फडणवीस का बड़ा दावा: महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए शरद पवार ने की थी ये पेशकश

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने एनसीपी के नेता शरद पवार को लेकर बड़ा दावा किया है। फडणवीस का कहना है कि…

अंशुमान तिवारी

मुंबई: महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने एनसीपी के नेता शरद पवार को लेकर बड़ा दावा किया है। फडणवीस का कहना है कि पिछले विधानसभा चुनावों के बाद शरद पवार ने भाजपा के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाने की पेशकश की थी। उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाविकास अघाड़ी की सरकार के मतभेद सामने आने लगे हैं और अब यह सरकार ज्यादा दिनों तक चलने वाली नहीं है। महाराष्ट्र में उद्धव कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार चला रहे हैं और गठबंधन में खींचतान की खबरें प्राय: सामने आती रहती हैं।

ये भी पढ़ें: फेमस कोरियोग्राफर सरोज खान अस्पताल में भर्ती, कोरोना रिपोर्ट में ये बात आई सामने

पवार ने भेजा था सरकार बनाने का प्रस्ताव

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री ने पुणे एवं पिंपरी के दौरे के दौरान मीडिया से बातचीत में शरद पवार के नेतृत्व वाली एनसीपी को लेकर बड़ा दावा दिया। उन्होंने कहा कि जब एनसीपी को इस बात का एहसास हो गया कि भाजपा की शिवसेना के साथ मिलकर सरकार नहीं बन पाएगी तो एनसीपी की ओर से भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने का प्रस्ताव भेजा गया था। यह प्रस्ताव सिर्फ अजीत पवार की ओर से नहीं बल्कि एनसीपी के मुखिया शरद पवार की ओर से आया था। एनसीपी नेता अजीत पवार ने फडणवीस के साथ डिप्टी सीएम पद की शपथ ली थी मगर बाद में उन्होंने इस्तीफा दे दिया था।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी के प्रति देश के लोगों का भरोसा बरकरार, चीन के साथ विवाद के बाद सर्वे में खुलासा

बाद में पवार ने अचानक बदला रुख

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि एनसीपी की ओर से प्रस्ताव आने के बाद दो बैठकें भी हुई थीं। एक बैठक में वो खुद भी शामिल हुए थे मगर दूसरी में नहीं। उन्होंने कहा कि बाद में एनसीपी प्रमुख पवार ने अचानक अपनी भूमिका बदल ली। दो-तीन दिन तक कोई बात न होने के बाद अजीत पवार की ओर से कहा गया कि उन्हें तीन दलों कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की सरकार मंजूर नहीं है और भाजपा और एनसीपी मिलकर राज्य को स्थिर सरकार दे सकते हैं।

ये भी पढ़ें: चाय-पकौड़े के साथ लें झमाझम बारिश का मजा, जानें अगले 24 घंटे के मौसम का मिजाज

टिकाऊ सरकार के लिए मिलाया था हाथ

फडणवीस ने कहा कि यदि सुप्रीम कोर्ट का फैसला उनके खिलाफ न आया होता तो वे अजीत पवार के साथ मिलकर टिकाऊ सरकार देने में कामयाब होते। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र को टिकाऊ सरकार देने के लिए ही उन्होंने अजीत पवार से हाथ मिलाया था। महाराष्ट्र में पिछले विधानसभा चुनाव के बाद करीब 38 दिनों तक राजनीतिक उठापटक चली थी। इसके बाद पिछले साल 28 नवंबर को शिवसेना ने राकपा और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने में कामयाबी हासिल की थी और उद्धव ठाकरे को राज्य का मुख्यमंत्री बनाया गया था। इससे पहले एनसीपी नेता अजीत पवार ने देवेंद्र फडणवीस के साथ मिलकर सरकार बनाई थी मगर दो दिनों में ही फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

ये भी पढ़ें: सावधान! कुंडली में चंद्रमा का ऐसा स्थान करेगा सर्वनाश, इस मंत्र से होगा निदान

दो साल पहले भी की थी पेशकश

फडणवीस ने यह भी दावा किया कि दो साल पहले भी एनसीपी ने भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने की इच्छा जताई थी। इस पर चर्चा भी हुई थी मगर भाजपा हाईकमान ने शिवसेनाा का साथ छोड़ने को हरी झंडी नहीं दिखाई थी। भाजपा के शीर्ष नेतृत्व का कहना था कि एनसीपी को साथ लिया जा सकता है मगर भाजपा शिवसेना को नहीं छोड़ सकती। फडणवीस के इस दावे पर अभी तक एनसीपी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं जताई गई है।

ये भी पढ़ें: करोड़ों का राशन घोटाला: दो आरोपी गिरफ्तार, आपूर्ति विभाग में मचा हड़कंप

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App