मायावती ने दिल्ली हिंसा पर केंद्र सरकार से की ऐसी मांग, थर-थर कांप उठेंगे दंगाई

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने दिल्ली में भड़की हिंसा को दुखद करार देते हुए केंद्र सरकार से उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। उन्होंने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि दिल्ली के कुछ इलाकों में पिछले कुछ दिनों से हो रही हिंसा, उपद्रव व आगजनी की घटनाएं अति दुखद व निंदनीय है।

नई दिल्ली: बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने दिल्ली में भड़की हिंसा को दुखद करार देते हुए केंद्र सरकार से उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। उन्होंने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि दिल्ली के कुछ इलाकों में पिछले कुछ दिनों से हो रही हिंसा, उपद्रव व आगजनी की घटनाएं अति दुखद व निंदनीय है।

केंद्र व दिल्ली की सरकार इन घटनाओं को पूरी गंभीरता से ले और इसकी उच्च स्तरीय जांच करवाए और सभी लापरवाह व दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

ये भी पढ़ें…दिल्ली हिंसा पर कांग्रेस के दिग्गजों ने की बैठक: नदारद रहे राहुल गांधी, ये है वजह

बताते चले कि नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन करने वाले और विरोध करने वालों ने दिल्ली में पिछले दो दिनों में जमकर बवाल काटा और प्रदर्शन को हिंसक मोड़ दे दिया।

नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के कई इलाकों में बीते दिनों हुई हिंसा में ने अब तक 20 लोगों की जान ले ली है। इसके अलावा, करीब 250 से अधिक लोग घायल हैं, जिनमें करीब 56 से अधिक पुलिस के जवान हैं।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर नॉर्थ ईस्ट दिल्ली यानी उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर और चांदबाग में रविवार, सोमवार और मंगलवार को लगातार हिंसा हुई, जिसकी वजह से प्रशासन ने धारा 144 लगा दिया है और पुलिस की भारी तैनाती की है।

इन इलाकों में जारी है तनाव

उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, ब्रह्मपुरी, बाबरपुर, कर्दमपुरी, सुदामापुरी, घोंडा चौक, करावल नगर, मुस्तफाबाद, चांदबाग, नूरे इलाही, भजनपुरा और गोकलपुरी इलाके हिंसाग्रस्त हैं और बीते तीन दिनों से यहां तनाव जारी है। मंगलवार सुबह भी दोनों पक्ष के लोग सड़क पर आए और जमकर बवाल काटाय़ कर्दमपुरी और सुदामापुरी इलाके में दिनभर रुक-रुककर पथराव और फायरिंग होती रही।

दिल्ली हिंसा की आग में जल रहा बच्चों का भविष्य: 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षा टली

मौजपुर में फायरिंग

मौजपुर स्टेशन के पास दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए और जमकर पथराव किया। इसके बाद फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़कर उन्हें शांत कराया।

आगजनी, लूटपाट

करावल नगर में मुख्य सड़क पर दुकानों और मकानों में आग लगा दी गई। उनमें लूटपाट भी की गई। नूरे इलाही में भी फायरिंग हुई। गोकलपुरी में एक धार्मिक स्थल पर आग लगा दी। घरों में तोड़फोड़ की गई। पथराव के साथ फायरिंग हुई। घोंडा चौक पर मिनी बस, बाइक समेत अन्य वाहनों में आग लगा दी गई।

चारों तरफ आगजनी

राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी इलाके में तनाव के दूसरे दिन हिंसा चांदबाग और भजनपुरा सहित कई क्षेत्रों में फैल गई। इस दौरान पथराव किया गया, दुकानों को आग लगायी गयी।

दंगाइयों ने गोकलपुरी में दो दमकल वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। भीड़ भड़काऊ नारे लगा रही थी और मौजपुर और अन्य स्थानों पर अपने रास्ते में आने वाले फल की गाड़ियों, रिक्शा और अन्य चीजों को आग लगा दी।

दिल्ली हिंसा: उपद्रवियों ने सारी हदें की पार, हर तरफ बिछा दी लाशें