Top

कमल हासन ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा- नोटबंदी से भी बड़ी भूल है...

कोरोना वायरस से निपटन के लिए लिए भारत ने 3 हफ्तों का लॉकडाउन लागू किया गया है। सरकार के इस फैसले पर कई लोगों ने असहमति जताई है। अब साउथ के सुपरस्टार एक्टर और राजनेता कमल हासन ने सवाल खड़े किए हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 6 April 2020 7:39 PM GMT

कमल हासन ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा- नोटबंदी से भी बड़ी भूल है...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से निपटन के लिए लिए भारत ने 3 हफ्तों का लॉकडाउन लागू किया गया है। सरकार के इस फैसले पर कई लोगों ने असहमति जताई है। अब साउथ के सुपरस्टार एक्टर और राजनेता कमल हासन ने सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर अपनी बात कही है।

कमल हासन ने अपने लिखे पत्र में कहा है कि वे प्रधानमंत्री द्वारा देशभर में लॉकडाउन के निर्णय से असंतुष्ट हैं और उन्हें ऐसा लगता है कि लॉकडाउन मोदी सरकार द्वारा की गई नोटबंदी से भी बड़ी भूल है।

यह भी पढ़ें...कोरोना पॉजिटिव पाया गया बिजनेसमैन, प्रशासन में मचा हड़कंप, ये है बड़ी वजह

उन्होंने कहा है कि मैंने 23 मार्च को लिखे गए अपने पत्र में ये विनती की थी कि ऐसी स्थिति उत्पन्न ना की जाए जिसकी वजह से देशभर के गरीबों को दिक्कतों का सामना करना पड़े।मगर उसके अगले दिन लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई। ठीक वैसे ही जैसे नोटबंदी का एलान किया गया था, लेकिन इसके बावजूद हमने आप पर अपना भरोसा जताया। पर मैं गलत था और आप भी गलत थे। समय ने आपको गलत साबित किया।

'1.4 बिलियन लोग आपकी आज्ञा का पालन करते हैं'

कमल हासन ने कहा कि आप देश के नेता हैं और 1.4 बिलियन लोग आपकी आज्ञा का पालन करते हैं। आज दुनियाभर में कोई भी दूसरा नेता ऐसा नहीं है जिसकी इतनी मास फॉलोइंग हो। उन्होंने कहा कि सारा देश आप पर भरोसा करता है। हम सब आपके निर्देशों पर चलने के लिए तैयार हैं। मैं भी एक नेता हूं और एक नेता होने की वजह से लॉकडाउन को लेकर मेरे कुछ सवाल हैं।



यह भी पढ़ें...भारत में ‘कोरोना का नया गढ़’: होगा पूरा सील, हर घर के बाहर पुलिसकर्मी तैनात

उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का डर है कि जिस तरह नोटबंदी के बाद से देश को नुकासन झेलना पड़ा ऐसा ही लॉकडाउन के साथ भी होता दिख रहा है। गरीबों के रोजगार खतरे में हैं और उनकी देखरेख करने वाला आपके अलावा और कोई नहीं है। जहां एक तरफ आपके कहने पर लोग तेल से दीया जला रहे हैं वहीं कई गरीब देश में ऐसे भी हैं जिनके पास खाना पकाने के लिए तेल नहीं है।

यह भी पढ़ें...भारतीय मूल के वकील ने चीन पर लगाया बड़ा आरोप, की ये मांग

कमल हासन ने आगे अपने पत्र में लिखा है कि मिडिल क्लास के लोग इसलिए सुरक्षित हैं, क्योंकि उन्होंने अपने पक्के मकान बना लिए हैं। मगर कई गरीब ऐसे हैं जो कच्चे मकानों में रहते हैं। देश की जीडीपी को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। भारत की सबसे बड़ी ताकत उसकी जनसंख्या है। मझे आशा है कि हम इन बुरे हालातों से एकजुट होकर निपट लेंगे जैसा कि हम पहले भी करते आए हैं। हम गुस्सा हैं मगर फिर भी आपके साथ खड़े हैं। जय हिंद।

गौरतलब है कि कमल हासन MNM (Makkal Needhi Maiam) पार्टी के प्रेसिडेंट हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story