मध्यप्रदेश में सिंधिया खेमे को लेकर फंसा पेंच, शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार टला

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और भाजपा के अन्य नेताओं की भोपाल वापसी का कार्यक्रम भी टल गया है। जानकार सूत्रों का कहना है कि सिंधिया खेमे के विधायकों को मंत्री बनाने पर मुख्य रूप से पेंच फंसा हुआ है। इस मामले के निपटारे के बाद बुधवार को मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है।

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली।मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल विस्तार में पेंच फंस गया है। इस कारण मंगलवार को होने वाले मंत्रिमंडल विस्तार को टाल दिया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और भाजपा के अन्य नेताओं की भोपाल वापसी का कार्यक्रम भी टल गया है। जानकार सूत्रों का कहना है कि सिंधिया खेमे के विधायकों को मंत्री बनाने पर मुख्य रूप से पेंच फंसा हुआ है। इस मामले के निपटारे के बाद बुधवार को मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है।

नए मंत्रियों को शपथ दिलाने के लिए मध्य प्रदेश का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहीं यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का सोमवार को भोपाल आने का कार्यक्रम भी टाल दिया गया है। अब मंत्रियों की सूची पूरी तरह तैयार होने के बाद राज्यपाल का कार्यक्रम तय होगा।

अमेरिका में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 25 लाख के पार, 1 लाख 26 हजार की हुई मौत

सिंधिया समर्थकों पर अभी तक फैसला नहीं

जानकार सूत्रों का कहना है कि हाईकमान की ओर से मंत्रिमंडल विस्तार को तो हरी झंडी दे दी गई है मगर मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले चेहरों को लेकर पेंच फंसा हुआ है। वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ बगावत कर भाजपा में शामिल होने वाले 22 विधायकों के मामले को लेकर पेंच फंसा हुआ है। अभी तक इस बात पर अंतिम फैसला नहीं किया जा सका है कि सिंधिया के समर्थक विधायकों में से कितनों को मंत्रिमंडल में जगह दी जाए।

चीन को एक और बड़ी आर्थिक चोट देने की तैयारी, मोदी सरकार ने शुरू कर दिया मंथन

सिंधिया ने दिए हैं आठ और नाम

सिंधिया के दो समर्थक विधायकों को शिवराज कैबिनेट में पहले ही जगह दी जा चुकी है। अब सिंधिया की ओर से और आठ और विधायकों का नाम मंत्री बनाने के लिए दिया गया है। कमलनाथ सरकार में सिंधिया खेमे के 22 में से 6 विधायक मंत्री थे। अब सिंधिया ज्यादा विधायकों को मंत्री बनवाना चाहते हैं। सिंधिया के इतने ज्यादा समर्थकों को मंत्री बनाने पर भाजपा को अपने कई नेताओं के नाम काटने होंगे और हाईकमान को इस कदम से पार्टी में असंतोष पैदा होने का खतरा महसूस हो रहा है।

खौफ में दहशतगर्द: सेना का ऑपरेशन ऑलआउट में बना काल, फिर मारे गए दो आतंकी

असंतोष से डर रहा हाईकमान

मध्यप्रदेश में जल्द ही विधानसभा के कई सीटों पर उपचुनाव में और ऐसे में पार्टी में कोई भी असंतोष भाजपा के लिए महंगा साबित हो सकता है। ऐसे में पार्टी नेतृत्व मंत्रिमंडल विस्तार के मुद्दे पर फूंक -फूंक कर कदम रख रहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिल्ली में मंत्रिमंडल विस्तार के मुद्दे पर गृह मंत्री अमित शाह, पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा, ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ गहन मंथन किया है। उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भी मुलाकात हो चुकी है मगर अभी तक नए मंत्रियों के चेहरों को अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है। इसी कारण मंत्रिमंडल विस्तार को टाल दिया गया है।

दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं राज्य के नेता

पार्टी हाईकमान की ओर से राज्य के वरिष्ठ मंत्री और भाजपा सरकार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले नरोत्तम मिश्रा को अचानक दिल्ली तलब किया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और नरोत्तम मिश्रा के अलावा पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा और संगठन महासचिव सुहास भगत भी दिल्ली में ही डेरा डाले हुए हैं। इन सभी नेताओं के साथ गहन मंथन का दौर चल रहा है।

सिंधिया भी जल्द बनेंगे मंत्री

सियासी जानकारों का कहना है कि कमलनाथ की सरकार गिराने में प्रमुख भूमिका निभाने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी जल्द ही मोदी कैबिनेट में शामिल करने का आश्वासन दिया गया है। पार्टी हाईकमान की ओर से राज्यसभा के नए सांसदों को शपथ दिलाए जाने के बाद मंत्रिमंडल विस्तार की बात कही गई है। जानकारों के मुताबिक सिंधिया रेल मंत्रालय के इच्छुक हैं। हालांकि अभी मंत्रालय के संबंध में पार्टी की ओर से कोई वादा नहीं किया गया है।

भारत में 59 चीनी एप्स बैन, अब आपके पास हैं ये ऑप्शंस, जानिए इनके बारे में

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App