Top

3 दिन पहले सिंधिया से मल्लिकार्जुन खड़गे ने की थी बात, दी थी ये बड़ी सलाह

मध्य प्रदेश के ग्वालियर राजघराने के महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी में शामिल हो गए हैं। सिंधिया का स्वागत बीजेपी ने राज्यसभा के टिकट देकर किया है और उन्हें मध्यप्रदेश से अपना उम्मीदवार बनाया है। सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर कई नेताओं ने प्रतिक्रिया दी है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 11 March 2020 4:05 PM GMT

3 दिन पहले सिंधिया से मल्लिकार्जुन खड़गे ने की थी बात, दी थी ये बड़ी सलाह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के ग्वालियर राजघराने के महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी में शामिल हो गए हैं। सिंधिया का स्वागत बीजेपी ने राज्यसभा के टिकट देकर किया है और उन्हें मध्यप्रदेश से अपना उम्मीदवार बनाया है। सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर कई नेताओं ने प्रतिक्रिया दी है।

अब लोकसभा में विपक्ष के नेता रहे और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी सिंधिया के पार्टी छोड़ने को लेकर प्रतिक्रिया दी है। खड़गे ने कहा कि उनकी तीन दिन पहले ही सिंधिया से बात हुई थी।

कांग्रेस नेता ने कहा कि उन्होंने सिंधिया से कहा कि चार बार सांसद रहे, पार्टी में विभिन्न पदों पर रहे। व्यक्तिगत लाभ और हानि सबके जीवन में चलता रहता है। पार्टी छोड़ना ठीक नहीं। उन्होंने कहा कि 3 दिन पहले ही सिंधिया से कहा था कि पार्टी छोड़ने की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें...सिंधिया को बीजेपी ज्वाइन करने पर मिला ये बड़ा इनाम, शिवराज ने दी बधाई

खड़गे ने अपने बयान में कहा है कि सिंधिया युवा हैं और अच्छे वक्ता हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी का निर्माण एक विचारधारा के आधार पर हुआ है और सभी इस विचारधारा में यकीन करते हैं। हमें पार्टी को मजबूत बनाना चाहिए। मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि सिंधिया ने किसी की नहीं सुनी और अपने हितों को आगे रखते हुए पार्टी छोड़ दी।

यह भी पढ़ें...सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर बोले राहुल, वह इकलौते ऐसे थे जो कभी भी मेरे घर आ सकते थे

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़ने पर बयान दिया है। राहुल गांधी ने कहा कि ज्योतिरादित्य ही केवल ऐसे थे जो कभी भी मेरे घर आ सकते थे। वे मेरे साथ कॉलेज में भी रहे हैं। कहा जा रहा है कि सिंधिया ने पार्टी छोड़ने से पहले सोनिया गांधी और राहुल गांधी से संपर्क करने की कोशिश की थी लेकिन उन्हें इसके लिए समय नहीं दिया गया। इसी सवाल पर राहुल ने यह जवाब दिया है।

यह भी पढ़ें...लोकसभा में दिल्ली हिंसा पर बोले शाह, संपत्ति जलाने वालों की संपत्ति करेंगे जब्त

होली के दिन कांग्रेस छोड़ने की जानकारी ट्विटर पर देने वाले सिंधिया बुधवार को बीजेपी में शामिल हो गए। सिंधिया ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में पार्टी मुख्यालय पर सदस्यता ग्रहण की।

बता दें कि मध्य प्रदेश के सिंधिया समर्थक माने जाने वाले 22 विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है, जिससे कमलनाथ सरकार पर संकट गहरा गया है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story