शिवसेना की उम्मीदों पर फिरा पानी, कांग्रेस-NCP ने दिया जोर का झटका

सूत्रों का कहना है कि सीएम बनाने पर अड़ी शिवसेना का एनसीपी और कांग्रेस के साथ सरकार बनाना लगभग तय माना जा रहा है। इसका एलान जल्द हो सकता है।

मुंबई: महाराष्ट्र में चुनाव नतीजों को आए करीब 23 दिन हो गए हैं, लेकिन अभी तक राज्य में मुख्यमंत्री नहीं बन सका है। जानकारी के अनुसार रविवार को होने वाली सोनिया और पवार की बैठक भी निरस्त हो चुकी है।

दरअसल, शिवसेना चाहती थी कि बाला साहब की पुण्यतिथि यानि 17 नवंबर को हमारी सरकार बने ताकि हम उसका जश्न धूमधाम से मना सके और ठाकरे साहब को सच्ची श्रद्वांजलि आर्पित कर सके। लेकिन सोनिया और पवार की बैठक रद्द होने के चलते अभी शिवसेना की इस उम्मीद पर पानी फिरता नजर आ रहा है।

ये भी पढ़ें— शिवसेना कल तक पक्ष में दे रही थी साथ, अब संसद में विपक्ष से करेगी वार

लेकिन सूत्रों का कहना है कि सीएम बनाने पर अड़ी शिवसेना का एनसीपी और कांग्रेस के साथ सरकार बनाना लगभग तय माना जा रहा है। इसका एलान जल्द हो सकता है।

मंत्री अनिल विज ने महाराष्ट्र की राजनीति पर दिया बड़ा बयान

वहीं हरियाणा सरकार में एक बार फिर से कैबिनेट मंत्री बनने के बाद अनिल विज ने महाराष्ट्र की राजनीति पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने के मोह में राजनीतिक पार्टियां निर्वस्त्र हो रहे हैं। कांग्रेस और शिवसेना ने हमेशा से ही एक दूसरे के खिलाफ राजनीति की है। राम मंदिर को लेकर शिवसेना और कांग्रेस की हमेशा अलग रणनीति रही है। जिन दलों की विचारधारा नही मिलती उनका गठबंधन 4 दिन की चांदनी फिर अंधेरी रात की ही तरह है।

ये भी पढ़ें—देश के मेडिकल कॉलेजों पर लटकी इमरजेंसी की तलवार, इस साल तक मिला अल्टीमेटम

जानकारी के अनुसार तीनों पार्टी के शीर्ष नेताओं का कहना है कि शिवसेना सावरकर, गोडसे, बांग्लादेशी घुसपैठियों और मुस्लिम आरक्षण पर रुख नरम करेगी और इन मुद्दों पर आक्रामक होने से बचेगी। किसानों की कर्जमाफी, मुंबई व अन्य शहरों में आधारभूत विकास, 10 रुपये में थाली, एक रुपये में मरीजों की जांच जैसे जनहित के मुद्दों पर तीनों दल मिलकर काम करेंगे। साथ ही विवादास्पद मुद्दों को छोड़कर एक-दूसरे के प्रमुख चुनावी वादों को पूरा करने में मदद करेंगे।

शरद पवार ने बुलाई कोर कमेटी की बैठक

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा- शरद पवार ने रविवार शाम चार बजे पुणे में पार्टी की कोर कमेटी की बैठक बुलाई है। राज्यपाल के साथ कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात टली। ये बैठक आज शाम साढ़े चार बजे होनी थी।

ये भी पढ़ें—  लाहौर हाई कोर्ट से मिली इजाजत विदेश जाएंगे नवाज, इमरान खान ने दिया यह बयान

किसानों को मुआवजे का एलान

इस बीच राज्यपाल ने बेमौसम बारिश से नुकसान झेलने वाले किसानों के लिए मुआवजे का एलान किया है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने खरीफ फसल के लिए प्रति एकड़ 8 हजार रुपये और बागवानी व बहुवर्षीय फसलों के लिए 18 हजार रुपये प्रति एकड़ मुआवजे का एलान किया है।

शिवसेना नेता संजय राउत ने एक बार फिर दोहराया, महाराष्ट्र में शिवसेना का ही सीएम होगा।

सोनिया-पवार की बैठक भी टली

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार के बीच रविवार को होने वाली बैठक सोमवार तक के लिए टल गई है।