Top

इतना इस सीएम का वेतन: कुछ ऐसे हैं इनके ठाट-बाट, संभालते हैं इतना बड़ा राज्य

ये वो नेता है जो दो बार इतने बड़े राज्य के मुख्यमंत्री बने लेकिन उनकी छवि सत्ता के हनक से दूर एक राजनेता की बनी हुई है। जनता उन्हें अपने बीच का समझती है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 18 Jan 2020 9:14 AM GMT

इतना इस सीएम का वेतन: कुछ ऐसे हैं इनके ठाट-बाट, संभालते हैं इतना बड़ा राज्य
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दिल्ली: आम आदमी पार्टी प्रमुख और दिल्ली के लगातार दो बार मुख्यमंत्री (Delhi Chief Minister) बने अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) भले ही गैर राजनीतिक पृष्ठभूमि से हैं, लेकिन उन्हें दिल्ली की सत्ता में काबिज होते ही किसी धुरन्दर राजनेता से कम नहीं आंक सकते। एक आम नागरिक को प्रदर्शित करने वाले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की इनकम कितनी है, ये शायद ही आपको पता हो। वैसे उनका वेतन और संपत्ति जानकार आप हैरान रह जायेगें।

दो बार दिल्ली की सत्ता पर हुए काबिज:

दिल्ली में दो बार से लगातार मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल आगामी विधानसभा चुनाव 2020 फतह को लेकर एक बार फिर तैयार हैं। सीएम केजरीवाल अपनी पार्टी की ही तरह एक आम आदमी हैं, जिनकी कोई राजनीतिक पृष्टभूमि नहीं, लेकिन जब अन्ना हजारे आंदोलन से केजरीवाल जुड़े तो दिल्ली की समस्याओं को लेकर तत्कालीन सरकार के खिलाफ राजनीति में कदम रखा।

ये भी पढ़ें: कभी नहीं सोती मुंबई! सरकार ने लिया बड़ा फैसला, अब 24 घंटे होगा ये काम

आम आदमी की समस्याओं को लेकर बनाई पार्टी:

वहीं आम आदमी की समस्याओं के निपटारे के लिए जब अरविंद केजरीवाल ने पार्टी बनाने और चुनाव लड़ने का ऐलान किया तो दिल्ली ने भी उनका स्वागत करते हुए उन्हें भारी मतों से विजय बनाया। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बतौर सीएम अपने दो कार्यकालों में अरविंद केजरीवाल ने कितनी संपत्ति जुटा ली या उनका वेतन कितना है..?

वेतन जान रह जायेंगे हैरान:

आपको ये जानकार हैरानी होगी कि दिल्ली के सीएम केजरीवाल का मूल वेतन मात्र 20 हजार रु है। हालंकि इसके अलावा उन्हें 18,000 रु निर्वाचन क्षेत्र भत्ता, 4,000 व्यय भत्ता और 30,000 रुपए अन्य भत्ते मिलते हैं। इस तरह कुल मिलाकर, उन्हें प्रति माह 72 हजार रुपये मिलते हैं। यानी उनका वेतन किसी मल्टीनैशनल कंपनी में काम करने वाले व्यक्ति से ज्यादा नहीं।

सीएम अरविंद केजरीवाल के ठाट-बाट:

अरविंद केजरीवाल ने छवि एक ऐसे राजनेता की है जो सत्ता की हनक से दूर रहता है। पहली बार सीएम बनने के बाद उन्होंने बड़ा सरकारी बंगला और पुलिस सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया था। हालाँकि धीरे-धीरे वे हर उस सुविधा को लेते गए जो बतौर सीएम उन्हें मिल सकती थी। वो जेड सुरक्षा के घेरे में चलते हैं। उनका काफिला काफी बड़ा होता है। हालाँकि कभी कभी स्कूटर पर दिल्ली दर्शन और पैदल मलिन बस्तियों के हाल चाल लेने भी निकल पड़ते हैं।

ये भी पढ़ें: ‘मिशन कश्मीर’: मोदी सरकार ने बनाया ऐसा प्लान, 36 मंत्री मिलकर करेंगे पूरा

दिल्ली में विधानसभा चुनाव:

गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीख का ऐलान हो गया है। 8 फरवरी को मतदान होने हैं और 11 फरवरी को मतगणना के बाद चुनाव परिणाम आने हैं। आम आदमी पार्टी ने अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा भी कर दी है, वहीं चुनाव को लेकर कमर भी कंस ली है। केजरीवाल ने दिल्ली में Even-Odd, दिल्ली सरकारी स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था, स्वच्छ पानी और मलिन बस्तियों को लेकर काम किया है।

ये भी पढ़ें: दिग्गज नेता की पत्नी मालामाल: लेकिन साहब के पास नहीं है एक भी कार

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story