CAA पर आगरा में बोले जेपी नड्डा, मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा कांग्रेस नेतृत्व

नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) के समर्थन में भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) देश में अभियान चला रही हैं। इसके साथ ही अलग-अलग जगहों पर पार्टी के बड़े नेता रैली कर रहे हैं। इसी कड़ी में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उत्तर प्रदेश के आगरा में एक रैली को संबोधित किया।

आगरा: नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) के समर्थन में भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) देश में अभियान चला रही हैं। इसके साथ ही अलग-अलग जगहों पर पार्टी के बड़े नेता रैली कर रहे हैं। इसी कड़ी में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उत्तर प्रदेश के आगरा में एक रैली को संबोधित किया। इस रैली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह समेत दिग्गज नेता मौजूद रहे हैं।

बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ताजनगरी के कोठी मीना बाजार ग्राउंड में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि बीजेपी, जो दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है, जिसके विस्तार में पूर्व अध्यक्षों ने बहुत बड़ा योगदान दिया है। श्री अमित शाह ने पार्टी का आयाम न सिर्फ संख्या में बढ़ाया, बल्कि राज्यों में भी सरकारों को बढ़ाया है। मैं पार्टी को विश्वास दिलाता हूं कि आपके सहयोग, तप, योगदान से मैं पार्टी को और आगे ले जाऊंगा।

इसके साथ ही जेपी नड्डा ने सीएए का विरोध कर रहीं कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियों पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पिछले कई वर्षों तक भारत की राजनीति में जो हुआ, आजादी के बाद जो निर्णयों हुए, उससे भारत को बहुत नुकसान हुआ। हमें आजादी तो मिली, लेकिन उसके साथ जो फैसले हुए वो भारत के लिए घातक सिद्ध हुए। 2019 में बीजेपी के 303 सांसद जीतकर आए और पिछले 8 महीनों में नरेन्द्र मोदी जी नेतृत्व में वो काम हुए, जो पिछले 70 वर्षों से लंबित थे।

यह भी पढ़ें…शिवसेना को झटका: राज ठाकरे ने उठाया ये बड़ा कदम, आसान नहीं आगे का सफर

उन्होंने कहा कि सन् 1947 में महात्मा गांधी जी ने कहा था कि पाकिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यकों को वहां दिक्कत आ रही है तो उन्हें भारत में बसाने और उन्हें रोजगार देने की जिम्मेदारी भारत की है। नेहरू जी ने कहा था कि पाकिस्तान में प्रताड़ित अल्पसंख्यकों को भारत के रिलीफ फंड से मदद देनी चाहिए। मनमोहन सिंह जी ने 2003 में कहा था कि बांग्लादेश में हिंदू प्रताड़ित हो रहे हैं, उन्हें भारत में बसाने की जिम्मेदारी भारत की होनी चाहिए।

बीजेपी के अध्यक्ष ने कहा कि आजकल बड़े-बड़े दलित नेता सीएए का विरोध कर रहे हैं, उनको मालूम नहीं है कि जो लोग भारत में आए हैं उनमें 70% दलित हैं। जिनको भारत में रहने का अधिकार दिया है, उनको नागरिकता दी है। दलित नेता और कांग्रेस पार्टी कुछ भी सीएए के बारे में नहीं जानती है, सिर्फ भ्रम फैला रही है। इनकी राजनीति समाप्त हो चुकी है, इनको समझ में आ गया है कि देश बदल चुका है, मोदी जी के नेतृत्व में तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है।

यह भी पढ़ें…मुस्लिम महिलाओं पर बड़ा फैसला! मोदी सरकार के इस निर्णय पर फिर मचेगा ‘बवाल’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस कहती है कि इस कानून से अल्पसंख्यकों की नागरिकता छीनी जाएगी। सीएए नागरिकता देने का कानून है, नागरिकता लेने का नहीं। जिन लोगों को कोई जानकारी नहीं है, वो सीएए पर लोगों भड़का रहे हैं।

जेपी नड्डा ने कहा कि जम्मू कश्मीर पर अनुच्छेद 370 कई वर्षों से लटका था, अगर ये अच्छा कानून था तो कांग्रेस जब सरकार में थी, तो इसे स्थाई क्यों नहीं किया गया। अब अनुच्छेद 370 हटने के बाद से जम्मू कश्मीर की धरती पर भारत के 103 कानून लागू होने जा रहे हैं।

राम मंदिर के मुद्दे पर जेपी नड्डा ने कहा कि एक ऐसी सरकार भी थी जो राम जन्मभूमि पर फैसला नहीं चाहती थी। कांग्रेस ने इसे टालने का काम किया। मोदी सरकार आने के बाद सुप्रीम कोर्ट में समयबद्ध तरीके से केस चला और कोर्ट ने राम मंदिर के पक्ष में फैसला दे दिया, अब वहां भव्य राम मंदिर जल्द बनेगा।

यह भी पढ़ें…CAA पर राजनाथ सिंह का बड़ा बयान, भारतीय मुसलमानों के लिए कही ये बड़ी बात

उन्होंने कहा कि जो लोग धर्म के आधार पर बांग्लादेश, अफगानिस्तान और पाकिस्तान में प्रताणित हुए, जो बहू-बेटियां की इज्जत बचाने के लिए देश में आएं और जो लोग 31 दिसंबर, 2014 से पहले देश में पहुंचे, उनको मोदी जी ने भारत की नागरिकता देना तय किया है। कांग्रेस पार्टी हताश हो चुकी है। कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा है। कांग्रेस पार्टी के पिछले 8 महीने के वक्तव्य पाकिस्तान को मदद करने वाले दिखाई देंगे।