कांग्रेस के पूर्व सीएम ने की नमो एप पर प्रतिबंध की मांग, लगाया ये बड़ा आरोप

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने 59 चीनी एप्स पर बैन लगाने के केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत किया है मगर इसके साथ ही उन्होंने एक बड़ी मांग भी कर डाली है।

अंशुमान तिवारी

मुंबई: वरिष्ठ कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने 59 चीनी एप्स पर बैन लगाने के केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत किया है मगर इसके साथ ही उन्होंने एक बड़ी मांग भी कर डाली है। उन्होंने नमो एप पर भी पाबंदी लगाने की मांग करते हुए कहा कि यह देश के लोगों की निजता का उल्लंघन कर रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि पीएम मोदी का आधिकारिक मोबाइल फोन एप्लीकेशन नमो एप चोरी-छिपे निजता की सेटिंग को बदल देता है और फिर लोगों से जुड़ा डाटा अमेरिका में थर्ड पार्टी कंपनियों को भेज दिया जाता है।

निजता का उल्लंघन कर रहा नमो एप

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में 59 चीनी एप्स के खिलाफ केंद्र सरकार के बैन के फैसले का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के इस कदम का स्वागत किया जाना चाहिए क्योंकि चीनी एप्स पर पाबंदी लगाकर मोदी सरकार 130 करोड़ भारतीयों की निजता की रक्षा कर रही है। लेकिन इसके साथ ही नमो एप पर भी बैन लगाया जाना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि यह एप भी भारतीयों की निजता का उल्लंघन करने में जुटा है और लोगों से जुड़ा डाटा अमेरिका में थर्ड पार्टी कंपनियों को पहुंचाया जा रहा है। चौहान के ट्वीट का अभी तक भाजपा की ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया है। लेकिन माना जा रहा है कि इसे लेकर सियासत गरमा सकती है क्योंकि चव्हाण ने अपने ट्वीट के जरिए बड़ा आरोप लगाया है।

यह भी पढ़ें…बारिश और आकाशीय बिजली का कहर, 11 की मौत, कई इलाके हुए पानी-पानी

चीनी एप्स पर सरकार की बड़ी कार्रवाई

केंद्र सरकार ने सोमवार को भारत में काफी लोकप्रिय टिकटॉक और यूसी ब्राउजर समय 59 चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था। सरकार का कहना है कि चीनी एप्स देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए खतरा है। माना जा रहा है कि लद्दाख में चीन के साथ तनाव बढ़ने के बाद सरकार की ओर से यह कड़ी कार्रवाई की गई है। सीमा पर चीन के साथ विवाद के बाद देश में चीनी कंपनियों और एप्स के खिलाफ गुस्से का माहौल है और मामा जा रहा है कि सरकार की ओर से इसी कारण प्रतिबंध की कार्रवाई की गई है। सरकार ने गूगल प्ले स्टोर से भी 48 घंटे में चीनी एप्स को हटाने के लिए कहा है।

यह भी पढ़ें…केजरीवाल सरकार का बड़ा एलान, दिल्ली वासियों के लिए राहत, अब मिलेगा ये फायदा

टिकटॉक ने दिया स्पष्टीकरण

उधर टिकटॉक के इंडिया प्रमुख निखिल गांधी का कहना है कि कंपनी भारतीय कानूनों के तहत निजता और सुरक्षा जरूरतों का पूरा ख्याल रखती है। उनका कहना है कि कंपनी की ओर से किसी भी भारतीय के बारे में कोई भी सूचना चीन की सरकार अथवा किसी अन्य देश के साथ साझा नहीं की गई है। उनका यह भी कहना है कि हम उपयोगकर्ताओं की निजता को पूरा महत्व देते हैं। उनका कहना है कि एप को बंद करने के संबंध में सरकार की ओर से अंतरिम आदेश जारी किया गया है और हम सरकारी आदेश का पूरी तरह पालन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें…अब इस कांग्रेसी नेता की गिरफ्तारी पर विवाद, पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने बताया गैरकानूनी

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।