी चर्चा की।

Nitish kumar

इस महत्वपूर्ण बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, प्रभारी महासचिव भूपेंद्र यादव, संगठन महामंत्री बीएल संतोष, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल भी मौजूद थे।

एनडीए की फिर सरकार बनने का दावा

बैठक के बाद भूपेंद्र यादव ने दावा किया कि एनडीए एकजुट होकर चुनाव मैदान में उतरेगा और नीतीश कुमार के नेतृत्व में एक बार फिर बिहार में एनडीए की सरकार बनेगी। उन्होंने सीटों के बंटवारे के मुद्दे पर भाजपा, जदयू और लोजपा में किसी प्रकार का मतभेद न होने का दावा भी किया।

ये भी पढ़ेंः खुशखबरी! सरकार ने दी बड़ी राहत, अब इस तारीख तक भर सकेंगे GST Return

भाजपा ने फैसला किया है कि सहयोगी दलों से सीट बंटवारे के मुद्दे पर बातचीत की जिम्मेदारी भूपेंद्र यादव और देवेंद्र फडणवीस निभाएंगे। भाजपा की इस महत्वपूर्ण बैठक के दौरान फडणवीस को बिहार के लिए चुनाव प्रभारी बनाने की घोषणा भी की गई।

चिराग पासवान से फिर होगी चर्चा

जानकार सूत्रों का कहना है कि सीटों के बंटवारे का विवाद सुलझाने के लिए केंद्रीय नेतृत्व और चिराग पासवान के बीच एक बार फिर चर्चा होगी। इसके बाद भाजपा, जदयू और लोजपा तीनों दलों के नेता एक साथ बैठकर सीटों के बंटवारे को अंतिम रूप देंगे।

Bihar Election Rebellion in NDA Chirag Paswan Unhappy LJP MP touch with BJP

कांग्रेस और राजद में खींचतान जारी

उधर महागठबंधन में भी सीट बंटवारे को लेकर राजद और कांग्रेस के बीच खींचतान चल रही है। जानकार सूत्रों का कहना है कि इस विवाद को जल्द सुलझाने के लिए कांग्रेस हाईकमान और राजद नेता तेजस्वी यादव के बीच जल्द ही बातचीत हो सकती है।

ये भी पढ़ेंः 25 करोड़ रुपए खर्च कर बना भवन, फिर भी नहीं शुरू हो सका अध्ययन कार्य

हालांकि दोनों पार्टियों की ओर से मिलकर विधानसभा चुनाव में उतरने की बात कही जा रही है। कांग्रेस के केंद्रीय और राज्य स्तरीय नेताओं में बुधवार को दिन भर सीट बंटवारे का विवाद सुलझाने के लिए चर्चा चलती रही।

कांग्रेस की 75 सीटों की मांग

सियासी जानकारों का कहना है कि महागठबंधन में कांग्रेस की ओर से 75 सीटों की मांग की जा रही है जबकि राजद इतनी ज्यादा सीटें देने को तैयार नहीं है। कांग्रेस का कहना है कि जीतन राम मांझी की पार्टी हम और रालोसपा के महागठबंधन से बाहर जाने के बाद उसे ज्यादा सीटें मिलनी चाहिए।

Bihar Election 2020 RJD-Congress Alliance tension on Seat Sharing

दूसरी ओर राजद कांग्रेस को 60 से ज्यादा सीटें देने के लिए तैयार नहीं है। इसी कारण दोनों पार्टियों के बीच विवाद पैदा हो गया है।

गठबंधन टूटने तक नहीं पहुंचेगा विवाद

कांग्रेस नेताओं का कहना है कि चुनाव के दौरान हर पार्टी ज्यादा से ज्यादा सीटों की इच्छा रखती है। ‌ इसीलिए कांग्रेस की ओर से भी ज्यादा सीटें मांगी जा रही हैं मगर दोनों दलों के बीच मतभेद इस हद तक नहीं पहुंचेगा कि गठबंधन टूट जाए। कांग्रेसी नेताओं का दावा है कि जल्द ही दोनों पार्टियां सीट बंटवारे का विवाद सुलझा लेंगी और विपक्षी महागठबंधन में सीटों का एलान कर दिया जाएगा।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani

Shivani

Next Story