Top

हिल गया बिहार: तबाही का खौफनाक मंजर, सेकंडों में गिर गया करोड़ों का पुल

देश का बिहार राज्य बुरी तरह से बारिश से प्रभावित है। इस बीच बिहार के गोपालगंज में 263.47 करोड़ की लागत से बना एक पुल महज एक दिन के अंदर ही धाराशायी हो गया।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 16 July 2020 8:46 AM GMT

हिल गया बिहार: तबाही का खौफनाक मंजर, सेकंडों में गिर गया करोड़ों का पुल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: देश का बिहार राज्य बुरी तरह से बारिश से प्रभावित है। इस बीच बिहार के गोपालगंज में 263.47 करोड़ की लागत से बना एक पुल महज एक दिन के अंदर ही धाराशायी हो गया। जिसने सरकारी कामों की कलई खोल दी है। गोपालगंज जिले में सत्तरघाट महासेतु कल पानी के दबाव से ढह गया। ये ब्रिज उद्घाटन के 29 दिन बाद ही ढह गया। बताया जा रहा है कि इस पुल को बनने में आठ साल लग गए, लेकिन छहने में एक दिन भी नहीं लगा।

भीष्म पितामह नीतीश जी इस पर एक शब्द नहीं बोलेंगे

अब इस टूटे हुए पुल को लेकर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर तंज कसा है। तेजस्वी ने अपने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा है कि 263 करोड़ से 8 साल में बना लेकिन मात्र 29 दिन में ढ़ह गया पुल। संगठित भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह नीतीश जी इस पर एक शब्द भी नहीं बोलेंगे और ना ही साइकिल से रेंज रोवर की सवारी कराने वाले भ्रष्टाचारी सहपाठी पथ निर्माण मंत्री को बर्खास्त करेंगे। बिहार में चारों तरफ लूट ही लूट मची है।

यह भी पढ़ें: सुशांत की GF को धमकीः बलात्कार कर मार दी जाओगी, वरना कर लो आत्महत्या



ख़बरदार! अगर किसी ने नीतीश जी को भ्रष्टाचार कहा तो

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि 8 वर्ष में 263.47 करोड़ की लागत से निर्मित गोपालगंज के सत्तर घाट पुल का 16 जून को नीतीश जी ने उद्घाटन किया था आज 29 दिन बाद यह पुल ध्वस्त हो गया। ख़बरदार! अगर किसी ने नीतीश जी को भ्रष्टाचार कहा तो? 263 करोड़ तो सुशासनी मुँह दिखाई है। इतने की तो इनके चूहे शराब पी जाते हैं।

यह भी पढ़ें: गिरफ्तार कांग्रेस अध्यक्ष: उम्भा काँड को लेकर देने जा रहे थे श्राद्धंजली, हुए नजरबंद



कांग्रेस ने भी नीतीश सरकार पर साधा निशाना

इसके अलावा कांग्रेस ने भी नीतीश सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और युवक कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ललन कुमार ने कहा कि बीजेपी और जेडीयू सरकार की यह भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा है। सृजन घोटाला के अभी जांच पूरी हो भी नहीं पाई की रामजानकी पथ पर इतना बड़ा घोटाला सामने आ गया। अब इसकी मरम्मत के नाम पर मंत्री और अधिकारी मालामाल होंगे। उन्होंने कहा कि बाढ़ यहां के सत्तापक्ष के नेताओं और अधिकारियों के लिए पर्व-त्योहार के सामन है।

यह भी पढ़ें: हिंदी का दर्द चीन्हें ! आज कितने हिंदी प्रेमी आईसीयू (गहन चिकित्सा केंद्र) में भर्ती हुए हैं?

प्रदेश के पथ निर्माण मंत्री ने दिया बेतुका बयान

वहीं इस मामले में प्रदेश के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव का बेतुका बयान आया है। नंद किशोर यादव ने इस मामले में कहा कि सत्तर घाट का पुल बिल्कुल सुरक्षित है। पूरे सत्तरघाट पुल को कोई नुकसान नहीं हुआ। यह प्राकृतिक आपदा है, इसमें तो सड़कें बह जाती है, पुल टूट जाते हैं। पानी जब बढ़ता है तो ऐसी स्थितियां पैदा होती हैं जैसे ही पानी का बहाव कम होगा, उसे ठीक किया जाएगा।

आठ साल में बनकर तैयार हुआ था यह महत्वकांक्षी पुल

दरअसल, राज्य के छपरा से सटे गोपालगंज में सत्तरघाट महासेतु भारी बारिश के दबाव के चलते ध्वस्त हो गया है। ये पुल चंपारण तिरहुत और सारण के कई जिलों का संपर्क मार्ग था, हालाँकि अब पुल टूटने से आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया है। गोपालगंज के बैकुंठपुर के फैजुल्लाहपुर में यह पुल टूटा है।

यह भी पढ़ें: एल-1 हॉस्पिटल में साफ सफाई व भोजन व्यवस्था बेहतर हो: जय प्रताप सिंह

16 जून को सीएम नीतीश ने किया था उद्घाटन

बता दें कि इस पुल का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक महीने पहले ही 16 जून को पटना से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया था। कई जिलों को जोड़ने वाला यह महत्वकांक्षी पुल आठ सालों में बनकर तैयार हुआ था और मात्र 29 दिनों में ही ढह गया। इसके निर्माण की जिम्मेदारी पुल निर्माण विभाग की थीं। इसके निर्माण के लिए 263 करोड़ रुपये की राशि खर्च की गई थी।

यह भी पढ़ें: सरकार की खुली पोल: कोरोना वारियर को भी हुआ कोरोना, स्वाथ्य विभाग में हड़कंप

भारी बारिश का दवाब न झेल सका

बताया जा रहा है कि तेज बारिश के मद्देनजर गोपालगंज में तीन लाख से ज्यादा क्यूसेक पानी का बहाव था। ऐसे में जलस्तर के दबाव की वजह से पुल का एप्रोच रोड टूट गया। वहीं अब पुल निर्माण में लापरवाही और भ्रष्टाचार के आरोप लग रहे हैं। मंत्रियों की तरफ से जांच की मांग की है। इसमें नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का नाम भी शामिल हैं।

देखें ये वीडियो-

https://www.facebook.com/877336255717207/videos/290954412146840

यह भी पढ़ें: सीमा से बड़ी खबर: चीनी सेना को लेकर सरकार ने दी सफाई, बताई ये बात

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story