×

सोनिया का पीएम को खतः कहा इस फैसले को तुरंत लें वापस

कोरोना संकट के बीच पेट्रोल और डीजल के दाम में लगातार दस दिन से बढ़ोत्तरी की जा रही है। सरकार के इस फैसले को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 'असंवेदनशील' करार दिया है।

Shreya
Updated on: 16 Jun 2020 6:17 AM GMT
सोनिया का पीएम को खतः कहा इस फैसले को तुरंत लें वापस
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: पूरा देश इस वक्त कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जंग लड़ रहा है। कोरोना के चलते लागू लॉकडाउन की वजह से कई तरह के सेक्टर, बिजनेस को नुकसान झेलना पड़ा है। कोरोना संकट के बीच पेट्रोल और डीजल के दाम में लगातार दस दिन से बढ़ोत्तरी की जा रही है। सरकार के इस फैसले को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 'असंवेदनशील' करार दिया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखते हुए कीमतों को वापस लेने की मांग की है।

सोनिया गांधी ने बढ़ी कीमतों को वापस लेने का किया आग्रह

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर पेट्रोल-डीजल के बढ़े दाम वापस लेने और नागरिकों को कच्चे तेल की कम कीमतों का लाभ देने का आग्रह किया है। सोनिया गांधी ने लिखा है कि इस मुश्किल के दौर में भी आपकी सरकार लगातार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा रही है और इससे करोड़ों रुपये कमा चुकी है। सोनिया गांधी ने मांग की कि तुरंत बढ़े हुए दाम को वापस लिया जाए।

यह भी पढ़ें: ये है सबसे बड़ा खतराः कोरोना के स्वस्थ मरीजों को अलर्ट जारी

सरकार का कर्तव्य है कि लोगों के दुखों को दूर करें

उन्होंने इस पत्र में लिखा है कि सरकार लॉकडाउन के बीच दाम पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोत्तरी करके तकरीबन 2.6 लाख करोड़ रुपये कमा चुकी है। कोरोना काल के दौरान लोग संकट का सामना कर रहे हैं, वहीं ऐसे वक्त में कीमत में बढ़ोत्तरी होने से उन पर और संकट पड़ रहा है। ऐसे में यह सरकार का कर्तव्य और जिम्मेदारी है कि वह दुखों को दूर करे, लोगों को अभी भी अधिक कठिनाई में न डालें।

कीमतें बढ़ाने का फैसला असंवेदनशील निर्णय

सोनिया गांधी ने कहा, कोविड-19 महामारी के खिलाफ जंग के दौरान भारत को स्वास्थ्य संबंधी, आर्थिक और सामाजिक चुनौतियों का सामना करना पड़ा है। मुझे समझ नहीं आ रहा है कि ऐसे मुश्किल समय में सरकार ने पेट्रोल और डीजल की कीमतें क्यों बढ़ा रही है। मुझे इस बात की पीड़ा है कि सरकार ने कीमतें बढ़ाने का असंवेदनशील निर्णय लिया। आज क्रूड ऑयल की कीमतों में लगातार कमी आ रही है। वहीं सरकार ने पिछले छह साल में लगातार दाम बढ़ाया ही है।



यह भी पढ़ें: फंस गया ये डिप्टी सीएमओः लगाया था घोटाले का आरोप, हो सकती है कार्रवाई

PM मोदी से किया आग्रह

सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि बढ़ोतरी को वापस लिया जाए और कच्चे तेल की कम कीमत का लाभ सीधे देश के नागरिकों को दिया जाए।

लगातार दसवें दिन हुई बढ़ोत्तरी

गौरतलब है कि मंगलवार को लगातार दसवें दिन पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोत्तरी की गई है। मंगलवार को पेट्रोल के दाम में 47 पैसे और डीजल के दाम में 93 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी हुई है। जिसके बाद दिल्ली में पेट्रोल का दाम 76.73 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल का दाम 75.19 रुपये प्रति लीटर हो चुका है।

यह भी पढ़ें: सीमा विवाद के बीच मोदी सरकार ने चीनी कंपनी को दिया बड़ा काम, उठे सवाल

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story